पाकिस्तान को एक और बड़ा झटका : टेरर फंडिंग रोकने में फेल होने पर FATF ने किया ब्लैक लिस्ट

imran khan
पाकिस्तान को एक और बड़ा झटका : टेरर फंडिंग रोकने में फेल होने पर FATF ने किया ब्लैक लिस्ट

नई दिल्ली। आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को एक और बड़ा झटका लगा है। अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के वित्तपोषण की निगरानी करने वाली संस्था ‘फाइनैंशन ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) ने उसे डाउनग्रेड कर ब्लैक लिस्ट कर दिया है। FATF ने यह कार्रवाई आतंकवादियों को आर्थिक सहायता रोकने में नाकाम होने पर की है।

Fatf Blacklisted Pakistan For Failing To Stop Terror Funding :

आस्‍ट्रेलिया की राजधानी कैनबरा में आयोजित बैठक में यह फैसला लिया गया। इससे पहले FATF ने पाकिस्‍तान को ग्रे लिस्‍ट में डाला था। भारतीय अधिकारियों ने बताया कि FATF ने एशिया प्रशांत ग्रुप ने वैश्विक मानदंडों को पूरा नहीं करने के लिए पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट किया है। FATF ने जांच में पाया कि मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकियों के वित्तपोषण से जुड़े 40 मानदंड़ों में से 32 को पाकिस्तान ने पूरा नहीं किया था।

इसको देखते ही उसको ब्लैकलिस्ट किया गया है। FATF की इस कार्रवाई के बाद पाकिस्तान की मुश्किलें और बढ़नी तय हो गयी है। इस कार्रवाई के बाद दुनिया में पाकिस्तान को कर्ज लेना और मुश्किल हो गया। बता दें कि, FATF एक अंतर्राज्यीय निकाय है, जो धन शोधन तथा आतंकवादी वित्तीयन का सामना करने के लिए मानक निर्धरित करता है।

इसकी स्थापना 1989 में हुई थी। इसकी बैठक में समीक्षा की जाती है कि संबंधित देश मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवादी गतिविधियों के लिए धन उपलब्ध कराने से रोकने में कितनी प्रगति कर रहा है। ये संस्था पेरिस से संचालित होती है।

नई दिल्ली। आर्थिक संकट से जूझ रहे पाकिस्तान को एक और बड़ा झटका लगा है। अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद के वित्तपोषण की निगरानी करने वाली संस्था 'फाइनैंशन ऐक्शन टास्क फोर्स (FATF) ने उसे डाउनग्रेड कर ब्लैक लिस्ट कर दिया है। FATF ने यह कार्रवाई आतंकवादियों को आर्थिक सहायता रोकने में नाकाम होने पर की है। आस्‍ट्रेलिया की राजधानी कैनबरा में आयोजित बैठक में यह फैसला लिया गया। इससे पहले FATF ने पाकिस्‍तान को ग्रे लिस्‍ट में डाला था। भारतीय अधिकारियों ने बताया कि FATF ने एशिया प्रशांत ग्रुप ने वैश्विक मानदंडों को पूरा नहीं करने के लिए पाकिस्तान को ब्लैक लिस्ट किया है। FATF ने जांच में पाया कि मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकियों के वित्तपोषण से जुड़े 40 मानदंड़ों में से 32 को पाकिस्तान ने पूरा नहीं किया था। इसको देखते ही उसको ब्लैकलिस्ट किया गया है। FATF की इस कार्रवाई के बाद पाकिस्तान की मुश्किलें और बढ़नी तय हो गयी है। इस कार्रवाई के बाद दुनिया में पाकिस्तान को कर्ज लेना और मुश्किल हो गया। बता दें कि, FATF एक अंतर्राज्यीय निकाय है, जो धन शोधन तथा आतंकवादी वित्तीयन का सामना करने के लिए मानक निर्धरित करता है। इसकी स्थापना 1989 में हुई थी। इसकी बैठक में समीक्षा की जाती है कि संबंधित देश मनी लॉन्ड्रिंग और आतंकवादी गतिविधियों के लिए धन उपलब्ध कराने से रोकने में कितनी प्रगति कर रहा है। ये संस्था पेरिस से संचालित होती है।