लखनऊ मेट्रो ने पहले दिन ही बनाई यात्रियों की रेल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और राज्यपाल राम नाईक की मौजूदगी में मंगलवार को हरी झंडी पाने वाली लखनऊ मेट्रो की पटरियों पर बुधवार की सुबह यात्री और एलएमआरसी के कर्मचारी दौड़ लगाते नजर आए। लखनऊ मेट्रो का पहला अनुभव लेने के लिए सवार हुए यात्रियों को लेकर आगे बढ़ी। ट्रेन मवैया और दुर्गापुरी के बीच जाम हो गई। मेट्रो के चालक दल को करीब आधे घंटे तक समझ में नहीं आया कि माजरा क्या है, जिसके बाद एलएमआरसी के तकनीकि दल की मदद से यात्रियों को मेट्रो से उतारकर मेट्रो स्टेशन तक पैदल लाया गया।
सूत्रों की माने तो मेट्रो का इमर्जेंसी ब्रेकिंग सिस्टम में खामी आने की वजह से ट्रेन जाम हो गई। जिसके बाद तमाम कोशिशें की गईं लेकिन ट्रेन अपनी जगह से नहीं हिली। एलएमआरसी स्टॉफ ने यात्रियों को उतार कर नजदीकी मेट्रो स्टेशन तक पहुंचाया। इस पूरी घटना में सबसे ज्यादा परेशानी बुजुर्ग यात्रियों को हुई।
हालांकि इस घटना से पहले बुधवार की सुबह दो घंटों तक मेट्रो में यात्रियों की भीड़ देखने को मिली। सुबह से ही मेट्रो में बैठने की सीटें भरी नजर आईं और यात्री खड़े नजर आए।

{ यह भी पढ़ें:- माघ मेले की दुर्व्यवस्था पर साधुओं ने सीएम योगी को लिखा पत्र }

Loading...