1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. Farooq Abdullah बोले- कश्‍मीरी पंडितों की वापसी के लिए अभी ठीक नहीं है घाटी का माहौल

Farooq Abdullah बोले- कश्‍मीरी पंडितों की वापसी के लिए अभी ठीक नहीं है घाटी का माहौल

जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir ) के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah ) ने शनिवार को केंद्र सरकार पर धर्म के आधार पर देश को विभाजित करने का आरोप लगाया। फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि न केवल हिंदू, बल्कि मुस्लिम भी आतंकवादियों द्वारा मारे गए हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

नई दिल्ली। जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir ) के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस (National Conference) के नेता फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah ) ने शनिवार को केंद्र सरकार पर धर्म के आधार पर देश को विभाजित करने का आरोप लगाया। फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah )  ने कहा कि न केवल हिंदू, बल्कि मुस्लिम भी आतंकवादियों द्वारा मारे गए हैं।

पढ़ें :- Jammu and Kashmir: आतंकवादी संगठन हिज्बुल मुजाहिद्दन के दो सहयोगी गिरफ्तार, हथियार बरामद

फारूक अब्‍दुल्‍ला (Farooq Abdullah ) ने कहा कि घाटी का माहौल कश्‍मीरी पंडितों की वापसी के लिए अनुकूल नहीं है। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) अनुच्‍छेद 370 (Article 370) को निरस्‍त करने के बाद केंद्र शासित प्रदेश के अपने पहले दौरे पर पहुंचे हैं। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) पर निशाना साधते हुए फारूक अब्‍दुल्‍ला (Farooq Abdullah ) ने कहा कि आप कश्‍मीर में तब तक शांति स्‍थापित नहीं कर पाएंगे जब तक 370 को बहाल नहीं कर देते हैं। यहां केवल हिंदू ही नहीं बल्कि मुस्लिमों को भी आतंकियों ने निशाना बनाया है।

‘मुझसे मिलना चाहते थे अमित शाह, मैंने बना कर दिया’

फारूक अब्‍दुल्‍ला (Farooq Abdullah ) ने कहा कि घाटी में हाल की घटना उन लोगों की आंखें खोलने वाली हैं। जो कहते हैं कि अनुच्‍छेद 370 निरस्‍त होने के बाद आतंकवाद का सफाया हो गया है। जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री ने घाटी में पथराव के लिए 900 से अधिक लोगों को हिरासत में लेने का भी विरोध किया है। क्या केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Union Home Minister Amit Shah) के घाटी के तीन दिवसीय दौरे के दौरान आपके साथ भी अमित शाह (Amit Shah) की मुलाकात होने की संभावना है? इस सवाल के जवाब में फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah )  ने कहा कि हां, सरकार ने मुझसे संपर्क किया था। वह मुझसे मिलना चाहते थे। मैंने मना कर दिया। राजौरी और पुंछ जाने की मेरी पहले से योजना थी।

पढ़ें :- कुलगाम में सुरक्षाबलों ने मुठभेड़ में एक आतंकी को किया ढ़ेर, सर्च आपरेशन तेज
इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...