सांसद की महिलाओं को चेतावनी- FIFA World Cup के मेहमानों से हमबिस्तर होने से बचें

fifa word cup
सांसद की महिलाओं को चेतावनी- FIFA World Cup के मेहमानों से हमबिस्तर होने से बचें

Fifa World Cup 2018 Russian Women Should Avoid Physical Relationship With Foreign Men Says Lawmaker

रूस की एक महिला सांसद ने बुधवार को कहा कि रूसी महिलाएं फुटबॉल वर्ल्ड कप के दौरान आने वाले फुटबॉल प्रशंसकों के साथ यौन संबंध बनाने और मिश्रित-प्रजाति के बच्चों की एकल मां बनने से दूर रहें। बयान देने वाली सांसद संसद की पारिवारिक समिति की प्रमुख हैं। 70 वर्षीय कम्युनिस्ट तमारा पलेनेवा निचले सदन में परिवार, महिलाओं और बच्चों के समिति की प्रमुख हैं।

उन्होंने कहा कि ऐसी सूरत में महिलाएं अक्सर या तो विदेशों में या रूस में ही फंस जाती हैं और उन्हें उनके बच्चे वापस नहीं मिलते हैं। उन्होंने यह बात एक रेडियो स्टेशन के द्वारा तथाकथित ‘चिल्ड्रेन ऑफ द ओलंपिक्स’ कार्यक्रम के अंतर्गत पूछे गए एक सवाल के जवाब में कही।

यह कार्यक्रम 1980 में हुए मॉस्को गेम्स पर आधारित था, उस वक्त देश में व्यापक तौर पर गर्भनिरोधक उपलब्ध नहीं था। सोवियत युग के दौर में यह बात कही जाती थी कि अंतरराष्ट्रीय कार्यक्रमों में रूसी महिलाओं के अफ्रीका, लेटिन अमेरिका या एशिया के पुरुषों से शारीरिक संबंध बनाने से गर्भधारण करने वाले अश्वेत बच्चे पैदा हुए थे।

राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के लिए एक महत्वपूर्ण लक्ष्य है, पलेनेवा ने जवाब दिया, “हमें अपने बच्चों को जन्म देना चाहिए।” उन्होंने चेतावनी दी कि ऐसी संभावना है कि मिश्रित नस्ल वाले बच्चों की परवरिश अकेले माता-पिता के परिवारों में होती है।

“वे बच्चे हैं जो पीड़ित होते हैं… और सोवियत युग से पीड़ित हैं। यह अच्छा होगा अगर वे समान (मां की) नस्ल के हों, लेकिन यदि वे अन्य प्रजाति के हो गए, तो और भी बुरा होगा। साथ ही उन्होंने कहा,”मैं राष्ट्रवादी नहीं हूं।”

उन्होंने कहा कि ये खतरा बना रहता है कि इन बच्चों को “त्याग दिया जाए और बस अपनी मां के साथ छोड़ दिए जाएं।” या फिर एक अन्य परिस्थिति यह है कि उनके पिता उन्हें अपने साथ विदेश लेकर चले जाएं। जिसके बाद इन महिलाओं की “रूसी नागरिकों” से शादी करने की इच्छा हो जाए। उनकी टिप्पणियों की आलोचना हुई और लोग उनकी बातों की हंसी उड़ा रहे हैं।

फीफा के लंबे समय से चल रहे नस्लवाद विरोधी अभियान की पृष्ठभूमि में ट्विटर पर रेडियो पत्रकार तात्याना फेलगेनहाउर ने लिखा, “मुझे आश्चर्य है कि पलेनेवा क्या कहेंगी जब उन्हें ‘नस्लवाद को ना कहें’ की याद दिलाई जाएगी।”

रूस की एक महिला सांसद ने बुधवार को कहा कि रूसी महिलाएं फुटबॉल वर्ल्ड कप के दौरान आने वाले फुटबॉल प्रशंसकों के साथ यौन संबंध बनाने और मिश्रित-प्रजाति के बच्चों की एकल मां बनने से दूर रहें। बयान देने वाली सांसद संसद की पारिवारिक समिति की प्रमुख हैं। 70 वर्षीय कम्युनिस्ट तमारा पलेनेवा निचले सदन में परिवार, महिलाओं और बच्चों के समिति की प्रमुख हैं। उन्होंने कहा कि ऐसी सूरत में महिलाएं अक्सर या तो विदेशों में या रूस में…