1. हिन्दी समाचार
  2. Film Article 15: समाज के इस वर्ग को लेकर हुआ था विवाद, ये है पूरी कहानी

Film Article 15: समाज के इस वर्ग को लेकर हुआ था विवाद, ये है पूरी कहानी

Film Article 15 There Was Controversy About This Class Of Society This Is The Whole Story

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

मुंबई। बॉलीवुड एक्टर शाहिद कपूर की फिल्म ‘कबीर सिंह’ ने जबरदस्त कमाई कर तमाम रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। ऐसे में आज (28 जून) आयुष्मान खुराना की फिल्म ‘आर्टिकल 15’ ‘कबीर सिंह’ को टक्कर देने के लिए सिनेमाघरों में आ चुकी है। फिल्म ‘आर्टिकल 15’ के ट्रेलर को सोशल मीडिया पर काफी अच्छी प्रतिक्रिया मिली है। वहीं, समाज में फैली कुरीतियां, जातिगत भेदभाव और वर्ग भेद जैसी कई बुराइयों को फिल्म में दर्शाया गया है जिसे लेकर ब्राह्मण समाज ने विरोध जताया था।

पढ़ें :- ऑस्ट्रेलिया से जीत के बाद विराट कोहली ने बताया किस खिलाड़ी की वजह से मैच जीते

इस वजह से हुआ था विवाद: 

बता दें कि ये फिल्म पिछले कई दिनों से जातिगत भेदभाव को लेकर विवादों में चल रही थी। जिसकी वजह से अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता परिषद ने फिल्म को जाति के आधार पर समाज को बांटने वाली और ब्राह्मणों का अपमान करने वाली फिल्म बताते हुए आपत्ति जताई थी। अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता परिषद ने फिल्म के निर्माता निर्देशक को कानूनी नोटिस जारी कर फिल्म से आपत्तिजनक हिस्सा हटाने की मांग की थी। मगर फिल्म के डायरेक्टर अनुभव सिन्हा ने इस विवाद के चलते एक पत्र लिख कर साफ कहा है कि ‘फिल्म में ब्राह्मण समाज का कोई निरादर नहीं किया गया है, फिल्म को ट्रेलर के बेस पर ना आंका जाए बल्कि पूरी फिल्म देखने के बाद इसका निर्णय लिया जाए।’

फिल्म का रेव्यु:

फिल्म के रेव्यू की बात करें तो इस फिल्म में समाज में फैली कुरीतियां, जातिगत भेदभाव और वर्ग भेद जैसी बुराइयों पर काम किया गया है। फिल्म में भारतीय संविधान के तहत आर्टिकल 15 के बारें में बताया गया कि ये एक ऐसा कानून है जो भारत के तमाम नागरिकों को किसी भी सार्वजनिक जगह पर जाने का अधिकार देता है। फिल्म के डायरेक्टर अनुभव सिन्हा ने फिल्म को इन्हीं अधिकारों के इर्द-गिर्द कहानी को बुना है।

पढ़ें :- मनी लॉन्ड्रिंग केस : भगोड़े विजय माल्या पर शिकंजा, 14 करोड़ की प्रॉपर्टी ईडी ने की जब्त

फिल्म में अयान रंजन (आयुष्मान खुराना) विदेश से पढ़ाई कर आता है। मगर अपने पिता के कहने पर वो आईपीएस ऑफिसर बनता है और उसकी पहली पोस्टिंग उत्तर प्रदेश के एक छोटे से जिले में होती है। जहां पर जातिगत भेदभाव अपने चरम पर चलता रहता है। ऐसे में अयान के सामने एक संगीन अपराध होता है। समाज के अलग-अलग तबके उस पर अपनी अलग अलग राय रखते हैं। तब अयान कहता है कानून चलेगा तो सिर्फ किताब का यानि संविधान का। फिल्म में आयुष्मान खुराना अलग-अलग तबके को लेकर कैसे डील करता है इसके लिए आपको पूरी फिल्म देखनी होगी।

फिल्म ‘आर्टिकल 15’ में आयुष्मान खुराना के साथ-साथ ईशा तलवार, मनोज पाहवा, कुमुद मिश्रा, मोहम्मद जीशान अयूब ने भी अहम भूमिका निभाई है। ये फिल्म एक सच्ची सच्ची घटनाओं पर आधारित है। फिल्म को अनुभव सिन्हा ने डायरेक्ट किया है। इतने विवादों के बाद ये देखना काफी दिलचस्प होगा कि आयुष्मान खुराना की ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर क्या कमाल दिखाएगी।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...