1. हिन्दी समाचार
  2. हिंदू धर्म व CM योगी को लेकर विवादित टिप्पड़ी करने वाले कांग्रेस के पंकज पुनिया के खिलाफ हुआ FIR

हिंदू धर्म व CM योगी को लेकर विवादित टिप्पड़ी करने वाले कांग्रेस के पंकज पुनिया के खिलाफ हुआ FIR

Fir Filed Against Pankaj Punia Of Congress For Making Controversial Comments About Hinduism And Cm Yogi

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में पिछले दो दिनो से कांग्रेस की एक हजार बसों को मजदूरों के लिए चलाने को लेकर योगी सरकार और प्रियंका गांधी के बीच पत्र युद्ध जारी है। इसी बीच कल शाम हरियाणा कांग्रेस नेता पंकज ​पुनिया ने योगी सरकार को निशाना बनाते हुए एक ट्वीट किया जिसमें उन्होने हिंदू धर्म को लेकर ​आपत्तिजनक शब्द लिखे थे। पोस्ट सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो इससे राम भक्तों को काफी ठेस पहुंची। वहीं आज लखनऊ पुलिस ने पंकज पुनिया के खिलाफ आईटी ऐक्ट के तहत मुकदमा पंजीक्रत कर लिया है।

पढ़ें :- सीएम योगी ने पीड़िता के पिता से की बात, आर्थिक मदद के साथ परिवार के सदस्य को नौकरी और घर देने का ऐलान

आज लखनऊ के गोमतीनगर थाने में अधिवक्ता हेमचंद्र जोशी ने पंकज पुनिया के खिलाफ तहरीर दी थी। अधिवक्ता हेमचंद्र जोशी ने गोमतीनगर थाने में पंकज पुनिया के खिलाफ तहरीर देते हुए बताया कि पंकज पुनिया ने मंगलवार को हुए बस विवाद में ट्वीट करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की सरकार को ‘बिष्ट सरकार’ लिखा। इसके बाद मजदूरों पर राजनीति का आरोप लगाते हुए कहा ‘जय श्रीराम’ का नारा लगाने वालों पर आपत्तिजनक टिप्पड़ी की थी।

हेमचंद्र जोशी

शिकायत करने वाले अधिवक्ता हेमचंद्र जोशी

वहीं, दूसरी ओर विवादित ट्वीट को पंकज पुनिया ने ट्विटर से हटा दिया है। विवादित ट्वीट को लेकर लोगों के आक्रोश को देखते हुए पंकज पुनिया ने माफी भी मांगी है। पूरे प्रकरण को लेकर पंकज पुनिया ने स्वीकार किया है कि ट्वीट उन्हीं का है, उन्होंने खुद ट्वीट करके खेद व्यक्त करते हुए लिखा है कि- मेरे लिखने से अगर किसी भाई को बुरा लगा हो तो मैं खेद व्यक्त करता हूं। मेरे शब्द मैंने गार्गी कॉलेज में जो कुछ हुआ था, उसको लेकर लिखे थे न कि किसी धर्म को लेकर।

पढ़ें :- महिला सुरक्षा को लेकर सड़क से संसद तक हंगामा करने वाले आखिर हाथरस केस पर क्यों हैं मौन?

क्या है पूरा मामला

दरअसल कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा की तरफ से कामगारों के लिए यूपी सरकार को एक हजार बसों की सूची भेजी थी। यूपी सरकार का दावा है कि सूची का परीक्षण कराने में बसों के साथ ही ऑटो, कार, एंबुलेंस और डीसीएम आदि के नंबर मिले हैं। तमाम वाहन अनफिट हैं। मंगलवार देर रात मामले में लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में कांग्रेस महासचिव प्रियंका वाड्रा के निजी सचिव संदीप सिंह और यूपी कांग्रेस अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई।

पढ़ें :- झड़ते बालों का कारण बन सकती हैं ये 3 चीजें, संभलने में ही समझदारी...

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...