1. हिन्दी समाचार
  2. रिया की शिकायत पर सुशांत की दो बहनों पर एफआईआर दर्ज

रिया की शिकायत पर सुशांत की दो बहनों पर एफआईआर दर्ज

Fir Registered Against Sushants Two Sisters On Riyas Complaint

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

मुंबई: सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) की मौत के मामले में लगातार अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती (Rhea Chakraborty) पर एनसीबी की जांच में रडार पर हैं और उनपर गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है लेकिन इस बीच रिया ने सुशांत डेथ केस को नए एंगल दे दिया है। 6 घंटों से ज़्यादा बांद्रा पुलिस स्टेशन में गुज़ारने के बाद रिया ने सुशांत की दो बहनों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करवा दी है।

पढ़ें :- श्मशान घाट में महिलाएं करती हैं लाशों का अंतिम संस्कार, चिता जलाकर पाल रहीं हैं परिवार का पेट

शिकायत पर बांद्रा पुलिस (Bandra Police) ने आईपीसी की धारा, 420 ,464,465,466,468,474,306, 120B और 34, साथ ही एनडीपीएस की धारा 8(1),21,22 ,29 के तहत मामला दर्ज किया गया है। एफआईआर में फिलहाल सुशांत की बहन प्रियंका सिंह (Priyanka Singh) और मीतू सिंह (Mitu Singh) के अलावा डॉ. तरुण कुमार का नाम मौजूद है।

सोमवार को करीब 8 घंटों की एनसीबी की पूछताछ के बाद दक्षिण मुंबई में मौजूद एनसीबी दफ्तर से रिया निकलीं थीं और सीधे बांद्रा पुलिस स्टेशन पहुंचीं थीं, जहां उन्होंने पहले ही एक लिखित शिकायत दी थी। रिया ने अपनी लिखित शिकायत में सुशांत की बहन प्रियंका सिंह और राम मनोहर लोहिया अस्पताल के डॉक्टर और अन्य के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट (NDPS Act) और टेली मेडिसिन प्रैक्टिस गाइडलाइंस 2020 का उल्लघंन करने की शिकायत दी थी। शिकायत में कहा गया है था कि, आठ जून को सुशांत सिंह राजपूत की बहन प्रियंका सिंह ने राम मनोहर लोहिया हॉस्पिटल के डॉक्टर तरुण कुमार के द्वारा दिवंगत अभिनेती का फर्जी मेडिकल प्रिस्क्रिप्शन बनवाया था। प्रिस्क्रिप्शन में उन दवाओं का जिक्र था, जो एनडीपीएस एक्ट के तहत आता है और इस पर पाबंदी है।

सोमवार को रिया की लिखित शिकायत की बात सामने आने पर सुशांत के परिवार के वकील, वकील विकास सिंह (Vikas Singh) ने कहा था कि, रिया चक्रवर्ती द्वारा मुंबई पुलिस (Mumbai Police) में की गई शिकायत चल रही सीबीआई (CBI) जांच को बाधित करने और मामले में राज्य पुलिस की भूमिका को बनाए रखने की एक चाल है।

सिंह ने कहा था कि मुंबई पुलिस का इस मामले में कोई अधिकार क्षेत्र नहीं रह गया है और ऐसा मुंबई पुलिस के अधिकार क्षेत्र को बनाये रखने के लिए किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘शिकायत अपने आप में एक अपराध है। यह जांच को मोड़ने और पटरी से उतारने की एक चाल है। यह मामले में मुंबई पुलिस की भूमिका को बनाये रखने का एक प्रयास है ताकि वे कुछ शरारतपूर्ण कृत्य कर सके और यह सुनिश्चित कर सके कि सुशांत के परिवार को इस मामले में न्याय नहीं मिले।” रिया ने रविवार को यहां बांद्रा थाने को भेजी गई अपनी शिकायत में प्रियंका सिंह और दिल्ली स्थित राम मनोहर लोहिया अस्पताल में कार्यरत डॉ तरुण कुमार के खिलाफ जालसाजी के लिए भारतीय दंड संहिता के संबंधित प्रावधानों, स्वापक औषधि और मन:प्रभावी पदार्थ (एनडीपीएस) कानून एवं दूरचिकित्सा पद्धति के दिशानिर्देशों के तहत मामला दर्ज करने की मांग की है। सिंह ने कहा कि इस मामले में कोई एफआईआर नहीं हो सकती है और शिकायत विचारणीय नहीं है क्योंकि पुलिस के पास अधिकार क्षेत्र नहीं है। वरिष्ठ अधिवक्ता ने कहा कि मामले की जांच उच्चतम न्यायालय ने केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) को सौंप रखी है और राज्य पुलिस यह नहीं देख सकती कि दूरचिकित्सा पद्धति के दिशानिर्देशों का उल्लंघन किया गया है या नहीं।

पढ़ें :- कोरोना संकट के कारण इस बार नहीं सजेंगे दुर्गा पूजा के पंडाल, सीएम ने कहा-घर में स्थापित करें मां की मूर्ति

सुशांत सिंह राजपूत की 14 जून को मौत के बाद से सुशांत के परिवार ने रिया चक्रवर्ती पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। वहीं अब रिया चक्रवर्ती सुशांत के परिवार पर आरोप लगा रही हैं। इससे पहले सुशांत के पिता केके सिंह की शिकायत पर सीबीआई और ईडी है तो वहीँ मामले में सामने आए ड्रग्स कनेक्शन को लेकर एनसीबी भी मामले की जांच कर रही है और अब तक रिया के भाई शोविक चक्रवर्ती सहित सुशांत के स्टाफ सैम्युल मिरांडा (Samuel Miranda) और दीपेश सावंत (Dipesh Sawant) सहित 9 लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। एनसीबी ने रिया से रविवार को करीब 6 घंटों की पूछताछ की थी। सोमवार को रिया से 8 घंटे पूछताछ की गई। रिया को एनसीबी ने आज फिर से पूछताछ के लिए बुलाया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...