1. हिन्दी समाचार
  2. विवादों में घिरी फिल्म ‘आर्टिकल 15’, फिल्म निर्माता को मिली कानूनी नोटिस

विवादों में घिरी फिल्म ‘आर्टिकल 15’, फिल्म निर्माता को मिली कानूनी नोटिस

Film Producer Get Legal Notice Over Controversial Film Article15

By आस्था सिंह 
Updated Date

मुंबई। फिल्म ‘आर्टिकल 15’ रिलीज़ होने से पहले ही विवादों के घेरों में आ चुकी है। अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता परिषद ने फिल्म को जाति के आधार पर समाज को बांटने वाला और ब्राह्मणों का अपमान करने वाली बताते हुए आपत्ति उठाई है। इस मामले में उन्होंने फिल्म के निर्माता निर्देशक को कानूनी नोटिस जारी कर फिल्म से आपत्तिजनक हिस्सा हटाने की मांग की है। फिल्म का ट्रेलर 30 मई को रिलीज हो चुका है वहीं 28 जून को फिल्म रिलीज हो सकती है।

पढ़ें :- इन 8 अभिनेत्रियों के मंगलसूत्र की कीमत जब जानेंगे, दांतो तले उंगली दबा लेंगे

इस मामले को लेकर हो रहा विवाद

फिल्म के ट्रेलर को देखें तो उसमें ऊंची जाति के अभियुक्तों द्वारा नीची जाति से दुष्कर्म और हत्या का अपराध करने का जिक्र है साथ ही जाति आधारित संवाद और टिप्पणियां हैं। संस्था की ओर से वकील सुनील कुमार तिवारी ने कानूनी नोटिस भेज कर नोटिस मिलने के 24 घंटे के भीतर फिल्म के जारी ट्रेलर की वीडियो क्लिप से आपत्तिजनक भाग हटाने की मांग की है।

नोटिस के मुताबिक अगर तय समय में यू-ट्यूब, सोशल मीडिया आदि पर जारी वीडियो क्लिप से आपत्तिजनक हिस्सा नहीं हटाया गया तो संस्था आपराधिक व दीवानी कानूनी कार्यवाही करेगी। नोटिस में कहा गया है कि गत 30 मई को यूट्यूब ऑनलाइन चैनल और सोशल मीडिया पर जारी फिल्म ‘आर्टिकल 15 के ट्रेलर से हिंदू ब्राह्मणों की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं। यह सिनेमेटोग्राफी एक्ट के प्रावधानों का उल्लंघन है। इसके अलावा फिल्म संविधान की भावना और प्रावधानों का भी उल्लंघन करती है। इस फिल्म में ब्राह्मणों और अन्य हिंदू जातियों की प्रतिष्ठा खराब करने की कोशिश हुई है जो कि अपराध है।

बता दें कि इस फिल्म से समाज में विभिन्न जातियों और धर्मों का आपसी सौहार्द बिगड़ सकता है। यही नहीं जारी किए गए फिल्म के ट्रेलर में अनुसूचित जाति व अनुसूचित जनजाति और पिछड़े वर्ग के आत्मसम्मान के खिलाफ है। उसमें उन्हें दुष्कर्म और हत्या जैसे जघन्य अपराध का पीड़ित दिखाया गया है। आरोप लगाया गया है कि इस फिल्म में जानबूझकर ब्राह्मणों की भावनाओं को आहत करने और अन्य समुदायों के धार्मिक विश्वास को अपमानित करने की कोशिश की गई है। जो कि दंडनीय अपराध है।

पढ़ें :- शराब से ही होती है इन बॉलीवुड अभिनेत्रियों की सुबह, 2 नंबर वाली तो बहुत बड़ी सुपरस्टार

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...