1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. किसान नेता Naresh Tikait का भरी सभा में ऐलान, 10 फरवरी को मैं कर लूंगा आत्महत्या, जानें ऐसा क्या हुआ?

किसान नेता Naresh Tikait का भरी सभा में ऐलान, 10 फरवरी को मैं कर लूंगा आत्महत्या, जानें ऐसा क्या हुआ?

किसान नेता नरेश टिकैत (Farmer leader Naresh Tikait) ने गुरुवार को भरी सभा में आत्महत्या करने का ऐलान कर सबको सकते में डाल दिय है। उन्होंने ये ऐलान मुजफ्फरनगर में एक हफ्ते से चल रहे प्रदर्शन के बीच किया है। बजाज शुगर मिल (Bajaj Sugar Mill) के गेट पर किसानों का एक हफ्ते से गन्ने का भुगतान नहीं मिलने के विरोध में प्रदर्शन चल रहा है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

मुजफ्फरनगर। किसान नेता नरेश टिकैत (Farmer leader Naresh Tikait) ने गुरुवार को भरी सभा में आत्महत्या करने का ऐलान कर सबको सकते में डाल दिय है। उन्होंने ये ऐलान मुजफ्फरनगर में एक हफ्ते से चल रहे प्रदर्शन के बीच किया है। बजाज शुगर मिल (Bajaj Sugar Mill) के गेट पर किसानों का एक हफ्ते से गन्ने का भुगतान नहीं मिलने के विरोध में प्रदर्शन चल रहा है। भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisan Union) के बैनर तले किसान लगातर 300 करोड़ रुपये का भुगतान नहीं मिलने का मुद्दा लगातार उठा रहे हैं। इसी प्रदर्शन में किसान नेता नरेश टिकैत (Farmer leader Naresh Tikait)  ने संबोधित करते हुए कहा कि अगर 10 फरवरी तक किसानों का भुगतान नहीं हुआ तो वो मिल के गेट पर आत्महत्या कर लेंगे।

पढ़ें :- बेसिक शिक्षा विभाग ने निपुण भारत मिशन प्रचार-प्रसार के लिये जारी किये  आवश्यक निर्देश 

बुढ़ाना तहसील क्षेत्र में स्थित 12 जनवरी से मिल बजाज शुगर मिल (Bajaj Sugar Mill) के गेट पर भारतीय किसान यूनियन (Bhartiya Kisan Union) के नेतृत्व में किसान धरने पर बैठे हैं। किसानों का कहना है कि मिल पर किसानों का 300 रुपये का गन्ना भुगतान बकाया है। किसानों ने आरोप लगाया कि कई बार मामला उठने के बाद भी मिल ने उनका भुगतान नहीं किया है। किसानों के आगे पैसों का संकट खड़ा हो गया है। वो खाना-पानी के मोहताज होते जा रहे हैं। इसके बाद भी मिल की तरफ से भुगतान नहीं किया जा रहा है। भुगतान न मिलने पर आक्रोशित नरेश टिकैत ने यहां 10 फरवरी को आत्महत्या करने का ऐलान कर दिया।

बाद में पलटे नरेश टिकैत

नरेश टिकैत (Naresh Tikait) के ऐलान के बाद मीडिया ने उनसे बात कि तो उन्होंने कुछ और ही कह दिया। उन्होंने कहा कि 10 फरवरी तक किसानों का भुगतान हो जाएगा। 90 करोड़ का भुगतान करने की जिम्मेदारों ने बात कही है। आगे कहा, ऐसे ही मर जाने से वो पीछा नहीं छुड़ा पाएंगे।

पढ़ें :- उप्र माध्यमिक संस्कृत शिक्षा परिषद की पूर्व मध्यमा से उत्तर मध्यमा स्तर तक की परीक्षाओं का कैलेण्डर जारी
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...