1. हिन्दी समाचार
  2. गाय खोज रहे किसान की बर्बर पिटाई, हुई मौत!, एएसआई सहित 6 पुलिसकर्मी निलंबित

गाय खोज रहे किसान की बर्बर पिटाई, हुई मौत!, एएसआई सहित 6 पुलिसकर्मी निलंबित

Farmer Searching For Cow Brutally Beaten Killed 6 Policemen Including Asi Suspended

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

भोपाल: प्रदेश के जबलपुर ‎जिले में अपनी गाय खोज रहे किसान की पुलिस द्वारा की गई बर्बर पिटाई से मौत हो गई। मामले की जानकारी म‎मिलने पर एएसआई सहित 6 पुलिसकर्मी को निलंबित कर दिया गया है। जानकारी के अनुसार, ‎जिले के गोराबाजार पुलिस की बर्बर पिटाई का शिकार हुए किसान बंशीलाल कुशवाहा (52) निवासी तिलहरी की सोमवार को सिटी हॉस्पिटल नागरथ चौक में मौत हो गई। दोपहर 2.30 बजे मृतक के स्वजन कुछ लोगों सहित गोराबाजार थाने पहुंचे और किसान से मारपीट करने वाले पुलिसकर्मियों के विरुद्ध नामजद हत्या का मामला दर्ज कर कार्रवाई करने और मुआवजा देने की मांग करने लगे। एसपी ने मामले में गोराबाजार थाने के एक एसएसआई सहित 6 पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया, वहीं सीएसपी कैंट अखिल वर्मा को घटना की जांच सौंपी गई है।

पढ़ें :- नेपाल के पीएम केपी शर्मा ओली को कम्युनिस्ट पार्टी से किया गया बाहर

मृतक के भाई विष्णु कुशवाहा ने बताया कि वो तिलहरी में शासकीय स्कूल के पास रहते हैं। उनका खेत भी घर के पीछे से लगा हुआ है। गुरुवार रात करीब 8.30 बजे बड़े भाई बंशीलाल शाम से लापता गाय को खोजने घर से निकले थे। वो खेत के आस-पास घूमते हुए गाय को खोजते रहे और करीब एक घंटे बाद लौटकर घर आ रहे थे। उन्हें खेत से निकलते ही एक जीप व सफेद रंग के दुपहिया वाहन से आए 7-8 पुलिसकर्मियों ने रोक लिया। बड़े भाई ने खेत से आने का कारण गाय खोजना बताया। फिर पुलिस ने भैया से पूछा कि जुआ कहां चल रहा है? जिसकी जानकारी नहीं होने से वह जवाब नहीं दे पाए। तब पुलिसकर्मियों ने उन्हें डंडों से पीटना शुरू कर दिया। उनकी चींखें सुनकर पास के घरों से लोग बाहर निकल आए, लेकिन पुलिसकर्मियों का किसी ने विरोध नहीं किया।

इससे पुलिसकर्मी खुलेआम भैया को पीटते रहे और तब तक मारा जब तक वे बेहोश नहीं हो गए। विष्णु के मुताबिक घायल बंशीलाल को मौके से उठाकर घर ले गए और रात में वहीं रखा। दूसरे दिन सुबह से उन्हें हाथ-पैर, पुठ्ठों और कमर के नीचे आई चोटों से बहुत दर्द होने के साथ ही खून निकलना शुरू हो गया। लॉकडाउन होने से वो घर से निकला और दवाइयां ले आया। बड़े भाई को दर्द निवारक दवाओं से कुछ आराम लगा, लेकिन शनिवार को सुबह से दर्द से परेशान रहे। दोपहर तीन बजे बंशीलाल जमीन पर गिरे और खून की उल्टियां करने लगे। तब वो पड़ोसी के मालवाहक ऑटो में उन्हें लेकर सीधे सिटी अस्पताल पहुंचे। लेकिन रविवार-सोमवार की रात करीब 3.30 बजे उनकी मौत हो गई।

मृतक के परिवार में पत्नी पूनम (45) और बेटे गनेश (16) व साहिल (14) हैं। एसपी के निर्देश पर गोराबाजार थाना में पदस्थ एएसआई आलोक सिंह, प्रधान आरक्षक मुकेश कटारिया और आरक्षक राकेश सिंह, गुड्डू सिंह, आशुतोष, ब्रजेश सिंह को निलंबित कर दिया गया है। इस बारे में एएसपी जबलपुर डॉ. संजीव सिंह का कहना है ‎कि तिलहरी के किसान बंशीलाल के हाथ-पैर, पुठ्ठे पर चोटों के निशान मौजूद हैं। उसकी मौत के बाद पुलिस पर मारपीट का आरोप लगाकर हत्या का मामला दर्ज करने की मांग की गई है। एसपी के निर्देश पर मामले में प्रथम दृष्टया दोषी 6 पुलिसकर्मी निलंबित किए गए हैं।

पढ़ें :- उत्तर प्रदेश स्थापना दिवसः पीएम मोदी, रक्षामंत्री राजनाथ से लेकर कई नेताओं ने दी बधाई

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...