नाले की सफाई करने उतरे पांच कर्मचारी की दम घुटने से मौत, नहीं थे सुरक्षा के ​उपकरण

ghaziabad
नाले की सफाई करने उतरे पांच मजदूरों की दम घुटने से मौत, नहीं थे सुरक्षा के ​उपकरण

गाजियाबाद। गाजियाबाद के सिहा​नीगेट क्षेत्र के नंदग्राम क्षेत्र में गुरुवार को एक बड़ा हादसा हुआ। इस हादसे में पांच लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। दरअसल, नाले की सफाई करने उतरे पांच मजदूर उसमें बेहोश हो गए। आनन—फानन में उन्हें नाले से बाहर निकाला गया लेकिन तब तक उन्होंने दम तोड़ दिया था। बताया जा रहा है कि, नाले में उतरे लोगों के पास सुरक्षा के उपकरण नहीं थे, जिसके कारण उनकी जान गई है। वहीं मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।

Five Sanitation Workers Dies Inside A Sewage Manhole In Ghaziabad :

एसएसपी सुधीर कुमार ने बताया कि फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। घटना कैसे हुई? ये लोग किसके कहने पर सफाई के लिए उतरे थे? उनके पास सुरक्षा के उपकरण थे कि नहीं सब की जांच की जाएगी। बता दें कि, वार्ड नंबर 11 की पार्षद माया देवी ने बताया कि कृष्णाकुंज का मामला है।

यहां पर जल निगम की पाइप डालने और सीवर का काम चल रहा है। इसको लेकर वहां पर खुदाई चल रही थी। ऐसे में ठेकेदार के दो लोग पहले गए लेकिन वह काफी देर बाद बाहर नहीं आए। इसके बाद दो व्यक्ति और गए लेकिन वह भी नहीं निकले। इसके बाद एक व्यक्ति वहां पहुंचा और उसकी भी दम घुटने से मौत हो गयी।

गाजियाबाद। गाजियाबाद के सिहा​नीगेट क्षेत्र के नंदग्राम क्षेत्र में गुरुवार को एक बड़ा हादसा हुआ। इस हादसे में पांच लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। दरअसल, नाले की सफाई करने उतरे पांच मजदूर उसमें बेहोश हो गए। आनन—फानन में उन्हें नाले से बाहर निकाला गया लेकिन तब तक उन्होंने दम तोड़ दिया था। बताया जा रहा है कि, नाले में उतरे लोगों के पास सुरक्षा के उपकरण नहीं थे, जिसके कारण उनकी जान गई है। वहीं मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। एसएसपी सुधीर कुमार ने बताया कि फिलहाल मामले की जांच की जा रही है। घटना कैसे हुई? ये लोग किसके कहने पर सफाई के लिए उतरे थे? उनके पास सुरक्षा के उपकरण थे कि नहीं सब की जांच की जाएगी। बता दें कि, वार्ड नंबर 11 की पार्षद माया देवी ने बताया कि कृष्णाकुंज का मामला है। यहां पर जल निगम की पाइप डालने और सीवर का काम चल रहा है। इसको लेकर वहां पर खुदाई चल रही थी। ऐसे में ठेकेदार के दो लोग पहले गए लेकिन वह काफी देर बाद बाहर नहीं आए। इसके बाद दो व्यक्ति और गए लेकिन वह भी नहीं निकले। इसके बाद एक व्यक्ति वहां पहुंचा और उसकी भी दम घुटने से मौत हो गयी।