1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. गाजीपुर बॉर्डर पर किसान और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट, तोड़फोड़, हंगामा और पथराव

गाजीपुर बॉर्डर पर किसान और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच मारपीट, तोड़फोड़, हंगामा और पथराव

नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन जारी है। बुधवार भाजपा कार्यकर्ताओं और किसानों के बीच गाजीपुर बॉर्डर पर भिडंत हो गई। बताया जा रहा है कि भाजपा कार्यकर्ता नवनियुक्त प्रदेश मंत्री अमित वाल्मीकि का स्‍वागत करने वहां पहुंचे थे लेकिन उसी दौरान बवाल शुरू हो गया। भाजपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि​ किसानों ने तोड़फोड़, पथराव और हंगामा किया।

By शिव मौर्या 
Updated Date

नई दिल्ली। नए कृषि कानूनों को लेकर किसानों का गाजीपुर बॉर्डर पर प्रदर्शन जारी है। बुधवार भाजपा कार्यकर्ताओं और किसानों के बीच गाजीपुर बॉर्डर पर भिडंत हो गई। बताया जा रहा है कि भाजपा कार्यकर्ता नवनियुक्त प्रदेश मंत्री अमित वाल्मीकि का स्‍वागत करने वहां पहुंचे थे लेकिन उसी दौरान बवाल शुरू हो गया। भाजपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि​ किसानों ने तोड़फोड़, पथराव और हंगामा किया।

पढ़ें :- Farmers' Mahapanchayat in Muzaffarnagar: बड़ी संख्या में किसानों के पहुंचने की आशंका, राकेश टिकैत बोले-संख्या बताना असंभव
Jai Ho India App Panchang

उधर किसान नेता राकेश टिकैत ने भाजपा कार्यकर्ताओं पर किसानों के मंच पर कब्‍जा करने का आरोप लगाया और कहा कि पिछले तीन दिन से यहां पुलिस के संरक्षण में गड़बड़ी फैलाने की कोशिश की जा रही थी। राकेश टिकैत ने कहा कि मंच पर किसी को कब्जा नहीं करने देंगे। उनको आना है तो बीजेपी छोड़ कर आ जायें। उन्‍होंने कहा कि बीजेपी कार्यकर्ता पिछले तीन दिन से आ रहे हैं।

पुलिस उन्हें संरक्षण दे रही है। पुलिस गुंडई छोड़ दे। बीजेपी की वर्कर न बने। बताया जा रहा है कि किसानों और भाजपा समर्थकों के बीच बवाल के बाद हालात इतने खराब हो गए कि भाजपा नेता की गाड़ी को निकालने के लिए पुलिस को काफी मशक्‍कत करनी पड़ी। गौरतलब है कि, भाजपा के नवनियुक्त प्रदेशमंत्री अमित वाल्मीकि का स्वागत करने के लिए कार्यकर्ता दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेसवे पर खड़े थे।

आराेप है कि दिल्ली से गाजियाबाद वाली लेन पर वाहनों का काफिला जब किसानों के मंच के सामने पहुंचा तो किसानों और भाजपाइयों में नोकझोंक हो गई। किसानों का आरोप है कि भाजपाइयों ने उन्हें अपशब्द कहे, जबकि  भाजपाइयों का आरोप है कि किसानों ने अभद्रता की है। भाजपाइयों का आरोप ये भी है कि किसानों ने उनके खिलाफ नारेबाजी की और कुछ गाड़ियों में ताेड़फाेड़ की। अब मामले में भाकियू की तरफ से भी पुलिस को शिकायत दी जा रही है।

 

पढ़ें :- करनाल डीएम के आदेश पर पुलिस ने किसानों का बहाया ख़ून, वायरल वीडियो ने खट्टर सरकार की खोली पोल

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...