बाघों के हमले से दुनिया के सबसे बड़े रिंग मास्टर की रिंग में मौत

bebar
बाघों के हमले से दुनिया के सबसे बड़े रिंग मास्टर की रिंग में मौत

नई दिल्ली। इटली के सबसे बड़े सर्कस सिरको ओरफी में दुनिया के सबसे बड़े रिंग मास्टर एटोर वेबर की एक शो की तैयारी के दौरान चार बाघों ने मिलकर हत्या कर दी। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, रिंग के अंदर चार बाघ थे। 61 साल के एटोर वेबर अपने अगले शो की तैयारी कर रहे थे। तभी एक बाघ ने उन्हें नीचे गिरा दिया। इसके बाद तीन अन्य बाघों ने भी उन पर हमला कर दिया और उनकी मौत हो गई।

Famous Ring Master Ettore Weber Mauled To Death By Four Tigers In Ring :

एटोर की शरीर के साथ खेलते रहे

जानकारी अनुसार 61 वर्षीय वेबर की मौत के बाद भी इन चारों बाघों ने उन्हें नहीं छोड़ा और वे उनके शरीर के साथ लगभग आधे घंटे तक खेलते रहे। यह खौफनाक मंजर रिंग के बाहर मौजूद डाक्टरों के सामने हुआ, लेकिन वे वेबर को बचा नहीं सके। हालांकि, वेबर के सहयोगी ने उन्हें बचाने की कोशिश की, लेकिन वे इसमें सफल न हो सके। इटालियन पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है।

डाक्टरों का कहना है कि इस हमले में वेबर गंभीर रूप से चोटिल हो गए। उन्हें रीढ़ की हड्डी में ज्यादा चोट आई थी। इससे उनकी मौत हो गई। मौत के बाद अब यह स्पष्ट नहीं है कि इन बाघों का क्या होगा। हालांकि, इन बाघों को ब्रिंडसी के जू सफारी में भेज दिया गया है।

नई दिल्ली। इटली के सबसे बड़े सर्कस सिरको ओरफी में दुनिया के सबसे बड़े रिंग मास्टर एटोर वेबर की एक शो की तैयारी के दौरान चार बाघों ने मिलकर हत्या कर दी। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, रिंग के अंदर चार बाघ थे। 61 साल के एटोर वेबर अपने अगले शो की तैयारी कर रहे थे। तभी एक बाघ ने उन्हें नीचे गिरा दिया। इसके बाद तीन अन्य बाघों ने भी उन पर हमला कर दिया और उनकी मौत हो गई। एटोर की शरीर के साथ खेलते रहे जानकारी अनुसार 61 वर्षीय वेबर की मौत के बाद भी इन चारों बाघों ने उन्हें नहीं छोड़ा और वे उनके शरीर के साथ लगभग आधे घंटे तक खेलते रहे। यह खौफनाक मंजर रिंग के बाहर मौजूद डाक्टरों के सामने हुआ, लेकिन वे वेबर को बचा नहीं सके। हालांकि, वेबर के सहयोगी ने उन्हें बचाने की कोशिश की, लेकिन वे इसमें सफल न हो सके। इटालियन पुलिस ने इस मामले की जांच शुरू कर दी है। डाक्टरों का कहना है कि इस हमले में वेबर गंभीर रूप से चोटिल हो गए। उन्हें रीढ़ की हड्डी में ज्यादा चोट आई थी। इससे उनकी मौत हो गई। मौत के बाद अब यह स्पष्ट नहीं है कि इन बाघों का क्या होगा। हालांकि, इन बाघों को ब्रिंडसी के जू सफारी में भेज दिया गया है।