दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज​ तिवारी पर एफआईआर दर्ज, तोड़ा था सील मकान का ताला

manoj tiwari
दिल्ली बीजेपी अध्यक्ष मनोज​ तिवारी पर एफआईआर दर्ज, तोड़ा था सील मकान का ताला

नई दिल्ली। दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी के खिलाफ दिल्ली के गोकुलपुरी थाने में एफआईआर दर्ज हुई है। मनोज तिवारी के खिलाफ मकान की सील तोड़ने का आरोप लगा है। मनोज तिवारी के खिलाफ एमसीडी ने थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। दिल्ली पुलिस ने मनोज तिवारी के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 188, डीएमसी एक्‍ट 661 और 465 के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Fir Against Delhi Bjp Cheif Manoj Tiwari For Brecking Seal House Lock :

गौरतलब है कि दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी द्वारा एक सीलबंद घर का ताला तोड़े जाने का कथित वीडियो सामने आया था, जिसके बाद रविवार को विवाद खड़ा हो गया था। आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस ने इस वीडियो को दिल्ली के भाजपा शासित नगर निगमों से जोड़ दिया है। आप के संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया कि भाजपा की नोटबंदी और जीएसटी के बाद अब सीलिंग ने दिल्ली को बर्बाद कर दिया है।

अरविन्द केजरीवाल ने ट्वीट किया कि भाजपा सुबह सीलिंग करती है और शाम में ताला तोड़ती है, क्या वह समझती है कि लोग बेवकूफ हैं.’ वहीं ये आरोपी लगने के बाद मनोज तिवारी ने कहा कि वह गोकुलपुर गए थे जहां लोगों ने उन्हें बताया कि 1000 के बीच केवल एक घर को निगम ने सील किया है। उन्होंने कहा, ‘मैंने निगम की चुनिंदा नीति के विरुद्ध सील को तोड़ दिया। स्थानीय लोगों ने दावा किया कि सभी मकान अवैध रुप से बनाये गए हैं लेकिन खास मकान को ही निगम ने कार्रवाई के लिए चुना।’ उन्होंने कहा कि वह उच्चतम न्यायालय और उसकी निगरानी समिति से यह सुनिश्चित करने की अपील करना चाहते हैं कि सीलिंग अभियान के नाम पर चुनिंदा कार्रवाई न की जाए।

मनोज तिवारी ने कहा कि मैं नगर निगम को भी नहीं बख्शूंगा, चाहे वहां भाजपा का ही शासन क्यों न हो।’ सीलिंग के मुद्दे पर ‘न्याययुद्ध’ अभियान चला रही कांग्रेस ने सीलिंग अभियान से प्रभावित लोगों को बचाने में विफल रहने पर तिवारी समेत भाजपा सांसदों के इस्तीफे की मांग की।

नई दिल्ली। दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष मनोज तिवारी के खिलाफ दिल्ली के गोकुलपुरी थाने में एफआईआर दर्ज हुई है। मनोज तिवारी के खिलाफ मकान की सील तोड़ने का आरोप लगा है। मनोज तिवारी के खिलाफ एमसीडी ने थाने में शिकायत दर्ज कराई थी। दिल्ली पुलिस ने मनोज तिवारी के खिलाफ़ आईपीसी की धारा 188, डीएमसी एक्‍ट 661 और 465 के तहत मामला दर्ज किया गया है।गौरतलब है कि दिल्ली भाजपा के अध्यक्ष मनोज तिवारी द्वारा एक सीलबंद घर का ताला तोड़े जाने का कथित वीडियो सामने आया था, जिसके बाद रविवार को विवाद खड़ा हो गया था। आम आदमी पार्टी (आप) और कांग्रेस ने इस वीडियो को दिल्ली के भाजपा शासित नगर निगमों से जोड़ दिया है। आप के संयोजक और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आरोप लगाया कि भाजपा की नोटबंदी और जीएसटी के बाद अब सीलिंग ने दिल्ली को बर्बाद कर दिया है।अरविन्द केजरीवाल ने ट्वीट किया कि भाजपा सुबह सीलिंग करती है और शाम में ताला तोड़ती है, क्या वह समझती है कि लोग बेवकूफ हैं.’ वहीं ये आरोपी लगने के बाद मनोज तिवारी ने कहा कि वह गोकुलपुर गए थे जहां लोगों ने उन्हें बताया कि 1000 के बीच केवल एक घर को निगम ने सील किया है। उन्होंने कहा, ‘मैंने निगम की चुनिंदा नीति के विरुद्ध सील को तोड़ दिया। स्थानीय लोगों ने दावा किया कि सभी मकान अवैध रुप से बनाये गए हैं लेकिन खास मकान को ही निगम ने कार्रवाई के लिए चुना।’ उन्होंने कहा कि वह उच्चतम न्यायालय और उसकी निगरानी समिति से यह सुनिश्चित करने की अपील करना चाहते हैं कि सीलिंग अभियान के नाम पर चुनिंदा कार्रवाई न की जाए।मनोज तिवारी ने कहा कि मैं नगर निगम को भी नहीं बख्शूंगा, चाहे वहां भाजपा का ही शासन क्यों न हो।’ सीलिंग के मुद्दे पर ‘न्याययुद्ध’ अभियान चला रही कांग्रेस ने सीलिंग अभियान से प्रभावित लोगों को बचाने में विफल रहने पर तिवारी समेत भाजपा सांसदों के इस्तीफे की मांग की।