1. हिन्दी समाचार
  2. बॉलीवुड
  3. Film Boycott Trend: बायकॉट शब्द को इतना बड़ा मत बनाइए, अनुपम खेर बोले- फिल्म फ्लॉप हो गई तो रोना कैसा

Film Boycott Trend: बायकॉट शब्द को इतना बड़ा मत बनाइए, अनुपम खेर बोले- फिल्म फ्लॉप हो गई तो रोना कैसा

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता अनुपम खेर की हाल ही में रिलीज हुई फिल्म कार्तिकेय 2 बॉक्स ऑफिस पर सफल हो गई है। निखिल सिद्धार्थ-स्टारर फिल्म कार्तिकेय 2 13 अगस्त को रिलीज हुई थी।

By आराधना शर्मा 
Updated Date

Film Boycott Trend: बॉलीवुड के दिग्गज एक्टर अनुपम खेर (Anupam Kher) की हाल ही में रिलीज हुई फिल्म कार्तिकेय 2 बॉक्स ऑफिस पर सफल हो गई है। निखिल सिद्धार्थ-स्टारर (Nikhil Siddharth-starrer) फिल्म कार्तिकेय 2 13 अगस्त को रिलीज हुई थी।

पढ़ें :- Akshay Kumar के करीबी का निधन, एक्टर को लगा गहरा सदमा कहा- वे छोड़कर चले...

आपको बता दें,  ये एक तेलुगु फिल्म है, और हिंदी में इस फिल्म ने अब तक 18 करोड़ का बिजनेस (18 crore business) किया है। ये फिल्म न केवल एक स्लीपर हिट बन गई है, बल्कि कार्तिकेय 2 (Kartikeya 2) ने आमिर खान (Aamir Khan) की लाल सिंह चड्ढा (Lal Singh Chaddha) और अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की रक्षा बंधन को भी पछाड़ दिया है।

अनुपम खेर ने कार्तिकेय 2 में एक अंधे व्यक्ति की भूमिका निभाई है। अनुपम खेर ने अपने एक इंटरव्यू में द कश्मीर फाइल्स के बाद इस साल अपनी दूसरी हिट की सफलता के बारे में खुलकर बात की है और बायकॉट ट्रेंड पर भी अपनी राय रखी है।

‘बायकॉट ट्रेंड पर रोने से बचना चाहिए’

अनुपम खेर ने सोशल मीडिया पर बायकॉट ट्रेंड पर खुलकर बात की। बता दें कि कई लोगों का मानना ​​है कि बॉलीवुड फिल्मों के बॉक्स ऑफिस पर असफल होने के पीछे बायकॉट ट्रेंड ही है।

इन मुद्दों पर अनुपम खेर ने कहा, ”दर्शकों को कुछ कंटेंट, फिल्म नहीं देखने के बारे में अपना मन बनाने का अधिकार है और फिल्म निर्माताओं और अभिनेताओं को फिल्मों के विषय पर अधिक ध्यान देना चाहिए और बायकॉट ट्रेंड पर रोने से बचना चाहिए और उसपर कम ध्यान देना चाहिए।”

अनुपम खेर ने कहा, “कश्मीर फाइल्स का भी बहिष्कार किया गया था। कई प्रसिद्ध आलोचकों ने कहा कि इसे नहीं देखा जाना चाहिए। द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर के साथ भी ऐसा ही हुआ। हम इस पर रोए नहीं थे। फिल्म का कंटेंट बहुत महत्वपूर्ण है। निखिल (सिद्धार्थ) का पता नहीं है। हिंदी पट्टी में लेकिन मैंने कार्तिकेय 2 देखने के बाद सिनेमा हॉल में लोगों को सीटी बजाते देखा है।”

अनुपम खेर ने आगे कहा, ”हम बायकॉट ट्रेंड जैसे नए शब्द गढ़ना पसंद करते हैं। एक फिल्म समीक्षक के पास लोगों को फिल्म देखने या न देखने के लिए कहने की शक्ति है। लेकिन ऐसा नहीं है इसका मतलब है कि दर्शक वास्तव में इसे नहीं देखेंगे। दर्शकों के पास किसी को भी बनाने या तोड़ने की शक्ति है।”

 

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...