गोरखपुर में मिला कोरोना का पहला मरीज, BRD मेडिकल कॉलेज में किया गया भर्ती

Corona

गोरखपुर: गोरखपुर में भी कोरोना का मरीज मिला है। यह जिले का पहला कोरोना पॉजिटिव है। यह उरुवा के हाटा बुजुर्ग का निवासी बताया जा रहा है। रविवार की रात में इसके संक्रमण होने की पुष्टि हुई है। इसे बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। बीआरडी के प्राचार्य डॉ. गणेश कुमार ने बताया कि हाटा बुजुर्ग निवासी बाबूलाल को रविवार की शाम करीब 07 बजे परिजन एम्बुलेंस से लेकर बाबा राघवदास (बीआरडी) मेडिकल कालेज पहुंचे थे। उसकी सांस फूल रही थी। सीने में दर्द की शिकायत थी। वह बीपी और शुगर का मरीज है। उसकी हालत को देखकर डॉक्टरों ने आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया है। फौरन गले से लार का नमूना कोरोना जांच के लिए भेज दिया गया है।

First Corona Patient Found In Gorakhpur Admitted To Brd Medical College :

प्राचार्य ने बताया कि मरीज की हालत को देखते हुए उसके सैम्पल की सीबीनेट मशीन से जांच करने का फैसला किया गया था। यह मशीन करीब डेढ़ घंटे में रिपोर्ट देती है। रात करीब 10 बजे रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिली। इसकी सूचना कमिश्नर, डीएम और सीएमओ को दे दी गई है। मरीज के साथ ही परिजनों को क्वारंटीन कर दिया गया है। मरीज का इलाज शुरू हो गया है।
प्राचार्य ने बताया कि बाबूलाल रविवार को ही दोपहर में दिल्ली से लौटा था। तीमारदारों ने बताया कि दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शुगर और बीपी के इलाज के लिए भर्ती था। घर पर शाम 05 बजे इसकी तबियत खराब हुई थी। इसे पहले पीएचसी उरुवा ले जाया गया, वहां से जिला अस्पताल फिर बीआरडी लाया गया।

इस सम्बंध में मण्डलायुक्त जयंत नार्लीकर का कहना है कि दिल्ली से रविवार को लौटा हाटा बुजुर्ग का रहने वाला एक व्यक्ति जांच में वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। मेडिकल कॉलेज में उसका इलाज शुरू हो गया है। उसे गांव में मिलने वाले लोगों की जानकारी जुटाई जा रही है। उसे आइसोलेट कर दिया गया है। जरूरी कार्रवाई शुरू कर दी गई है।

गोरखपुर: गोरखपुर में भी कोरोना का मरीज मिला है। यह जिले का पहला कोरोना पॉजिटिव है। यह उरुवा के हाटा बुजुर्ग का निवासी बताया जा रहा है। रविवार की रात में इसके संक्रमण होने की पुष्टि हुई है। इसे बीआरडी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। बीआरडी के प्राचार्य डॉ. गणेश कुमार ने बताया कि हाटा बुजुर्ग निवासी बाबूलाल को रविवार की शाम करीब 07 बजे परिजन एम्बुलेंस से लेकर बाबा राघवदास (बीआरडी) मेडिकल कालेज पहुंचे थे। उसकी सांस फूल रही थी। सीने में दर्द की शिकायत थी। वह बीपी और शुगर का मरीज है। उसकी हालत को देखकर डॉक्टरों ने आइसोलेशन वार्ड में भर्ती किया है। फौरन गले से लार का नमूना कोरोना जांच के लिए भेज दिया गया है। प्राचार्य ने बताया कि मरीज की हालत को देखते हुए उसके सैम्पल की सीबीनेट मशीन से जांच करने का फैसला किया गया था। यह मशीन करीब डेढ़ घंटे में रिपोर्ट देती है। रात करीब 10 बजे रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव मिली। इसकी सूचना कमिश्नर, डीएम और सीएमओ को दे दी गई है। मरीज के साथ ही परिजनों को क्वारंटीन कर दिया गया है। मरीज का इलाज शुरू हो गया है। प्राचार्य ने बताया कि बाबूलाल रविवार को ही दोपहर में दिल्ली से लौटा था। तीमारदारों ने बताया कि दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में शुगर और बीपी के इलाज के लिए भर्ती था। घर पर शाम 05 बजे इसकी तबियत खराब हुई थी। इसे पहले पीएचसी उरुवा ले जाया गया, वहां से जिला अस्पताल फिर बीआरडी लाया गया। इस सम्बंध में मण्डलायुक्त जयंत नार्लीकर का कहना है कि दिल्ली से रविवार को लौटा हाटा बुजुर्ग का रहने वाला एक व्यक्ति जांच में वह कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। मेडिकल कॉलेज में उसका इलाज शुरू हो गया है। उसे गांव में मिलने वाले लोगों की जानकारी जुटाई जा रही है। उसे आइसोलेट कर दिया गया है। जरूरी कार्रवाई शुरू कर दी गई है।