जम्मू-कश्मीर उपचुनाव : श्रीनगर सीट पर फारुख अब्दुल्ला जीते

श्रीनगर। जम्मू कश्मीर की श्रीनगर लोकसभा सीट पर नेशनल कांफ्रेस (एनसी) अब्दुल्ला ने एकबार फिर कब्जा जमा लिया है। 12,61,862 मतदाताओं वाली श्रीनगर लोकसभा सीट के लिए मात्र 7ण्1 फीसदी मतदाताओं ने मतदान किया था। जिसमें फारुख अब्दुल्ला 54 फीसदी यानी कुल 89,883 मतों में से 48,554 मत हासिल कर अपने प्रतिद्वन्दी जेके पीपुल्स डेमेक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) के उम्मीदवार नजिर अहमद खान को 10,775 मतों के अंतर से हरा दिया।




फारुख अब्दुल्ला को 2014 के लोकसभा चुनावों में इस सीट से हार का सामना करना पड़ा था। पीडीपी के उम्मीदवार तारिक कर्रा ने उन्हें मात दी थी। कर्रा के कांग्रेस में शामिल होने और इस्तीफा देने के बाद श्रीनगर सीट खाली हुई थी। जिसके लिए 9 अप्रैल को उपचुनाव करवाया गया था। जम्मू कश्मीर में एनसी और कांग्रेस गठबंधन ने पीडीपी और बीजेपी गठबंधन के खिलाफ चुनाव लड़ा है।




श्रीनगर उपचुनावों के नतीजों को कश्मीर की जनता में पीडीपी के खिलाफ जन्में गुस्से के रूप में देखा जा रहा है। ऐसा माना जा रहा है कि कश्मीर के अलगाववादी संगठन पीडीपी के खिलाफ लामबंद हो गए हैं। कश्मीर की जनता पीडीपी के बीजेपी और आरएसएस समर्थक रवैये से गुस्से में है।

आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर की विधानसभा में सत्तारूढ़ पीडीपी और बीजेपी के गठबंधन वाली सरकार के खिलाफ कश्मीर के अलगाववादी संगठनों ने उपचुनावों का बहिष्कार किया था। चुनाव के दौरान श्रीनगर के केवल 1 फीसदी मतदाता ही मतदान केन्द्रो तक पहुंचे थे। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक करीब 18 पोलिंग केन्द्रों पर किसी भी मतदाता ने मतदान ही नहीं किया था। वहीं इस चुनाव में बड़े स्तर पर हिंसा भी हुई थी, जिसमें करीब छह कश्मीरी नागरिकों की मौत हो गई थी। ​कश्मीर में हुई चुनावी हिंसा के चलते अनंतनाग सीट के लिए होने वाले उपचुनाव को निर्वाचन आयोग ने ​स्थगित कर दिया था।