महिला दारोगा और सिपाही ने गोली मारकर दी जान, जानिए क्यों

d

राजकोट। गुजरात के राजकोट में बुधवार की रात को महिला दारोगा और पुलिस कांस्टेबल ने सर्विस रिवॉल्वर से अपने आपको गोली मर कर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने आत्महत्या का कारण दोनों के बीच प्रेम संबंध बताया है।

Female Asi And Police Constable Suicide Of Service Revolver In Rajkot :

दरअसल राजकोट के नए 150 फीट रिंग रोड के पास स्थित गुजरात हाउसिंग बोर्ड के पंडित दीन दयाल आवास योजना में रहने वाली खुशबू रमेश कानाबार यूनिवर्सिटी पुलिस थाने में एएसआई के तौर पर कार्यरत थी और वहीं मवड़ी हेड कवॉटर में रहने वाले रविराजसिंह अशोकसिंह जाडेजा भी उस ही यूनिवर्सिटी पुलिस थाने में कांस्टेबल के तौर पर कार्यरत थे।

खुशबू पिछले तीन साल से एएसआई के तौर पर कार्यरत थी और रविराजसिंह पिछले आठ साल से कांस्टेबल के तौर पर कार्यरत थे। पुलिस ने बताया की खुशबू और रविराजसिंह के बीच प्रेमसंबंध थे जिसके चलते वे दोनों की पुलिस स्टेशन में भी नोक झोंक होती रहती थी। गुरूवार की सुबह जब खुशबु जब ड्यूटी पर नहीं आई तो स्टाफ ने खुशबु को फोन किया लेकिन खुशबु ने फोन रिसीव नहीं किया।

खुशबु द्वारा फोन न रिसीव किये जाने पर स्टाफ खुशबू के घर गया। स्टाफ ने कई बार खुशबु के घर का दरवाज़ा खटखटाया पर किसी ने दरवाज़ा नहीं खोला तो स्टाफ ने फिर पड़ोसी के घर में से खुशबु के घर में प्रवेश किया। घर के अंदर प्रवेश करते ही घर का नज़ारा देख लोग दंग रह गया।

घर मे खुशबु और कांस्टेबल रविराजसिंह की लाश पड़ी मिली। इस घटना के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मचा गया। पुलिस के सूत्रों के मुताबिक मंगलवार की रात को रविराजसिंह खुशबु को लेकर होटल में खाने गया था और उसके बाद रविराजसिंह खुशबु के घर पर ही रुक गया था। पुलिस ने बताया की सर्विस रिवाल्वर से दो राउंड गोली चली है अब दोनों ने अपने आप को गोली मारी है या फिर किसी एक ने हत्या कर आत्महत्या की है पुलिस इस दिशा में भी जांच करेगी।

राजकोट। गुजरात के राजकोट में बुधवार की रात को महिला दारोगा और पुलिस कांस्टेबल ने सर्विस रिवॉल्वर से अपने आपको गोली मर कर आत्महत्या कर ली थी। पुलिस ने आत्महत्या का कारण दोनों के बीच प्रेम संबंध बताया है। दरअसल राजकोट के नए 150 फीट रिंग रोड के पास स्थित गुजरात हाउसिंग बोर्ड के पंडित दीन दयाल आवास योजना में रहने वाली खुशबू रमेश कानाबार यूनिवर्सिटी पुलिस थाने में एएसआई के तौर पर कार्यरत थी और वहीं मवड़ी हेड कवॉटर में रहने वाले रविराजसिंह अशोकसिंह जाडेजा भी उस ही यूनिवर्सिटी पुलिस थाने में कांस्टेबल के तौर पर कार्यरत थे। खुशबू पिछले तीन साल से एएसआई के तौर पर कार्यरत थी और रविराजसिंह पिछले आठ साल से कांस्टेबल के तौर पर कार्यरत थे। पुलिस ने बताया की खुशबू और रविराजसिंह के बीच प्रेमसंबंध थे जिसके चलते वे दोनों की पुलिस स्टेशन में भी नोक झोंक होती रहती थी। गुरूवार की सुबह जब खुशबु जब ड्यूटी पर नहीं आई तो स्टाफ ने खुशबु को फोन किया लेकिन खुशबु ने फोन रिसीव नहीं किया। खुशबु द्वारा फोन न रिसीव किये जाने पर स्टाफ खुशबू के घर गया। स्टाफ ने कई बार खुशबु के घर का दरवाज़ा खटखटाया पर किसी ने दरवाज़ा नहीं खोला तो स्टाफ ने फिर पड़ोसी के घर में से खुशबु के घर में प्रवेश किया। घर के अंदर प्रवेश करते ही घर का नज़ारा देख लोग दंग रह गया। घर मे खुशबु और कांस्टेबल रविराजसिंह की लाश पड़ी मिली। इस घटना के बाद पुलिस विभाग में हड़कंप मचा गया। पुलिस के सूत्रों के मुताबिक मंगलवार की रात को रविराजसिंह खुशबु को लेकर होटल में खाने गया था और उसके बाद रविराजसिंह खुशबु के घर पर ही रुक गया था। पुलिस ने बताया की सर्विस रिवाल्वर से दो राउंड गोली चली है अब दोनों ने अपने आप को गोली मारी है या फिर किसी एक ने हत्या कर आत्महत्या की है पुलिस इस दिशा में भी जांच करेगी।