बाराबंकी : सहाराश्री सुब्रतो राय समेत दस लोगों पर एफआईआर, ये है आरोप

subrato rai sahara
बाराबंकी : सहाराश्री सुब्रतो राय समेत दस लोगों पर एफआईआर, ये है आरोप

बाराबंकी। बाराबंकी के रामनगर थाने में सहाराश्री सु्ब्रतो राय समेत दस लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। दरअसल सहारा इंडिया फाइनेंस कंपनी में कार्यरत एक एजेंट ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। जिसके मौके पर पहुंची पुलिस को उसके पास से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ, जिसमें उसने कंपनी निदेशकों से तंग आकर जान देने की बात लिखी थी।

Fir Against Sahara Shree Subrato Rai And All Directers Of Sahara India Finace In Barabani :

बता दें कि रामनगर के मोहल्ला रानी कस्बा निवासी संदीप मौर्य कंपनी में एजेंट था, उसने तमाम लोगों को पालिसी दी। उसने आरोप लगाया कि पालिसी मिच्योर होने के बाद भी कंपनी निवेशकों का पैसा नही वापस कर ही थी, जिसको लेकर निवेशक उसके उपर काफी दवाब बना रहे थे। इसी से तंग आकर उसने मौत को गले लगा लिया।

उसकी मौत के बाद सुसाडन नोट देखकर संदीप की मां कृष्णावती ने रामनगर थाने में निदेशकों सहाराश्री सुब्रतो राय, ओपी श्रीवास्तव, अभिजीत सरकार, एरिया मैनेजर प्रदीप श्रीवास्तव, ब्रांच मैनेजर रामगोपाल निगम, रीजनल मैनेजर रामनरेश कौशल पर आरोप लगाया कि बेटे ने इन लोगों से कई बार मिलकर निवेशकों को पैसा वापस कराने की गुहार लगाई, लेकिन इन लोगों ने उसकी कोई मदद नही की।

उधर निवेशकों के लगातार दबाव के चलते उसने जान दे दी। इस मामले में रामनगर थाने के इंस्पेक्टर धर्मेन्द्र सिंह रघुवंशी ने बताया कि कृष्णावती की तहरीर पर सुब्रतो राय समेत सभी लोगों पर धारा 306 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन की जा रही हैै।

बाराबंकी। बाराबंकी के रामनगर थाने में सहाराश्री सु्ब्रतो राय समेत दस लोगों पर मुकदमा दर्ज किया गया है। दरअसल सहारा इंडिया फाइनेंस कंपनी में कार्यरत एक एजेंट ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। जिसके मौके पर पहुंची पुलिस को उसके पास से एक सुसाइड नोट बरामद हुआ, जिसमें उसने कंपनी निदेशकों से तंग आकर जान देने की बात लिखी थी।बता दें कि रामनगर के मोहल्ला रानी कस्बा निवासी संदीप मौर्य कंपनी में एजेंट था, उसने तमाम लोगों को पालिसी दी। उसने आरोप लगाया कि पालिसी मिच्योर होने के बाद भी कंपनी निवेशकों का पैसा नही वापस कर ही थी, जिसको लेकर निवेशक उसके उपर काफी दवाब बना रहे थे। इसी से तंग आकर उसने मौत को गले लगा लिया।उसकी मौत के बाद सुसाडन नोट देखकर संदीप की मां कृष्णावती ने रामनगर थाने में निदेशकों सहाराश्री सुब्रतो राय, ओपी श्रीवास्तव, अभिजीत सरकार, एरिया मैनेजर प्रदीप श्रीवास्तव, ब्रांच मैनेजर रामगोपाल निगम, रीजनल मैनेजर रामनरेश कौशल पर आरोप लगाया कि बेटे ने इन लोगों से कई बार मिलकर निवेशकों को पैसा वापस कराने की गुहार लगाई, लेकिन इन लोगों ने उसकी कोई मदद नही की।उधर निवेशकों के लगातार दबाव के चलते उसने जान दे दी। इस मामले में रामनगर थाने के इंस्पेक्टर धर्मेन्द्र सिंह रघुवंशी ने बताया कि कृष्णावती की तहरीर पर सुब्रतो राय समेत सभी लोगों पर धारा 306 आईपीसी के तहत मुकदमा दर्ज कर मामले की छानबीन की जा रही हैै।