1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. किसान नेताओं ने कमेटी के सभी सदस्यों को बताया ​सरकार समर्थक, कहा-इन पर भरोसा नहीं

किसान नेताओं ने कमेटी के सभी सदस्यों को बताया ​सरकार समर्थक, कहा-इन पर भरोसा नहीं

Farmer Leaders Told All Members Of The Committee To Be Pro Government Said The Movement Will Continue

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का आंदोलन जारी है। आज सुप्रीम कोर्ट में इसको लेकर सुनवाई हुई। सुप्रीम कोर्ट ने एक कमेटी का गठन किया है। वहीं, संयुक्त किसान मोर्चा ने सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित कमेटी के सदस्यों को सरकार समर्थक बताया है। उनका कहना है कि, सरकार इस आंदोलन को ठंडे बस्ते में डालने की तैयारी कर रही है।

पढ़ें :- शिवसेना से जान का खतरा केस मुंबई से शिमला ट्रांसफर किया जाए, सुप्रीम कोर्ट में लगाई Kangana ने गुहार

किसान संगठनों ने कहा कि कमेटी के सदस्य भरोसेमंद नहीं हैं, क्योंकि उन्होंने लेख लिखे हैं कि कृषि कानून किस तरह से किसानों के हित में हैं। कमेटी का गठन केंद्र सरकार की शरारत है। किसान नेताओं ने ऐलान किया कि वे अपना आंदोलन खत्म नहीं करेंगे और इसे जारी रखेंगे।

किसान नेताओं ने कहा, ”कमेटी में शामिल लोगों के जरिए सरकार यह चाहती है कि कानून रद्द ना हो। वहीं, 26 जनवरी का कार्यक्रम अपने तय समय के अनुसार होगा। वह शांतिपूर्ण होगा और उसके बाद भी आंदोलन जारी रहेगा” उन्होंने कहा कि 26 जनवरी को लेकर भ्रम फैलाया जा रहा है कि हम लाल किला फतह करने जा रहे है। हम लाल किला नहीं जा रहे हैं। इसकी रूपरेखा 15 जनवरी को रखेंगे।

 

पढ़ें :- UPSC उम्मीदवारों को सुप्रीम कोर्ट से झटका, सिविल सेवा परीक्षा में नहीं मिलेगा अतिरिक्त मौका

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...