नये साल पर योगी कैबिनेट ने इन अहम प्रस्ताओं पर लगाई मुहर

यूपी आईपीएस ट्रान्सफर, तबादला यूपी
यूपी में 43 आईपीएस के तबादले, शलभ माथुर बने एसएसपी गोरखपुर

लखनऊ। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को नए साल की पहली कैबिनेट बैठक हुई। इस बैठक में कई अहम प्रस्ताओं पर कैबिनेट ने अपनी मुहर लगाई है। इन प्रस्ताओं पर लगी मुहर-

First Up Cabinet For This Year Yogi Government :

  • श्रम विभाग द्वारा पंजीकृत श्रमिको के लिए आवास और आवासीय प्रोजेक्ट जहां पर चल रहे है, वहां पर श्रमिको के जीआईएस सर्वे के तहत मजदूरों का पंजीकरण होगा।
  • निकायों में केंद्रीयत और अकेंद्रीयत सेवा के ग्रेड पे-1900 से 4200 तक के रिक्त पदों की भर्ती का काम अधीनस्थ सेवा चयन आयोग करेगा, जो को नगर विकास विभाग कर रहा था।
  • श्रमिको का अंशदान अब 1 वर्ष में भी मान्य होगा। अब तक 5 वर्ष में मान्य होता था। जो भवन बन रहे हैं उनमें जीआईएस सर्वे की व्यवथा होगी।
  • जीआईएस सर्वे कराकर लोगो को शामिल किया जाएगा।
  • आर्थिक सहायता श्रमिको को देने का प्रावधान किया गया है। संग्रह धनराशि से 25 फीसदी तक सहायता दी जा सकेगी।
  • उत्तर प्रदेश पालिका सेवा एवं जल संस्थान के सीधी भर्ती को रद्द करके अधीनस्थ सेवा के तहत भर्ती होगी आजम खान का पलटा योगी सरकार ने फैसला।
  • एआईबीपी सिंचाई विभाग की बड़ी परियोजना को लेकर प्रदेश सरकार नाबार्ड से लोन लेगी।
  • वाराणसी एनएच से जुड़ेगा। इलाहाबाद अयोध्या और गोरखपुर को पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से जोड़े जाने का फैसला लिया है।
  • शराब बनाने में प्रयोग होने वाले अल्कोहल पर लगने वाले टैक्स की दरें घटाने पर कैबिनेट की मोहर।
  • मेट्रो रेल परियोजना को पूरे प्रदेश में लागू करने के लिए उत्तर प्रदेश मेट्रो कारपोरेशन की स्थापना होगी।

ये हैं कैबिनेट बैठक के महत्वपूर्ण बिंदु-

  • भवन निर्माण के श्रमिकों को लाभ देने के लिए भवन निर्माण नियमावली में परिवर्तन
  • श्रमिको को आर्थिक सहायता देने का प्रावधान
  • पालिका एवं जल सेवा में सीधी भर्ती के लिए अब फिर से अधीनस्त सेवा से ही भर्ती होगी
  • राज्य विश्वविद्यालय में शिक्षा के लिए रिटायर अध्यापको के लिए मानदेय बढ़ा
  • 2400 करोड़ नाबार्ड के लिए शासकीय गारंटी का अनुमोदन
  • शराब की दरों में संशोधन
  • एआईवीपी के तहत कुछ नदियों की सिचाई के लिए लोन प्राप्त करने का निर्णय
  • मध्य गंगा परियोजना के लिए नाबार्ड से लोन का निर्णय
  • उत्तर प्रदेश औद्योगिक सेवायोजन नियमावली में संशोधन
  • पूर्वांचल एक्सप्रेस की बिड के लिए रिकवेस्ट फ़ॉर प्रपोसल
  • अब सड़क का निर्माण 4 धार्मिक स्थलों को जोड़ा जाएगा उनमे इलाहाबाद गोरखपुर वाराणसी व अयोध्या शामिल हैं। 340 किलोमीटर का है वे। इंडियन एयरलाइंस की स्ट्रिप भी बनेगी
लखनऊ। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को नए साल की पहली कैबिनेट बैठक हुई। इस बैठक में कई अहम प्रस्ताओं पर कैबिनेट ने अपनी मुहर लगाई है। इन प्रस्ताओं पर लगी मुहर-
  • श्रम विभाग द्वारा पंजीकृत श्रमिको के लिए आवास और आवासीय प्रोजेक्ट जहां पर चल रहे है, वहां पर श्रमिको के जीआईएस सर्वे के तहत मजदूरों का पंजीकरण होगा।
  • निकायों में केंद्रीयत और अकेंद्रीयत सेवा के ग्रेड पे-1900 से 4200 तक के रिक्त पदों की भर्ती का काम अधीनस्थ सेवा चयन आयोग करेगा, जो को नगर विकास विभाग कर रहा था।
  • श्रमिको का अंशदान अब 1 वर्ष में भी मान्य होगा। अब तक 5 वर्ष में मान्य होता था। जो भवन बन रहे हैं उनमें जीआईएस सर्वे की व्यवथा होगी।
  • जीआईएस सर्वे कराकर लोगो को शामिल किया जाएगा।
  • आर्थिक सहायता श्रमिको को देने का प्रावधान किया गया है। संग्रह धनराशि से 25 फीसदी तक सहायता दी जा सकेगी।
  • उत्तर प्रदेश पालिका सेवा एवं जल संस्थान के सीधी भर्ती को रद्द करके अधीनस्थ सेवा के तहत भर्ती होगी आजम खान का पलटा योगी सरकार ने फैसला।
  • एआईबीपी सिंचाई विभाग की बड़ी परियोजना को लेकर प्रदेश सरकार नाबार्ड से लोन लेगी।
  • वाराणसी एनएच से जुड़ेगा। इलाहाबाद अयोध्या और गोरखपुर को पूर्वांचल एक्सप्रेसवे से जोड़े जाने का फैसला लिया है।
  • शराब बनाने में प्रयोग होने वाले अल्कोहल पर लगने वाले टैक्स की दरें घटाने पर कैबिनेट की मोहर।
  • मेट्रो रेल परियोजना को पूरे प्रदेश में लागू करने के लिए उत्तर प्रदेश मेट्रो कारपोरेशन की स्थापना होगी।
ये हैं कैबिनेट बैठक के महत्वपूर्ण बिंदु-
  • भवन निर्माण के श्रमिकों को लाभ देने के लिए भवन निर्माण नियमावली में परिवर्तन
  • श्रमिको को आर्थिक सहायता देने का प्रावधान
  • पालिका एवं जल सेवा में सीधी भर्ती के लिए अब फिर से अधीनस्त सेवा से ही भर्ती होगी
  • राज्य विश्वविद्यालय में शिक्षा के लिए रिटायर अध्यापको के लिए मानदेय बढ़ा
  • 2400 करोड़ नाबार्ड के लिए शासकीय गारंटी का अनुमोदन
  • शराब की दरों में संशोधन
  • एआईवीपी के तहत कुछ नदियों की सिचाई के लिए लोन प्राप्त करने का निर्णय
  • मध्य गंगा परियोजना के लिए नाबार्ड से लोन का निर्णय
  • उत्तर प्रदेश औद्योगिक सेवायोजन नियमावली में संशोधन
  • पूर्वांचल एक्सप्रेस की बिड के लिए रिकवेस्ट फ़ॉर प्रपोसल
  • अब सड़क का निर्माण 4 धार्मिक स्थलों को जोड़ा जाएगा उनमे इलाहाबाद गोरखपुर वाराणसी व अयोध्या शामिल हैं। 340 किलोमीटर का है वे। इंडियन एयरलाइंस की स्ट्रिप भी बनेगी