फर्रूखाबाद को प्रदूषण से मुक्त करने हेतु शहर की 104 टेक्सटाइल्स इकाइयां होंगी पार्क में शिफ्ट: डा0 नवनीत सहगल

navneet-sehgal-ias
फर्रूखाबाद को प्रदूषण से मुक्त करने हेतु शहर की 104 टेक्सटाइल्स इकाइयां होंगी पार्क में शिफ्ट: डा0 नवनीत सहगल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के प्रमुख सचिव, डा0 नवनीत सहगल ने कहा है कि कपड़ा उद्योग को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से जनपद फर्रूखाबाद में टेक्सटाइल्स पार्क स्थापित किया जायेगा। इसके लिए 14 हेक्टेयर भूमि की व्यवस्था की गई है। इस पार्क के विकास में लगभग 200 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्तावित है।

Farrukhabad Pradushan Se Mukt Ias Navneet Sehgal :

डा0 सहगल आज लोक भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष में टेक्सटाइल्स पार्क की स्थापना के संबंध में बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस पार्क की स्थापना से राज्य में टेक्सटाइल्स उद्योग को बढ़ावा मिलेगा, वहीं रोजगार के व्यापक अवसर भी सृजित होंगे। बैठक के दौरान उन्होंने राज्य औद्योगिक विकास निगम के अधिकारियों से अधिगृहीत भूमि को टेक्सटाइल्स पार्क के पक्ष में जल्द से जल्द हस्तांतरित करने की अपेक्षा की है। साथ ही भूमि हस्तांतरण में आ रही कठिनाई के समयबद्ध निस्तारण के निर्देश भी दिए।

प्रमुख सचिव ने कहा कि पार्क के विकास एवं देख-भाल की जिम्मेदारी स्पेशल पर्पज व्हीकल (एस0पी0वी0) के तहत सुनिश्चित की जायेगी। उन्होंने कहा कि फर्रूखाद में टेक्सटाइल्स की 104 इकाइयां उत्पादनरत हैं, इनमें से 80 इकाइयां टेक्सटाइल्स पार्क में शिफ्ट होने की स्थिति में है। शेष इकाइयों के हस्तानांतरण की कार्यवाही तीव्र गति से जारी है।

डा0 सहगल ने कहा कि फरूर्खाबाद शहर में बढ़ते प्रदूषण को दृष्टिगत रखते हुए केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने उत्पादनरत टेक्सटाइल्स इकाइयों को शहर से बाहर ले जाने के निर्देश दिए थे। इसी को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार के टेक्सटाइल्स मंत्रालय द्वारा फर्रूखाबाद में टेक्सटाइल्स पार्क की स्थापना की स्वीकृति प्रदान की गई। अब इस पार्क को केन्द्र सरकार के सहयोग से राज्य सराकर द्वारा विकसित करने की कार्यवाही की जा रही है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम विभाग के प्रमुख सचिव, डा0 नवनीत सहगल ने कहा है कि कपड़ा उद्योग को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से जनपद फर्रूखाबाद में टेक्सटाइल्स पार्क स्थापित किया जायेगा। इसके लिए 14 हेक्टेयर भूमि की व्यवस्था की गई है। इस पार्क के विकास में लगभग 200 करोड़ रुपये का निवेश प्रस्तावित है। डा0 सहगल आज लोक भवन स्थित अपने कार्यालय कक्ष में टेक्सटाइल्स पार्क की स्थापना के संबंध में बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस पार्क की स्थापना से राज्य में टेक्सटाइल्स उद्योग को बढ़ावा मिलेगा, वहीं रोजगार के व्यापक अवसर भी सृजित होंगे। बैठक के दौरान उन्होंने राज्य औद्योगिक विकास निगम के अधिकारियों से अधिगृहीत भूमि को टेक्सटाइल्स पार्क के पक्ष में जल्द से जल्द हस्तांतरित करने की अपेक्षा की है। साथ ही भूमि हस्तांतरण में आ रही कठिनाई के समयबद्ध निस्तारण के निर्देश भी दिए। प्रमुख सचिव ने कहा कि पार्क के विकास एवं देख-भाल की जिम्मेदारी स्पेशल पर्पज व्हीकल (एस0पी0वी0) के तहत सुनिश्चित की जायेगी। उन्होंने कहा कि फर्रूखाद में टेक्सटाइल्स की 104 इकाइयां उत्पादनरत हैं, इनमें से 80 इकाइयां टेक्सटाइल्स पार्क में शिफ्ट होने की स्थिति में है। शेष इकाइयों के हस्तानांतरण की कार्यवाही तीव्र गति से जारी है। डा0 सहगल ने कहा कि फरूर्खाबाद शहर में बढ़ते प्रदूषण को दृष्टिगत रखते हुए केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने उत्पादनरत टेक्सटाइल्स इकाइयों को शहर से बाहर ले जाने के निर्देश दिए थे। इसी को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार के टेक्सटाइल्स मंत्रालय द्वारा फर्रूखाबाद में टेक्सटाइल्स पार्क की स्थापना की स्वीकृति प्रदान की गई। अब इस पार्क को केन्द्र सरकार के सहयोग से राज्य सराकर द्वारा विकसित करने की कार्यवाही की जा रही है।