लखनऊ में ‘बाटला हाउस’ के ‘एनकाउंटर’ समेत फिल्माए जा रहे ये सीन

batala-house-shuting-lucknow
लखनऊ में 'बाटला हाउस' के ‘एनकाउंटर’ समेत फिल्माए जा रहे ये सीन

लखनऊ। 19 सितंबर 2008 को दिल्ली के जामिया नगर इलाके में पुलिस और इंडियन मुजाहिदीन के संदिग्ध आतंकवादियों के खिलाफ हुई मुठभेड़ पर आधारित फिल्म ‘बाटला हाउस’ की शूटिंग यूपी की राजधानी लखनऊ में चल रही है। इस दौरान फिल्म के कुछ दृश्य एमिटी यूनिवर्सिटी समेत लखनऊ के कई इलाकों में फिल्माए गए। फिल्म में जॉन अब्राहम मुख्य किरदार में हैं, वहीं फिल्म विकास परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष गौरव द्विवेदी भी ‘बाटला हाउस’ में खास रोल में नजर आने वाले हैं। टी-सीरीज के बैनर तले बन रही इस फिल्म का निर्देशन निखिल आडवाणी कर रहे हैं।

Film Batla House Shooting In Lucknow :

रविवार को एमिटी यूनिवर्सिटी में फिल्म का एक सीन फिल्माया जाना था। इस दौरान कैंपस में जॉन अब्राहम की एक झलक पाने के लिए उनके फैंस घंटों इंतजार करते रहे। हालांकि जॉन ने अपने प्रशंसकों को निराश नहीं किया और सामने आकर फैंस को ऑटोग्राफ दिया। फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में एक्ट्रेस मृणाल ठाकुर भी लखनऊ में मौजूद हैं।

ये है असली कहानी-

दिल्ली सीरियल ब्लास्ट के कुछ ही दिनों बाद 19 सितंबर, 2008 को दिल्ली के बटला हाउस इलाके में पुलिस और कथित चरमपंथियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। मुठभेड़ में साजिद और आतिफ नाम के दो लड़के मारे गए थे जिन्हें पुलिस ने चरमपंथी बताया था जबकि दो आतंकी मोहम्मद सैफ और जीशान को गिरफ्तार कर लिया गया था। एक आतंकी भागने में सफल रहा था।

हालांकि बाद में 2010 में उसे आजमगढ़ से गिरफ्तार कर लिया गया था। एनकाउंटर में घायल इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा की इलाज के दौरान मौत गई थी। बता दें कि इस एकाउंटर को कुछ नेताओं ने फर्जी करार दिया था जिसे लेकर काफी विवाद हुआ था।

लखनऊ। 19 सितंबर 2008 को दिल्ली के जामिया नगर इलाके में पुलिस और इंडियन मुजाहिदीन के संदिग्ध आतंकवादियों के खिलाफ हुई मुठभेड़ पर आधारित फिल्म 'बाटला हाउस' की शूटिंग यूपी की राजधानी लखनऊ में चल रही है। इस दौरान फिल्म के कुछ दृश्य एमिटी यूनिवर्सिटी समेत लखनऊ के कई इलाकों में फिल्माए गए। फिल्म में जॉन अब्राहम मुख्य किरदार में हैं, वहीं फिल्म विकास परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष गौरव द्विवेदी भी 'बाटला हाउस' में खास रोल में नजर आने वाले हैं। टी-सीरीज के बैनर तले बन रही इस फिल्म का निर्देशन निखिल आडवाणी कर रहे हैं।रविवार को एमिटी यूनिवर्सिटी में फिल्म का एक सीन फिल्माया जाना था। इस दौरान कैंपस में जॉन अब्राहम की एक झलक पाने के लिए उनके फैंस घंटों इंतजार करते रहे। हालांकि जॉन ने अपने प्रशंसकों को निराश नहीं किया और सामने आकर फैंस को ऑटोग्राफ दिया। फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में एक्ट्रेस मृणाल ठाकुर भी लखनऊ में मौजूद हैं।

ये है असली कहानी-

दिल्ली सीरियल ब्लास्ट के कुछ ही दिनों बाद 19 सितंबर, 2008 को दिल्ली के बटला हाउस इलाके में पुलिस और कथित चरमपंथियों के बीच मुठभेड़ हुई थी। मुठभेड़ में साजिद और आतिफ नाम के दो लड़के मारे गए थे जिन्हें पुलिस ने चरमपंथी बताया था जबकि दो आतंकी मोहम्मद सैफ और जीशान को गिरफ्तार कर लिया गया था। एक आतंकी भागने में सफल रहा था।हालांकि बाद में 2010 में उसे आजमगढ़ से गिरफ्तार कर लिया गया था। एनकाउंटर में घायल इंस्पेक्टर मोहन चंद शर्मा की इलाज के दौरान मौत गई थी। बता दें कि इस एकाउंटर को कुछ नेताओं ने फर्जी करार दिया था जिसे लेकर काफी विवाद हुआ था।