1. हिन्दी समाचार
  2. खबरें
  3. बृहस्पतिवार के दिन रखती है व्रत, होगी मन की हर कामना पूरी… ऐसे करें उपाय

बृहस्पतिवार के दिन रखती है व्रत, होगी मन की हर कामना पूरी… ऐसे करें उपाय

By आराधना शर्मा 
Updated Date

लखनऊ: गुरुवार के दिन भगवान श्रीहरि विष्णुजी की पूजा की जाती है। कई जगह देवगुरु बृहस्पति व केले के पेड़ की पूजा करने की भी मान्यता है।

बृहस्पति बुद्धि के कारक माने जाते हैं, हिन्दुओं की धार्मिक मान्यताओं के अनुसार केले का पेड़ पवित्र माना जाता है

गुरुवार व्रत पूजा विधि

  • यह व्रत अनुराधा नक्षत्रयुक्त गुरुवार से आरंभ कर लगातार 7 गुरुवार उपवास रखना चाहिए।
  • व्रती को प्रात: उठकर भगवान विष्णु का ध्यान कर व्रत संकल्प लेना चाहिए।
  • अगर बृहस्पतिदेव की पूजा करनी हो तो उनका ध्यान करना चाहिए और फल, फूल पीले वस्त्रादि से बृहस्पतिदेव और विष्णुजी की पूजा करनी चाहिए।

  • बृहस्पतिवार की कथा शाम के समय सुननी चाहिए और कथा के बाद बिना नमक का भोजन ग्रहण करना चाहिए।
  • इस व्रत की मान्यता है कि विधिपूर्वक उपवास रखने व गुरुवार व्रतकथा सुनने या पढ़ने से गुरु ग्रह से संबंधित दोष दूर हो जाता है और अपने से बड़े लोगों की कृपा बनी रहती है।
  • इस दिन कपड़े धोना या फिर बाल या दाढ़ी बनवाना वर्जित माना जाता है।
  • प्रत्येक उपवास के दिन श्रीहरि की पूजा के पश्चात गुरुवार व्रत कथा सुननी चाहिए।
  • इस दिन पीले वस्त्र धारण करने चाहिए।
  • पीले फलों का पूजा में इस्तेमाल करना चाहिए।
  • केले का प्रसाद बहुत शुभ माना जाता है।
  • केले दान करना भी शुभ रहता है।
  • इस दिन सिर्फ एक बार बिना नमक का पीले रंग का भोजन ग्रहण करना चाहिए, चने की दाल का प्रयोग भी उत्तम माना जाता है।
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...