फिर मेट्रो के आगे कूदकर एक ने दी जान, आखिर कब तक होती रहेंगी मौतें, क्यों नहीं सबक ले रहे मेट्रो प्रशासन?

नई दिल्ली। एम्स मेट्रो स्टेशन पर एक कारोबारी ने मेट्रो के आगे कूदकर जान दे दी। मृतक का नाम हरजीत सिंह (54 ) है। पुलिस ने पंचनामा भर उसका शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक मृतक नेहरू प्लेस में सीसीटीवी कैमरे बेचता था। आशंका है कि व्यवसाय में घाटा होने के कारण उसने खुदकुशी की। पुलिस को छानबीन में पता चला है कि मृत कारोबारी ने अपने बच्चों को एसएमएस के जरिए सुसाइड नोट भेजा था। पुलिस मामले की गहन जांच कारवाई में जुटी है।पुलिस सूत्रों के मुताबिक हरजीत सिंह पश्चिम दिल्ली के हरिनगर थाना क्षेत्र के वीरेन्द्रनगर में सपरिवार रहते थे।




मंगलवार सुबह वह घर से वह दुकान के लिए निकले, लेकिन मंगलवार दोपहर पौने दो बजे एम्स मेट्रो स्टेशन के प्लेटफार्म नम्बर दो पर आ गए। पांच मिनट तक प्लेटफार्म पर इधर उधर टहलने के बाद वह समयपुर बादली की तरफ जा रही मेट्रो ट्रेन के आगे कूद गए। एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि मेट्रो ट्रेन से टकराते ही अधेड़ का सिर धड़ से अलग हो गया। मामले की जानकारी मिलते ही सीआईएसएफ कर्मी समेत मेट्रो प्रबंधन से जुड़े कर्मी मौके पर पहुंचे और मामले की जानकारी मेट्रो पुलिस को दी। आनन-फानन में अधेड़ को एम्स ट्रामा सेंटर ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।




पुलिस को जांच में पता चला है कि मरने से पहले कारोबारी ने अपने मोबाइल फोन से एसएमएस कर आत्महत्या करने की सूचना अपने बेटा-बेटी व अन्य परिजनों को दी थी। उनकी बेटी मुर्दाघर भी पहुंची थी। परिजनों को भेजे गए एसएमएस में कारोबारी ने सीसीटीवी कैमरे के व्यवसाय में घाटा होने के कारण जान देने की बात लिखी है। पुलिस ने मृतक के मोबाइल फोन से सुसाइड नोट भी बरामद कर लिया है। पुलिस उपायुक्त जितेंद्र मणि त्रिपाठी के मुताबिक फिलहाल उनके परिजनों से इस बाबत पूछताछ जारी है और पुलिस टीमे अन्य कोणों से भी जांच में जुटी हुई है।