गले में तकलीफ के कारण वित्तमंत्री नहीं पढ़ सकीं पूरा बजट, फिर भी अब तक का सबसे लंबा भाषण दिया

nirmal sitaraman
गले में तकलीफ के कारण वित्तमंत्री नहीं पढ़ सकीं पूरा बजट, फिर भी अब तक का सबसे लंबा भाषण दिया

नई दिल्ली। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए आज तक के सबसे लंबे समय तक बोलतीं रहीं। इसके बावजूद वह अपना पूरा भाषण नहीं पढ़ पाईं। बताया जा रहा है कि वित्तमंत्री अस्वस्थय होने के कारण बजट के कुछ पन्ने नहीं पढ़ सकीं। इसके बावजूद वह बजट भाषण दो घंटे 39 मिनट तक पढ़ा।

Finance Minister Could Not Read The Entire Budget Due To Sore Throat Yet Gave The Longest Speech Till Date :

बजट भाषण पढ़ते समय तक उनकी तबियत कुछ खराब हुई, जिसके बाद उन्होंने तीन बार पानी पिया। इसके बाद भी कोई फायदा नहीं हुआ। तब सदन में विपक्ष के सदस्यों ने उनसे बजट दस्तावेज सभापटल पर रखने का आग्रह किया। इस पर सीतारमण ने कहा कि सिर्फ दो पन्ने बचे हैं।

वित्त मंत्री ने दोबारा बजट पढ़ने का प्रयास किया लेकिन वे ठीक से नहीं पढ़ पा रही थीं। हालांकि निर्मला अपना बजट भाषण पूरा पढ़ना चाहती थी, और उन्होंने इशारा भी किया कि सिर्फ 2 पेज बचे हैं, राजनाथ सिंह की सलाह के बाद उन्होंने अपना भाषण खत्म कर दिया।

शेष भाषण को सदन पटल पर रख दिया। देश की पहली महिला पूर्णकालिक वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का यह दूसरा बजट भाषण था, उन्होंने अपने पहले बजट भाषण में भी सबसे लंबा बजट भाषण का रिकॉर्ड बनाया था। पिछले साल 2019-20 के लिए लोकसभा चुनाव बाद नई सरकार के गठन के बाद 5 जुलाई को पेश अपने पहले बजट भाषण को 2 घंटा 15 मिनट में पढ़ा।

नई दिल्ली। वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश करते हुए आज तक के सबसे लंबे समय तक बोलतीं रहीं। इसके बावजूद वह अपना पूरा भाषण नहीं पढ़ पाईं। बताया जा रहा है कि वित्तमंत्री अस्वस्थय होने के कारण बजट के कुछ पन्ने नहीं पढ़ सकीं। इसके बावजूद वह बजट भाषण दो घंटे 39 मिनट तक पढ़ा। बजट भाषण पढ़ते समय तक उनकी तबियत कुछ खराब हुई, जिसके बाद उन्होंने तीन बार पानी पिया। इसके बाद भी कोई फायदा नहीं हुआ। तब सदन में विपक्ष के सदस्यों ने उनसे बजट दस्तावेज सभापटल पर रखने का आग्रह किया। इस पर सीतारमण ने कहा कि सिर्फ दो पन्ने बचे हैं। वित्त मंत्री ने दोबारा बजट पढ़ने का प्रयास किया लेकिन वे ठीक से नहीं पढ़ पा रही थीं। हालांकि निर्मला अपना बजट भाषण पूरा पढ़ना चाहती थी, और उन्होंने इशारा भी किया कि सिर्फ 2 पेज बचे हैं, राजनाथ सिंह की सलाह के बाद उन्होंने अपना भाषण खत्म कर दिया। शेष भाषण को सदन पटल पर रख दिया। देश की पहली महिला पूर्णकालिक वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण का यह दूसरा बजट भाषण था, उन्होंने अपने पहले बजट भाषण में भी सबसे लंबा बजट भाषण का रिकॉर्ड बनाया था। पिछले साल 2019-20 के लिए लोकसभा चुनाव बाद नई सरकार के गठन के बाद 5 जुलाई को पेश अपने पहले बजट भाषण को 2 घंटा 15 मिनट में पढ़ा।