उन्नाव गैंगरेप मामला : तो क्या माननीय को बचाने के लिए हो रहा ये ड्रामा

bjp mla kuldeep singh senger
उन्नाव गैंगरेप मामला : तो क्या माननीय को बचाने के लिए हो रहा ये ड्रामा

Fir Registered Against Kuldeep Singh Sengar

लखनऊ । उन्नाव के बांगरमऊ से भाजपा विधायक पर लगे सामुहिक दुराचार के मामले आखिरकार मुकदमा दर्ज ही कर लिया गया। इस बीत सोंचने वाली बात ये है कि इतनी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज होने के बाद भी आखिर आरोपी विधायक को गिरफ्तार क्यों नही किया जा रहा है। पीड़ित परिवार की मानें तो ये एसआईटी व सीबीआई जांच के बीच मामले को उलझाकर आरोपी विधायक को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। उनकी मांग हैं कि आरोपी विधायक को तुरन्त गिरफ्तार कर जेल भेजा जाए और फिर मामले की जांच सीबीआई से कराई जाए।

इस आरोप के बाद के प्रमुख सचिव ग्रह अरविन्द कुमार का कहना है कि आरोपी विधायक कुलदीप सिंह सेंगर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। अब इस मामले में आगे की कार्रवाई सीबीआई करेंगी। प्रमुख सचिव ग्रह ने अपने बयान में कहा कि मामले की जांच कर रही एसआईटी, जिलाधिकारी उन्नाव एनजी ​रवि कुमार और डीआईजी जेल ने पूरे मामले की जांच कराई और अलग—अलग अपनी रिपोर्ट दी, जिसका अध्ययन करने के बाद विधायक के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराने का फैसला लिया गया है।

बता दें कि पीड़िता की मां की तहरीर पर उन्नाव के माखी थाने पर विधायक के खिलाफ आईपीसी की धारा 363, 366, 376 ,506 और पॉस्को एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। अब सवाल ये उठता है कि जब इन धाराओं में आरोपी की तुरन्त गिरफ्तारी का प्रावधान है तो पुलिस हीलाहवाली क्यों कर रही है।

बतां दें कि जांच में लापरवाही बरतने को लेकर सीओं को निलंबित करने के साथ ही पीड़िता के पिता के इलाज में हीलाहवाली करने वाले जिला अस्पताल के दो डाक्टरों को भी निलंबित कर दिया गया। पीड़ित पक्ष का कहना है कि रोज—रोज इस मामले में किसी न किसी को निलंबित किया जा रहा है, जबकि इनकी करतूतों का बखान पीड़िता ने मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्मदाह करते वक्त ही किया था, अगर प्रशासन को इनके खिलाफ कार्रवाई करनी ही थी तो तभी कर दिया होता। उनका आरोप है कि अब बीजेपी विधायक को गिरफ्तार करने के बजाए इन लोगों को हटाकर सरकार किरकिरी से बचने का प्रयास कर रही है।

इधर बीजेपी विधायक ने दिया शर्मनाक बयान

उन्नाव में गैंगरेप मामले में जहां पूरे प्रदेश में हंगामा मचा हुआ है, वही आरोपी के साथी विधायक उल्टे सीधे बयान देनेे में लगे हुए है। इसी क्रम में बुधवार को जनपद बलिया से भारतीय जनता पार्टी के विधायक सुरेन्द्र सिंह ने कुलदीप सिंह सेंगर में बड़ी ही शर्मनाक बयान दे डाला। इस बीजेपी विधायक ने कहा कि तीन बच्चों की मां से कोई दुराचार नही कर सकता, ये कुलदीप सिंह सेंगर को फंसाने के लिए साजिश रची गई है।

लखनऊ । उन्नाव के बांगरमऊ से भाजपा विधायक पर लगे सामुहिक दुराचार के मामले आखिरकार मुकदमा दर्ज ही कर लिया गया। इस बीत सोंचने वाली बात ये है कि इतनी गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज होने के बाद भी आखिर आरोपी विधायक को गिरफ्तार क्यों नही किया जा रहा है। पीड़ित परिवार की मानें तो ये एसआईटी व सीबीआई जांच के बीच मामले को उलझाकर आरोपी विधायक को बचाने का प्रयास किया जा रहा है। उनकी मांग हैं कि आरोपी…