1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. किसान आंदोलनः कृषि कानूनों पर सरकार के प्रस्ताव को किसानों ने किया खारिज, राष्ट्रपति से मिले विपक्षी दल

किसान आंदोलनः कृषि कानूनों पर सरकार के प्रस्ताव को किसानों ने किया खारिज, राष्ट्रपति से मिले विपक्षी दल

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों के आंदोलन का आज 13वां दिन है। सरकार की तरफ से दिए गए संशोधन के प्रस्ताव को किसान संगठनों ने खारिज कर दिया है। वहीं, इसके बाद किसान नेताओं की बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए हैं। वहंीं, सरकार के प्रस्ताव को खारिज करने के बाद किसान आंदोलन को और तेज करने की योजना बना रहे हैं।

पढ़ें :- Corona new variant: ओमिक्रॉन वैरिएंट पर वैक्सीन कितना है प्रभावी, जानिए स्वास्थ्य मंत्रालय ने क्या कहा?

इसके साथ ही इस बार किसान दिल्ली-उत्तर प्रदेश हाइवे और राजस्थान के हाइवे को ठप करने की तैयारी कर रहे हैं। इसके अलावा दिल्ली में नाकेबंदी की जाने की खबरें हैं। सरकार ने किसानों के सामने 9 सूत्रीय प्रस्ताव रखा था। यह ड्राफ्ट 13 संगठन नेताओं को भेजा गया था। वहीं, इस बीच विपक्षी दल राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से मिलने के लिए पहुंचे हैं।

किसान नेताओं की प्रेस कॉन्फ्रेंस की प्रमुख बातें…
. जियो के सभी प्रोडक्ट का बहिष्कार करेंगे
. 14 दिसंबर को पूरे देश में धरना-प्रदर्शन करेंगे।
. पूरे देश में जारी रहेगा आंदोलन।
. 14 दिसंबर के बाद से अनिश्चितकालीन प्रदर्शन जारी रहेगा, जब तक तीनों कानून वापस नहीं लिए जाते।
. बीजेपी के मंत्रियों का घेराव होगा।
. एक के बाद एक दिल्ली की सड़कें जाम की जाएंगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...