अरुण जेटली: जानिए 2000 के नोट बंद होने का सच

Finance Minister Arun Jaitley On Sbi Report Of Rbi Holding Back Rs 2000 Notes

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) या तो 2000 रुपए के नोट को वापस ले सकता है या फिर इसकी छपाई पर रोक लगा सकता है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज इस बात का खुलासा कर दिया है कि यह सिर्फ अफवाह है। उन्होने कहा इस तरह की अफवाहें फैलाई जा रही हैं, जब तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं होती इन पर आप भरोसा ना करें।

लोकसभा में वित्त मंत्रालय से जानकारी मिली कि, 8 दिसंबर की स्थिति के अनुसार रिजर्व बैंक ने 500 रुपये के 1695.7 करोड़ नोटों की छपाई की जबकि 2000 रुपये के 365.40 करोड़ नोट छापे गए।

सरकार ने पिछले साल आठ नवंबर को 500 और 1000 रुपये के नोटों को चलन से हटाने का फैसला किया। ये नोट तब चलन में जारी कुल मुद्रा का 86 से 87 प्रतिशत था। इससे नकदी की कमी हुई और बैंकों में चलन से हटाये गये नोटों को बदलने या जमा करने को लेकर लंबी कतारें देखी गयी। उसके बाद रिजर्व बैंक ने 2,000 रुपये मूल्य के नये नोट के साथ 500 रुपये का भी नया नोट जारी किया। उसके बाद, रिजर्व बैंक ने 200 रुपये का भी नोट जारी किया।

नई दिल्ली। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) या तो 2000 रुपए के नोट को वापस ले सकता है या फिर इसकी छपाई पर रोक लगा सकता है। वित्त मंत्री अरुण जेटली ने आज इस बात का खुलासा कर दिया है कि यह सिर्फ अफवाह है। उन्होने कहा इस तरह की अफवाहें फैलाई जा रही हैं, जब तक कोई आधिकारिक घोषणा नहीं होती इन पर आप भरोसा ना करें। लोकसभा में वित्त मंत्रालय से जानकारी मिली कि, 8 दिसंबर की स्थिति के…