1. हिन्दी समाचार
  2. भारत पहुंचा दुनिया का सबसे घातक हेलीकॉप्टर बोइंग AH-64 E अपाचे, जानिए- खूबियां

भारत पहुंचा दुनिया का सबसे घातक हेलीकॉप्टर बोइंग AH-64 E अपाचे, जानिए- खूबियां

First Batch Of Apache Attack Helicopters Arrives At Hindon Airbase Today

By रवि तिवारी 
Updated Date

नई दिल्ली। भारतीय वायुसेना के लड़ाकू विमान और हेली‍कॉप्‍टरों के बेड़े में शामिल होने वाले अमेरिकी लड़ाकू हेलीकॉप्‍टर अपाचे के लिए इंतजार खत्‍म हो रहा है। सूत्रो के मुताबिक, पहली खेप के तहत बोइंग एएच-64 ई अपाचे गाजियाबाद स्थित हिंडन एयरबेस पहुंच गया है। इसे यहां से पंजाब के पठानकोट एयरबेस को रवाना किया जाएगा। यह वायुसेना के MI-35 चॉपर्स की जगह लेगा। जानकारी के मुताबिक, भारत को मशहूर अटैक हेलिकॉप्टर अपाचे की पहली किस्त के तौर पर 4 चॉपर मिल गए हैं।

पढ़ें :- इन 5 राशि वालों की किस्मत बदलेंगे संकट मोचन हनुमान, कामयाबी के खुलेंगे रास्ते, होगा धन लाभ

बता दें कि इसका निर्माण अमेरिका के एरिजोना में हुआ है। भारत ने अमेरिका के साथ 22 ऐसे हेलीकॉप्टर के लिए अनुबंध किया था। इससे पहले वायुसेना को चिकून हैवीलिफ्ट हेलीकॉप्टर मिल चुका है। इसे दुनिया का सबसे खतरनाक मारक हेलिकॉप्टर माना जाता है और यह हेलीकॉप्टर इजराइल, मिस्र और नीदरलैंड के पास ही है।

क्या है अपाचे हेलीकॉप्टर की खासियत

अपाचे AH 64 E हेलीकॉप्टर 30 मिमी की मशीनगन से लैस है जिसमें एक बार में 1200 तक राउंड हो सकते हैं। इसके अलावा अपाचे एंटी टैंक हेलफ़ायर मिसाइल से भी लैस है जिसके बारे में माना जाता है कि इसकी एक मिसाइल एक टैंक को तबाह करने के लिए काफ़ी है। अतिरिक्त हथियार के तौर पर हाइड्रा अनगाइडेड रॉकेट लगा होता है जो किसी ज़मीन के किसी निशाने पर अचूक वार करता है। अपाचे 150 नॉटिकल मील की रफ्तार से उड़ान भर सकता है जो इसे हवा में जबरदस्त रफ्तार से दुश्मन के पास जाने में मदद करता है।

वायुसेना के पास अभी है MI 35 और MI 25 अटैक हेलीकॉप्टर्स

पढ़ें :- शिवपाल सिंह का बड़ा बयान, सपा में विलय नहीं चुनाव में सिर्फ होगा गठबंधन

भारतीय वायुसेना अभी रूस में बने MI 35 और MI 25 अटैक हेलीकॉप्टर्स का इस्तेमाल करती है। इनकी एक स्क्वाड्रन पठानकोट और दूसरी राजस्थान के सूरतगढ़ में तैनात रहती है। ये अच्छे अटैक हेलीकॉप्टर्स हैं लेकिन अब ये तीन दशक पुराने हो चुके हैं। वायुसेना के पास स्वदेशी एडवांस लाइट हेलीकॉप्टर ध्रुव से विकसित किया गया रुद्र अटैक हेलीकॉप्टर भी है। वायुसेना ने स्वदेश में विकसित लाइट कॉम्बेट हेलीकॉप्टर का भी ऑर्डर हिंदुस्तार एयरोनॉटिक्स लिमिटेड को दिया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...