Amazon के खिलाफ FIR दर्ज, हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप

amazon
Amazon के खिलाफ FIR दर्ज, हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप

नई दिल्ली। दिग्गज ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी एमेजन की हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान मामले में मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। अमेजन के खिलाफ नोएडा पुलिस ने शुक्रवार को एफआईआर दर्ज कर ली। शिकायतकर्ता विकास मिश्रा का कहना है कि अमेजन ने हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। नोएडा के सेक्टर 58 के थाने में उन्होंने शिकायत दी है। पुलिस का कहना है कि अमेजन के खिलाफ धर्म के आधार पर लोगों में दुश्मनी फैलाने के आरोपों के तहत मामला दर्ज किया गया है।

Fir Registered Against Online Shopping Giant Amazon :

नोएडा के पुलिस उपाधीक्षक (नगर) पीयूष कुमार सिंह ने बताया, “विकास मिश्रा नाम के व्यक्ति ने रिपोर्ट दर्ज कराई है।” एफआईआर में कहा गया है कि ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी अमेजन के प्रबंधकों ने अपनी वेबसाइट पर कुछ बाथरूम की तस्वीरें पोस्ट की हैं जिनमें हिंदू देवी-देवताओं को अपमानित करते हुए उनकी तस्वीरें गलत जगह पर लगाई गई हैं। उन्होंने बताया कि इस बाबत कंपनी के खिलाफ धारा 153 ए के तहत मामला दर्ज किया गया है और आगे की जांच की जा रही है।

10 डॉलर में गणेश जी का टॉयलेट स्टीकर

गणेश जी के चित्र वाला टॉयलेट सीट पर लगने वाला स्टीकर मात्र 10 डॉलर में खरीद सकते हैं। इन स्टीकर को चीन में तैयार किया जा रहा है और वहीं से इसकी डिलिवरी भी होगी। इसका साइज 8*11 का है। लोगों को इसके लिए अतिरिक्त तौर पर इंपोर्ट फीस और अन्य शुल्क भी अदा करना होगा।

सबसे महंगा भगवान जगन्नाथ का कारपेट

Amazon के खिलाफ FIR दर्ज, हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप

अमेजन पर सबसे महंगा उत्पाद भगवान जगन्नाथ के चित्र वाला फ्लोर कारपेट है। इसकी कीमत 220 डॉलर है। इसके लिए लिखा कि बच्चे इस पर आसानी से खेल सकते हैं। इसका अधिकतम साइज 200*300 सेमी का है।

एमेजन का जवाब

एमेजन के प्रवक्ता ने इस मामले में कहा है कि सभी विक्रेताओं को कंपनी के दिशानिर्देशों का पालन करना चाहिए। जो ऐसा नहीं करते हैं उन्हें कारवाई का सामना करना पड़ सकता है। उन विक्रेताओं को एमेजन के प्लेटफार्म से हटाया भी जा सकता है। प्रवक्ता ने बताया कि जिन उत्पादों को लेकर सवाल उठाया जा रहा है उन्हें हमारे स्टोर से हटाया जा रहा है।

बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है जब एमेजन की हिंदुओं की आस्था से खिलवाड़ करने के लिए आलोचना हो रही है। पहले हुए विरोध के बाद एमेजन ने इस तरह की सामग्री की बिक्री रोक दी थी लेकिन अब उसने एक बार फिर अपने प्लेटफॉर्म से ऐसा करना शुरू कर दिया है।

नई दिल्ली। दिग्गज ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी एमेजन की हिन्दू देवी-देवताओं के अपमान मामले में मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। अमेजन के खिलाफ नोएडा पुलिस ने शुक्रवार को एफआईआर दर्ज कर ली। शिकायतकर्ता विकास मिश्रा का कहना है कि अमेजन ने हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाई है। नोएडा के सेक्टर 58 के थाने में उन्होंने शिकायत दी है। पुलिस का कहना है कि अमेजन के खिलाफ धर्म के आधार पर लोगों में दुश्मनी फैलाने के आरोपों के तहत मामला दर्ज किया गया है। नोएडा के पुलिस उपाधीक्षक (नगर) पीयूष कुमार सिंह ने बताया, "विकास मिश्रा नाम के व्यक्ति ने रिपोर्ट दर्ज कराई है।" एफआईआर में कहा गया है कि ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी अमेजन के प्रबंधकों ने अपनी वेबसाइट पर कुछ बाथरूम की तस्वीरें पोस्ट की हैं जिनमें हिंदू देवी-देवताओं को अपमानित करते हुए उनकी तस्वीरें गलत जगह पर लगाई गई हैं। उन्होंने बताया कि इस बाबत कंपनी के खिलाफ धारा 153 ए के तहत मामला दर्ज किया गया है और आगे की जांच की जा रही है। 10 डॉलर में गणेश जी का टॉयलेट स्टीकर गणेश जी के चित्र वाला टॉयलेट सीट पर लगने वाला स्टीकर मात्र 10 डॉलर में खरीद सकते हैं। इन स्टीकर को चीन में तैयार किया जा रहा है और वहीं से इसकी डिलिवरी भी होगी। इसका साइज 8*11 का है। लोगों को इसके लिए अतिरिक्त तौर पर इंपोर्ट फीस और अन्य शुल्क भी अदा करना होगा। सबसे महंगा भगवान जगन्नाथ का कारपेट [caption id="attachment_325200" align="aligncenter" width="652"] Amazon के खिलाफ FIR दर्ज, हिंदुओं की भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप[/caption] अमेजन पर सबसे महंगा उत्पाद भगवान जगन्नाथ के चित्र वाला फ्लोर कारपेट है। इसकी कीमत 220 डॉलर है। इसके लिए लिखा कि बच्चे इस पर आसानी से खेल सकते हैं। इसका अधिकतम साइज 200*300 सेमी का है। एमेजन का जवाब एमेजन के प्रवक्ता ने इस मामले में कहा है कि सभी विक्रेताओं को कंपनी के दिशानिर्देशों का पालन करना चाहिए। जो ऐसा नहीं करते हैं उन्हें कारवाई का सामना करना पड़ सकता है। उन विक्रेताओं को एमेजन के प्लेटफार्म से हटाया भी जा सकता है। प्रवक्ता ने बताया कि जिन उत्पादों को लेकर सवाल उठाया जा रहा है उन्हें हमारे स्टोर से हटाया जा रहा है। बता दें कि ऐसा पहली बार नहीं है जब एमेजन की हिंदुओं की आस्था से खिलवाड़ करने के लिए आलोचना हो रही है। पहले हुए विरोध के बाद एमेजन ने इस तरह की सामग्री की बिक्री रोक दी थी लेकिन अब उसने एक बार फिर अपने प्लेटफॉर्म से ऐसा करना शुरू कर दिया है।