1. हिन्दी समाचार
  2. पहले चाकू पर थूक लगाया, फिर तरबूज काटा… और उसके बाद लोगों को बेचा: अब्दुल, अहमद सहित 3 पर एफआईआर

पहले चाकू पर थूक लगाया, फिर तरबूज काटा… और उसके बाद लोगों को बेचा: अब्दुल, अहमद सहित 3 पर एफआईआर

First Spit On The Knife Then Cut The Watermelon And Then Sold To People Fir On 3 Including Abdul Ahmed

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

भोपाल: मध्य प्रदेश के रायसेन का एक वीडियो सामने आया था, जिसमें एक व्यक्ति थूक लगा कर फल बेचता हुआ दिखा था। उसका नाम शेरू मियाँ है, जिसे पुलिस ने धर-दबोचा है। उसे जेल भेज दिया गया है। वीडियो वायरल होने के बाद उक्त फल विक्रेता के ख़िलाफ़ लोगों ने आवाज़ उठाई थी। वहीं उसकी बेटी का कहना था कि उसके अब्बा को ऐसे ही नोट गिनने की आदत है, जिसके कारण ऐसा हुआ। पुलिस के अनुसार, शेरू के परिवार के लोग कह रहे हैं कि उसकी मानसिक स्थिति ठीक नहीं है।

पढ़ें :- कोरोना वैक्सीनेशन करवा उत्सव है डॉक्टर फैमिली, अहमदाबाद सीएम बोले- भ्रम-भय और संकोच के...

उधर ये मामला अभी शांत हुआ भी नहीं था कि दक्षिणी मध्य प्रदेश के बैतूल बाजार में एक नया मामला सामने आया है। आरोपित अब्दुल रफीक, सादी अहमद, रितेश मधाना ऑटो रिक्शा से तरबूज बेच रहे थे। ये घटना शुक्रवार (अप्रैल 3, 2020) शाम की है। ये लोग चाकू पर थूक लगा कर तरबूज काट रहे थे। इस दौरान पुरुषोत्तम यादव ने देखा कि पहले चाकू पर थूक लगाया जा रहा था और फिर तरबूज काटा जा रहा था।

इसकी सूचना पुरुषोत्तम यादव ने तत्काल बजरंग दल के विभाग संयोजक कृष्णकांत गावंडे को दी। उन्होंने कुछ युवाओं एवं प्रत्यक्षदर्शी के साथ थाने पहुँच कर मामले की रिपोर्ट दी। चाकू पर थूक लगाकर तरबूज काटकर बेचने की शिकायत पर बैतूल बाजार पुलिस ने 3 लोगों के खिलाफ FIR कर लिया है। पुलिस ने उनका तरबूज से भरा ऑटो भी जब्त कर लिया गया। कई प्रत्यक्षदर्शियों ने इस घटना को देखा, जिसके बाद पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई।

उधर फलों पर थूक वाले मामले में कोतवाली थाना प्रभारी जगदीश सिंह सिद्धू ने शेरू की गिरफ़्तारी की पुष्टि की है। उन्होंने बताया कि पुलिस अब शेरू के मानसिक संतुलन की जाँच कराएगी, ताकि ये पता लग सके कि परिवार के दावों में कितनी सच्चाई है। उसके ख़िलाफ़ शुक्रवार (अप्रैल 3, 2020) को शिकायत मिली थी, जिसके बाद वीडियो की जाँच की गई। जाँच में वीडियो को सही पाया गया। ये वीडियो 16 फ़रवरी का है। जब ये वीडियो सामने आया तो ‘ऑल्ट न्यूज़’ ने उसे बचाने और पाक-साफ़ साबित करने के लिए एक कथित फैक्ट-चेक भी किया था। इसमें उसे ‘बुजुर्ग ठेले वाला’ बता कर उसे बचाने की कोशिश की गई थी और वीडियो को पुराना कहा गया था।

कई लोगों ने इस वीडियो को कोरोना वायरस के खतरों से भी जोड़ा था। टिक-टॉक पर इस वीडियो को दीपक नामदेव ने शेयर किया था और पुलिस में शिकायत भी उन्होंने ही की थी। इससे कुछ दिनों पहले एक अन्य वीडियो सामने आया था, जिसमें एक सब्जी विक्रेता सब्जियों को नाली में डाल कर भिगोते हुए दिख रहा था। कई लोगों ने ऐसे फल व सब्जी विक्रेताओं के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई करने की माँग की थी।

पढ़ें :- महराजगंज:महिला अस्पताल में सीएमओ को लगा पहला टीका, डीएम ने जांची व्यवस्था

opindia से साभार

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...