चूल्हे से निकली चिंगारी ने 100 झोपड़ियों को कर दिया राख़

fire in lucknow, लखनऊ आग
चूल्हे से निकली चिंगारी ने 100 झोपड़ियों को कर दिया राख़
लखनऊ। राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में रविवार सुबह चूल्हे से निकली चिंगारी ने सैकड़ो लोगों को बेघर कर दिया। हुआ यूं कि यहां झोपड़ी बनाकर करीब 100 परिवार रहते है। रविवार सुबह किसी झोपडी में खाना बनाते वक्त निकली चिंगारी से आग लग गई। जब तक कोई कुछ समझ पाता तब तक आग ने विकराल रूप ले लिया और आस-पास की दर्जनों झोपड़ियां जलने लगीं। स्थानीय लोगो ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी, लेकिन वो काफी देर तक…

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के ठाकुरगंज इलाके में रविवार सुबह चूल्हे से निकली चिंगारी ने सैकड़ो लोगों को बेघर कर दिया। हुआ यूं कि यहां झोपड़ी बनाकर करीब 100 परिवार रहते है। रविवार सुबह किसी झोपडी में खाना बनाते वक्त निकली चिंगारी से आग लग गई। जब तक कोई कुछ समझ पाता तब तक आग ने विकराल रूप ले लिया और आस-पास की दर्जनों झोपड़ियां जलने लगीं। स्थानीय लोगो ने तुरंत इसकी सूचना पुलिस को दी, लेकिन वो काफी देर तक मौके पर नहीं पहुंची जिससे झोपड़िया जलकर राख हो गई। उधर, सूचना के काफी देर बाद मौके पर पहुंची दमकल की गाड़ियों ने आग पर काबू पाने का प्रयास शुरू किया।

fire in lucknow1
चूल्हे से निकली चिंगारी ने 100 झोपड़ियों को कर दिया राख़

ठाकुरगंज के हरिनगर में नगर निगम की खली जमीन पड़ी है। यहां सैकड़ो परिवार झोपडी डालकर रहते है और मजदूरी करके अपना पेट पालते हैं। बताया जाता है कि रविवार सुबह किसी झोपड़ी में खाना बनाते वक्त चूल्हे से चिंगारी निकली और छप्पर पर जा गिरी। कुछ देर सुलगने के बाद चिंगारी ने विकराल रूप ले लिया और झोपड़ी जलने लगी। जब तक कोई कुछ समझ पाता तब आग ने आसपास की सैकड़ो झोपड़ियों को अपनी जद में ले लिया।

आग लगते ही वहां रह रहे लोग जान बचाकर बाहर की तरफ भागे और इसकी सूचना पुलिस को देने के साथ ही दमकल विभाग को दी। स्थानीय लोगो के मुताबिक, दमकल की गाड़िया काफी देर बाद मौके पर पहुंची तब तक सब तबाह हो चुका था। इससे नाराज स्थानीय लोगो ने प्रदर्शन शुरू कर दिया। नाराज लोग बेघर हुए लोगो के लिए मुआवजे की मांग कर रहे थे। इसकी सूचना जैसे ही अधिकारियो को मिली तो वो मौके पर पहुंचे और समझा-बुझाकर लोगो को शांत करा।

{ यह भी पढ़ें:- लखनऊ : फिर इन्दिरानहर में मिले दो युवकों के शव }

फिलहाल इस अग्निकांड में झोपड़ियों के साथ ही वहां रखा सारा सामान जलकर रख हो गया। वही, अपना आशियाना गवां चुके पीड़ितों का रो-रोकर बुरा हाल है।

{ यह भी पढ़ें:- गोमती रिवर फ्रंट में ईडी ने दर्ज करवाया मनी लांड्रिंग का केस, 8 इंजीनियरों के नाम शामिल }

Loading...