केरल: बाढ़ के कहर में 29 की मौत, 54000 लोग बेघर

केरल, बाढ़ ,kerala
केरल बाढ़: 12 जिलों में रेड एलर्ट के साथ कोच्चि हवाई अड्डा बंद, मरने वालों की संख्या हुई 67

तिरुअनंतपुरम। केरल में भारी बारिश का कहर जारी है। भीषण बारिश और भूस्खलन के चलते अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है और लगभग 54000 लोग बेघर हो गए हैं। भारी बारिश के कारण कई नदियां उफान पर हैं जिस कारण राज्य के विभिन्न हिस्सों में कम से कम 24 बांधों को खोल दिया गया है। राहत और बचाव कार्य के लिए आर्मी की कुल आठ टीमें लगाई गई हैं। नेवी द्वारा चलाए गए ‘ऑपरेशन मदद’ के जरिए केरल के पहाड़ी इलाकों से अबतक 55 लोगों को बचाया जा चुका है। वयानड जिले के 1964 परिवारों के 10400 लोगों को राहत कैंपों में शिफ्ट किया गया है।

शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने केरल के मुख्यमंत्री पिन्नाराई विजयन से फोन पर बात की और उन्हें बचाव और राहत कार्य के लिए हरसंभव मदद देने का आश्वासन दिया। राजनाथ सिंह ने ट्वीट करके बताया कि केंद्रीय गृह मंत्रालय केरल में बाढ़ के हालात पर नजर रखे हुए है। दक्षिण-पश्चिम मानसून ने केरल पर कहर बरपा रखा है। इससे राज्य में पिछले दो दिनों से मूसलाधार बारिश हो रही है।

{ यह भी पढ़ें:- बाढ़ का कहर जारी: केरल में अब तक 100 से ज्यादा लोगों की मौत, राहत कार्य जारी }

पीएम मोदी ने ट्वीट किया, ‘केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन से बातचीत की और राज्य के विभिन्न हिस्सों में बाढ़ से उत्पन्न स्थिति पर चर्चा की। हमने प्रभावित लोगों के लिए सभी संभव सहायता की पेशकश की। हम इस त्रासदी में केरल के लोगों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हैं।’

{ यह भी पढ़ें:- केरल बाढ़: 12 जिलों में रेड एलर्ट के साथ कोच्चि हवाई अड्डा बंद, मरने वालों की संख्या हुई 67 }

तिरुअनंतपुरम। केरल में भारी बारिश का कहर जारी है। भीषण बारिश और भूस्खलन के चलते अब तक 29 लोगों की मौत हो चुकी है और लगभग 54000 लोग बेघर हो गए हैं। भारी बारिश के कारण कई नदियां उफान पर हैं जिस कारण राज्य के विभिन्न हिस्सों में कम से कम 24 बांधों को खोल दिया गया है। राहत और बचाव कार्य के लिए आर्मी की कुल आठ टीमें लगाई गई हैं। नेवी द्वारा चलाए गए 'ऑपरेशन मदद' के जरिए…
Loading...