1. हिन्दी समाचार
  2. राकेश पांडेय के एनकाउंटर पर पिता ने उठाए सवाल, बाेले-घर से ले जाकर मार दिया

राकेश पांडेय के एनकाउंटर पर पिता ने उठाए सवाल, बाेले-घर से ले जाकर मार दिया

Father Raised Question On Rakesh Pandeys Encounter Taken Away From Home And Killed

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

मऊ: भाजपा विधायक कृष्णानंद राय हत्याकांड में आरोपी इनामी बदमाश राकेश पांडेय उर्फ हनुमान को रविवार सुबह लखनऊ में यूपी पुलिस ने एक एनकाउंटर में मार गिराया। उस पर एक लाख रुपये का इनाम था। राकेश पांडेय मुख्तार अंसारी और मुन्ना बजरंगी का करीबी था। बताया जाता हैै कि मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद राकेश पांडेय मुख्तार अंसारी गैंग का बड़ा शूटर बन गया था।

पढ़ें :- बॉलीवुड को एक और बड़ा झटका, गीतकार अभिलाष ने दुनिया को कहा अलविदा

आर्मी से सेवानिवृत्त बालदत्त पांडेय ने यूपी एसटीएफ पर सवाल उठाए। उन्होंनें कहा कि उनके बेटे हनुमान को पुलिस ने लखनऊ स्थित आवास से शनिवार की रात तीन बजे उठाकर ले गई और एनकाउंटर कर दिया। उनका बेटा अपनी मां का लखनऊ में इलाज करा रहा था। इसी को लेकर आता जाता रहा। एक लाख का इनाम कब घोषित हुआ। कभी मामला सामने नहीं आया। ज्यादातर केस से वह बरी हो गया था और बाहर था।

मुख्तार का शूटर राकेश पांडेय उर्फ हनुमान की तलाश में जिले की भी पुलिस तलाश में लगी थी। इसे लेकर घर पर कई बार कोपागंज थाने की पुलिस ने दबिश दी, लेकिन कोई पता नहीं चल सका था। लखनऊ में पुलिस एनकाउंटर में मारे जाने के बाद पुलिस ने राहत की सांस ली। जिले की पुलिस ने कुख्यात हनुमान की पत्नी सरोजलता पांडेय की वर्ष 2005 में अपने पति हनुमान की अपराधिक गतिविधियों को छुपाकर बंदूक का लाइसेंस बनवाने के मामले में दोषी पाते हुये लाइसेंस निरस्त कर हनुमान पांडेय पर भी केस दर्ज किया।

इसके बाद उसकी तलाश शुरू कर दी। नहीं मिलने पर जिले की पुलिस इनाम घोषित कर तलाश रही थी। लेकिन नहीं मिला। एसटीएफ के एनकाउंटर में हनुमान के मारे जाने पर पुलिस ने राहत की सांस ली। गाजीपुर में भाजपा विधायक कृष्णा नंद और मऊ में ठेकेदार मन्ना सिंह की हत्या में हनुमान पांडेय सुर्खियों में आया। इसके उपर एक दर्जन अपराधिक मुकदमें दर्ज थे। हाल में ही कृष्णानंद हत्याकांड में मुख्तार समेत हनुमान व अन्य कई बरी हो गये थे।

मन्ना हत्याकांड में भी बरी हो गया था। लेकिन मन्ना हत्याकांड के मामले में गैगस्टर के तहत केस चल रही थी। ठेकेदार का मुनीम राम सिंह मौर्य व सिपाही सतीश के हत्या का मामला मुख्तार व हनुमान के उपर एमपी व एमएलए कोर्ट में चल रहा है। हनुमान पांडेय की पत्नी सरोजलता आंगनबाड़ी कार्यकर्ता है। वह अपने घर कोपागंज थाना क्षेत्र के लिलारी भरौली में रहती हैं। एक बेटा रोशन पांडेय है। घटना की जानकारी इन्हे टीवी देखकर हुई। गांव में मातमी सन्नाटा फैल गया है। परिजनों का रोते रोते बुरा हाल है।

पढ़ें :- SSB ने 1541 पदों पर निकाली भर्ती, ऐसे कर सकतें हैं आसानी से अप्लाई

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...