सिपाही के खिलाफ आय से अधिक सम्पत्ति की रिपोर्ट दर्ज

d

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित अभियोजन कार्यालय में तैनात मुख्य आरक्षी के खिलाफ विभूतिखण्ड थाने में आय से अधिक सम्पत्ति जुटाने का मुकदमा दर्ज किया गया है।

Fir Against Constable In Lucknow :

भ्रष्टाचार निवारण संगठन के इंस्पेक्टर सुरेश नारायण सिंह के अनुसार सिपाही वीरेंद्र सिंह पर अनुचित साधनों से सम्पत्ति बनाने का आरोप था। वर्ष 2017 में बृजेश कुमार सिंह की तरफ से दर्ज कराई गई शिकायत पर जांच शुरू की गई थी। जिसमें वीरेंद्र सिंह पर लगे आरोप सही पाये गये।

अगस्त 2016 से अप्रैल 2015 के बीच वीरेंद्र सिंह की कुल आय 28 लाख 84 हजार रुपये थी जबकि सम्पत्ति 41 लाख 90 हजार रुपये आंकी गई। वीरेंद्र सिंह ने करीब 13 लाख रुपये की अतिरिक्त आय के बारे में कोई सबूत नहीं दे सके। जिसके आधार पर उसके खिलाफ विभूतिखण्ड थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ स्थित अभियोजन कार्यालय में तैनात मुख्य आरक्षी के खिलाफ विभूतिखण्ड थाने में आय से अधिक सम्पत्ति जुटाने का मुकदमा दर्ज किया गया है। भ्रष्टाचार निवारण संगठन के इंस्पेक्टर सुरेश नारायण सिंह के अनुसार सिपाही वीरेंद्र सिंह पर अनुचित साधनों से सम्पत्ति बनाने का आरोप था। वर्ष 2017 में बृजेश कुमार सिंह की तरफ से दर्ज कराई गई शिकायत पर जांच शुरू की गई थी। जिसमें वीरेंद्र सिंह पर लगे आरोप सही पाये गये। अगस्त 2016 से अप्रैल 2015 के बीच वीरेंद्र सिंह की कुल आय 28 लाख 84 हजार रुपये थी जबकि सम्पत्ति 41 लाख 90 हजार रुपये आंकी गई। वीरेंद्र सिंह ने करीब 13 लाख रुपये की अतिरिक्त आय के बारे में कोई सबूत नहीं दे सके। जिसके आधार पर उसके खिलाफ विभूतिखण्ड थाने में रिपोर्ट दर्ज कराई गई।