1. हिन्दी समाचार
  2. दिल्ली
  3. फारूक अब्दुल्ला का BJP पर बड़ा अटैक, बोले- पूरे देश में फैलाई जा रही नफरत का नतीजा भुगत रहा है जम्मू कश्मीर

फारूक अब्दुल्ला का BJP पर बड़ा अटैक, बोले- पूरे देश में फैलाई जा रही नफरत का नतीजा भुगत रहा है जम्मू कश्मीर

राजौरी (Rajouri) के डांगरी गांव (Dangri Village) में आतंकी हमले और विस्फोट में कई लोगों की मौत हो गई है। इसको लेकर घाटी में केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। पहले डांगरी गांव (Dangri Village)  में रविवार आतंकियों ने 4 नागरिकों की हत्या कर दी थी और इस घटना के 24 घंटे के भीतर वहां एक विस्फोट भी हुआ है, जिसमें एक बच्चे की मौत हो गई है जबकि 7 घायल हुए हैं।

By संतोष सिंह 
Updated Date

जम्मू कश्मीर। राजौरी (Rajouri) के डांगरी गांव (Dangri Village) में आतंकी हमले और विस्फोट में कई लोगों की मौत हो गई है। इसको लेकर घाटी में केंद्र सरकार के खिलाफ प्रदर्शन हो रहे हैं। पहले डांगरी गांव (Dangri Village)  में रविवार आतंकियों ने 4 नागरिकों की हत्या कर दी थी और इस घटना के 24 घंटे के भीतर वहां एक विस्फोट भी हुआ है, जिसमें एक बच्चे की मौत हो गई है जबकि 7 घायल हुए हैं।

पढ़ें :- Stock Market Crash : निवेशकों के डूबे 12 लाख करोड़ रुपये, बजट से पहले शेयर बाजार धराशायी

जम्मू कश्मीर (Jammu & Kashmir)  में अब एक बार फिर से हिंदुओं की सुरक्षा के मुद्दे पर राजनीति शुरू हो गई है। जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री और नेशनल कांफ्रेंस के प्रमुख फारूक अब्दुल्ला (NC President Dr. Farooq Abdullah) ने सीधा-सीधा भाजपा पर ही सवाल खड़े कर दिए हैं। फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah)  ने साफ तौर पर कहा है कि आतंकवाद अभी भी रियासत में है। जो देश में नफरत फैलाई जा रही है, यह उसी का नतीजा है। आम परिवारों को निशाना बनाया जा रहा है। अपने बयान में फारूक अब्दुल्ला ने कहा कि ये बहुत दुख की बात है कि आतंकवाद अभी भी इस रियासत में चल रहा है। उन्होंने कहा कि बेगुनाहों को मारा जा रहा है। पूरे देश में जिस तरह की नफरत फैलाई जा रही है, ये उसी का नतीजा है।

पढ़ें :- मुलायम को पद्म विभूषण देने पर भड़कीं पूर्णिमा कोठारी, बोली-तो क्या मोदी सरकार कारसेवकों को घोषित करेगी आतंकी ?

फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) ने आगे अपने बयान में कहा कि आज मुसलमान को अलग और हिंदुओं को अलग खड़ा किया जा रहा है। कौन जिम्मेदार है? कौन नफरत फैला रहा है? इस पर गृह मंत्रालय में रास्ता निकालने कि जरूरत है। आपको बता दें कि जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) के राजौरी जिले के एक गांव में रविवार की शाम संदिग्ध आतंकवादियों ने एक समुदाय विशेष के लोगों के तीन मकानों पर गोलीबारी की। अधिकारियों ने बताया कि घटना में कम से कम तीन लोग मारे गए हैं, जबकि कई घायल हो गए हैं। वहीं, राजौरी जिले के डांगरी गांव में संदिग्ध आतंकवादी हमले के पीड़ितों में से एक के घर के पास सोमवार को हुए एक आईईडी विस्फोट में एक बच्चे की मौत हो गई जबकि चार अन्य घायल हो गए।

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir)  के डांगरी गांव (Dangri Village)  में हुए आतंकी हमले में शामिल लोगों को बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने इस घटना में मारे गए नागरिकों के परिजनों को 10 लाख रुपये की अनुग्रह राशि और सरकारी नौकरी देने की घोषणा की। वहीं, राज्य की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (PDP Chief Mehbooba Mufti) ने कहा कि इस कायरतापूर्ण कृत्य की निंदा करते हैं और उनके परिवारों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हैं। उन्होंने आगे कहा कि बीजेपी के शासन में होने और उग्रवाद को खत्म करने के उसके झूठे दावों के बावजूद, हिंसा बेरोकटोक जारी है। अगर जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) की अपनी निर्वाचित सरकार होती, तो वही मीडिया उन्हें अंगारों पर खींचता।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...