पढ़ाई में पिता की दखल अंदाजी से परेशान छात्रा पहुंची पुलिस के पास, दर्ज कराई एफआईआर

e

चेन्नई। तमिलनाडु के चेन्नई में एक अजीब मामला सामने आया है। यहां एक लड़की ने अपने पिता के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। बेटी का कहना है कि हाल ही में उसने इंटर पास किया है। वह पत्रकारिता या कानून की पढ़ाई करना चाहती है जबकि पिता उसके ऊपर बीएससी करके टीचर बनने का दबाव बना रहे हैं।

Father Forced For Bsc Daughter Lodges Complaint Against Him :

17 वर्षीय लड़की इय्यापंतंगल में अपने माता-पिता के साथ रहती है। उसने बताया कि वह बचपन से ही पत्रकारिता या कानून की पढ़ाई करके पत्रकार या वकील बनना चाहती है। जबकि उसके पिता का कहना है कि वह बीएसपी केमिस्ट्री से करे और टीचर बने। उसके पिता से इस बात को लेकर उसका झगड़ा हुआ।

बेटी का आरोप है कि उसके पिता ने उसकी मार्कशीट रख ली ताकि वह कॉलेज में प्रवेश के लिए आवेदन न कर सके। लड़की ने दसवीं में अपने स्कूल में टॉप किया था लेकिन बारहवीं में उसे सिर्फ 65 फीसदी नंबर मिले। उसका आरोप है कि 12वीं में उसके नंबर इसलिए कम आए क्योंकि उसके पिता उसके ऊपर लगातार दूसरे सब्जेट चुनकर टीचर बनने का दबाव बनाते थे।

छात्रा ने मदद के लिए मंगलवार को चाइल्ड लाइन नंबर 1098 में फोन किया। चाइल्ड लाइन ने स्थानीय पुलिस को सूचना दी जिसके बाद पुलिस लड़की के घर पहुंची। छात्रा ने पुलिस को बताया कि उसके पिता का उसकी मां के साथ भी व्यवहार अच्छा नहीं है।

उसने कहा मेरे पापा हमेशा मेरी पढ़ाई और मेरे करियर को लेकर हस्तक्षेप करते रहे हैं। उन्होंने रिजल्ट आने के बाद मुझसे कहा कि अब मैं साइंस से आगे की पढ़ाई करो क्योंकि साइंस सब्जेक्टस से आगे कई नौकरियां मिलती हैं। लेकिन मैं राजी नहीं थी।

चेन्नई। तमिलनाडु के चेन्नई में एक अजीब मामला सामने आया है। यहां एक लड़की ने अपने पिता के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई है। बेटी का कहना है कि हाल ही में उसने इंटर पास किया है। वह पत्रकारिता या कानून की पढ़ाई करना चाहती है जबकि पिता उसके ऊपर बीएससी करके टीचर बनने का दबाव बना रहे हैं। 17 वर्षीय लड़की इय्यापंतंगल में अपने माता-पिता के साथ रहती है। उसने बताया कि वह बचपन से ही पत्रकारिता या कानून की पढ़ाई करके पत्रकार या वकील बनना चाहती है। जबकि उसके पिता का कहना है कि वह बीएसपी केमिस्ट्री से करे और टीचर बने। उसके पिता से इस बात को लेकर उसका झगड़ा हुआ। बेटी का आरोप है कि उसके पिता ने उसकी मार्कशीट रख ली ताकि वह कॉलेज में प्रवेश के लिए आवेदन न कर सके। लड़की ने दसवीं में अपने स्कूल में टॉप किया था लेकिन बारहवीं में उसे सिर्फ 65 फीसदी नंबर मिले। उसका आरोप है कि 12वीं में उसके नंबर इसलिए कम आए क्योंकि उसके पिता उसके ऊपर लगातार दूसरे सब्जेट चुनकर टीचर बनने का दबाव बनाते थे। छात्रा ने मदद के लिए मंगलवार को चाइल्ड लाइन नंबर 1098 में फोन किया। चाइल्ड लाइन ने स्थानीय पुलिस को सूचना दी जिसके बाद पुलिस लड़की के घर पहुंची। छात्रा ने पुलिस को बताया कि उसके पिता का उसकी मां के साथ भी व्यवहार अच्छा नहीं है। उसने कहा मेरे पापा हमेशा मेरी पढ़ाई और मेरे करियर को लेकर हस्तक्षेप करते रहे हैं। उन्होंने रिजल्ट आने के बाद मुझसे कहा कि अब मैं साइंस से आगे की पढ़ाई करो क्योंकि साइंस सब्जेक्टस से आगे कई नौकरियां मिलती हैं। लेकिन मैं राजी नहीं थी।