कैबिनेट मंत्री से मांगी पांच करोड़ की रंगदारी, कोतवाली में रिपोर्ट दर्ज

c

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार में स्टांप एवं उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी से पांच करोड़ की रंगदारी मांगी गई है। पैसा न देने पर जान से मार डालने की धमकी भी दी गई। काबीना मंत्री से रंगदारी मांगने की सूचना पर पुलिस अफसरों के बीच खलबली मच गई।

Five Crore Rupees Demand By Unknown Person From Cabinet Minister Nand Gopal Gupta :

एसएसपी के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करके उसकी तलाश शुरू कर दी है। कैबिनेट मंत्री नंदी के मुताबिक 12 मई दोपहर 12.10 बजे उनके प्राइवेट मोबाइल नंबर पर कॉल आई। उनके कॉल रिसीव करते ही दूसरी तरफ से बात कर रहे व्यक्ति ने गाली गलौच शुरू हो गई।

उन्होंने परिचय पूछा तब उसने धमकाना शुरू कर दिया। फोन करने वाले ने धमकाते हुए कहा बहुत बड़े मंत्री बन रहे हो अगर पांच करोड़ नहीं दोगे तो परिवार वालों की हत्या करा दूंगा। मंत्री के मुताबिक फोन करने वाले ने थोड़ी देर बाद मोबाइल पर एक मैसेज भी भेजा। इसमें वर्ष 2010 में हुए रिमोट बम का हवाला देते हुए उसने समय पर पैसे नहीं भिजवाने पर उसी तरह से हत्या करा देने की धमकी दी। मंत्री ने धमकी भरी कॉल आने की सूचना एसएसपी को दी।

उसके बाद बुधवार को मंत्री के सहायक सुभाष वाजपेई की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। महापौर अभिलाषा गुप्ता के मुताबिक फोन करने वाला अनजान शख्स है। फोन पर उसकी आवाज नहीं पहचानी जा सकी। नंदी को मोबाइल फोन पर धमकी मिलने का यह पहला मामला नहीं है।

इसके पहले नंदी को फरवरी 2018 में जान से मारने की धमकी दी गई। इसी तरह महापौर अभिलाषा गुप्ता को दो बार रंगदारी मांगते हुए धमकाया जा चुका है। अभिलाषा को 2016 में फेसबुक पर जान से मार देने की धमकी दी गई। उसके बाद 18 जून 2018 को भी फोन पर धमकाते हुए रंगदारी मांगी गई।

इस मामले में कोतवाली पुलिस ने नैनी से एक युवक को भी गिरफ्तार किया था जिसने नशे में धमकी भरा फोन करने की बात कुबूली थी। मोबाइल कॉल रिकॉर्ड के जरिए आरोपी का पता लगाया जा रहा है। सर्विलांस टीम की भी मदद ली जा रही है आरोपी की जल्द गिरफ्तारी की जाएगी।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार में स्टांप एवं उड्डयन मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी से पांच करोड़ की रंगदारी मांगी गई है। पैसा न देने पर जान से मार डालने की धमकी भी दी गई। काबीना मंत्री से रंगदारी मांगने की सूचना पर पुलिस अफसरों के बीच खलबली मच गई। एसएसपी के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करके उसकी तलाश शुरू कर दी है। कैबिनेट मंत्री नंदी के मुताबिक 12 मई दोपहर 12.10 बजे उनके प्राइवेट मोबाइल नंबर पर कॉल आई। उनके कॉल रिसीव करते ही दूसरी तरफ से बात कर रहे व्यक्ति ने गाली गलौच शुरू हो गई। उन्होंने परिचय पूछा तब उसने धमकाना शुरू कर दिया। फोन करने वाले ने धमकाते हुए कहा बहुत बड़े मंत्री बन रहे हो अगर पांच करोड़ नहीं दोगे तो परिवार वालों की हत्या करा दूंगा। मंत्री के मुताबिक फोन करने वाले ने थोड़ी देर बाद मोबाइल पर एक मैसेज भी भेजा। इसमें वर्ष 2010 में हुए रिमोट बम का हवाला देते हुए उसने समय पर पैसे नहीं भिजवाने पर उसी तरह से हत्या करा देने की धमकी दी। मंत्री ने धमकी भरी कॉल आने की सूचना एसएसपी को दी। उसके बाद बुधवार को मंत्री के सहायक सुभाष वाजपेई की तहरीर पर कोतवाली पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कर ली है। महापौर अभिलाषा गुप्ता के मुताबिक फोन करने वाला अनजान शख्स है। फोन पर उसकी आवाज नहीं पहचानी जा सकी। नंदी को मोबाइल फोन पर धमकी मिलने का यह पहला मामला नहीं है। इसके पहले नंदी को फरवरी 2018 में जान से मारने की धमकी दी गई। इसी तरह महापौर अभिलाषा गुप्ता को दो बार रंगदारी मांगते हुए धमकाया जा चुका है। अभिलाषा को 2016 में फेसबुक पर जान से मार देने की धमकी दी गई। उसके बाद 18 जून 2018 को भी फोन पर धमकाते हुए रंगदारी मांगी गई। इस मामले में कोतवाली पुलिस ने नैनी से एक युवक को भी गिरफ्तार किया था जिसने नशे में धमकी भरा फोन करने की बात कुबूली थी। मोबाइल कॉल रिकॉर्ड के जरिए आरोपी का पता लगाया जा रहा है। सर्विलांस टीम की भी मदद ली जा रही है आरोपी की जल्द गिरफ्तारी की जाएगी।