देश को मिली पहली ऑल वुमेन SWAT टीम, पीएम मोदी की सुरक्षा में होगी तैनात

swat-team-pm-modi
देश को मिली पहली ऑल वुमेन SWAT टीम, पीएम मोदी की सुरक्षा में होगी तैनात

नई दिल्ली। स्वतन्त्रता दिवस से ठीक पहले खुफिया एजेंसियों द्वारा जारी अलर्ट को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सुरक्षाकर्मियों ने कमान संभाल ली है। ऐसे में लाल किले में आयोजित होने वाले कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा की कमान देश की पहली विशेष महिला स्वाट(स्‍पेशल विपन एंड टेक्‍ट‍िस) टीम संभालेगी। अमेरिका की तर्ज पर अब भारत की भी एक महिला स्वाट टीम होगी। इस टीम को गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा दिल्ली की सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा।

First Women Swat Team Will Protect Pm Modi :

इन सभी महिला कमांडोज को देशी-विदेशी विशेषज्ञों द्वारा 15 महीने का कड़ा प्रशिक्षण दिया गया है। ये पहला मौका है जब लाखों की भीड़ की मौजूदगी में होने वाले स्वतंत्रता दिवस जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए महिला स्वाट टीम को तैनात किया जा रहा है। इस स्वाट टीम में कुल 40 महिला कॉन्स्टेबल हैं जिनमें से 36 उत्तरपूर्वी राज्यों से हैं।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार स्वाट टीम को बनाने का आइडिया दिल्ली के पुलिस कमीश्नर अमूल्य पटनायक ने दिया था। उनका मानना था कि आतंकी हमले और बंधक बनाए जाने की स्थिति में ये टीम किसी पर भी भारी पड़ने की क्षमता रखती है। इस टीम में शामिल महिला पुलिस अध‍िकारियों को स्‍पेशल कमांडो ट्रेनिंग दी गई है। वे टैरर स्ट्राइक और हॉस्टेज क्राइसिस, ऐसी किसी भी स्थिति से निपटने के ट्रेंड हैं।

इस टीम को हथियार न होने की स्थिति में भी लड़ने की ट्रेनिंग दी गई है। इसके लिए इन्हें इजराइली कर्व मागा की ट्रेनिंग दी गई है। इसके अलावा इन्हें जीलॉक 21 पिस्टल, एमपी5 सबमशीन गन की भी एक्सपर्ट ट्रेनिंग दी गई है। इस तरह की टीम दुनिया के कई बड़े देशों के पास नहीं है। इसी कारण वैश्विक तौर पर भारत के लिए यह एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।

नई दिल्ली। स्वतन्त्रता दिवस से ठीक पहले खुफिया एजेंसियों द्वारा जारी अलर्ट को ध्यान में रखते हुए राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में सुरक्षाकर्मियों ने कमान संभाल ली है। ऐसे में लाल किले में आयोजित होने वाले कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सुरक्षा की कमान देश की पहली विशेष महिला स्वाट(स्‍पेशल विपन एंड टेक्‍ट‍िस) टीम संभालेगी। अमेरिका की तर्ज पर अब भारत की भी एक महिला स्वाट टीम होगी। इस टीम को गृह मंत्री राजनाथ सिंह द्वारा दिल्ली की सुरक्षा के लिए तैनात किया जाएगा।इन सभी महिला कमांडोज को देशी-विदेशी विशेषज्ञों द्वारा 15 महीने का कड़ा प्रशिक्षण दिया गया है। ये पहला मौका है जब लाखों की भीड़ की मौजूदगी में होने वाले स्वतंत्रता दिवस जैसे महत्वपूर्ण कार्यक्रम के दौरान प्रधानमंत्री की सुरक्षा के लिए महिला स्वाट टीम को तैनात किया जा रहा है। इस स्वाट टीम में कुल 40 महिला कॉन्स्टेबल हैं जिनमें से 36 उत्तरपूर्वी राज्यों से हैं।मीडिया रिपोर्ट के अनुसार स्वाट टीम को बनाने का आइडिया दिल्ली के पुलिस कमीश्नर अमूल्य पटनायक ने दिया था। उनका मानना था कि आतंकी हमले और बंधक बनाए जाने की स्थिति में ये टीम किसी पर भी भारी पड़ने की क्षमता रखती है। इस टीम में शामिल महिला पुलिस अध‍िकारियों को स्‍पेशल कमांडो ट्रेनिंग दी गई है। वे टैरर स्ट्राइक और हॉस्टेज क्राइसिस, ऐसी किसी भी स्थिति से निपटने के ट्रेंड हैं।इस टीम को हथियार न होने की स्थिति में भी लड़ने की ट्रेनिंग दी गई है। इसके लिए इन्हें इजराइली कर्व मागा की ट्रेनिंग दी गई है। इसके अलावा इन्हें जीलॉक 21 पिस्टल, एमपी5 सबमशीन गन की भी एक्सपर्ट ट्रेनिंग दी गई है। इस तरह की टीम दुनिया के कई बड़े देशों के पास नहीं है। इसी कारण वैश्विक तौर पर भारत के लिए यह एक बहुत बड़ी उपलब्धि है।