नही रूक रहा NHAI में भ्रष्टाचार, अब बस्ती में ढहा निर्माणाधीन ओवरब्रिज

overbidge collapsed
नही रूक रहा NHAI में भ्रष्टाचार, अब बस्ती में ढहा निर्माणाधीन ओवरब्रिज

बस्ती। एनएचएआई में फैला भ्रष्टाचार कम होने का नाम नही ले रहा है। इसकी बानगी शनिवार को बस्ती जिले में देखने को मिली। वाराणसी मे गिरे फ्लाइओवर का मामला अभी ठंडा भी नही हुआ था कि शनिवार सुबह बस्ती के फुट​हिया में निर्माणाधीन फ्लाइओवर ओवर गिर गया। जिसके मलबे की चपेट में आकर आधा दर्जन लोग घायल हो गये, जबकि दो लोगों के मलबे में दबे होने की बात सामने आई है। घटना होते ही मौके पर हड़कंप मच गया। आनन—फानन में पुलिस वहां पहुंची और बचावकार्य शुरु ​कराने के साथ घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया।

Flyover On National Highway 28 Collapsed In Basti Earlier Friday Morning :

बता दें कि फुटहिया ओवरब्रिज का निर्माण तकरीबन 80 फीसदी से ज्यादा पूरा हो गया था। इसी दौरान शनिवार को अचानक यह ब्रिज ढह गया। घटना की सूचना के बाद मौके पर जिले के डीएम राजशेखर पहुंचे और जांच के निर्देश दे दिए। मलबे में फंसे लोगों को बचाने के लिए बचाव दल के द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। उधर यूपी के बस्ती में फ्लाइओवर ढहने के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फ्लाइओवर गिरने की सूचना मिलने के बाद ऐक्शन लेते हुए तत्काल राहत कार्य शुरू करने और यातायात सुचारू कराने के निर्देश दिए हैं।

घटना के बाद बस्ती जिले से बीजेपी सांसद हरीश द्विवेदी भी मौके पर पहुंचे, उन्होने कहा कि यह प्रॉजेक्ट केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय की ओर से चल रहा था। उन्होने कहा कि निर्माण में भ्रष्टाचार करने वाले लोगों की जांच कराकर उनकी खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। बीजेपी सांसद ने कहा कि हमने परिवहन मंत्रालय के अधिकारियों से बातचीत करके और जिलाधिकारी से मामले की जानकारी लेकर कहा है कि जल्द से जल्द जांच कराकर सभी दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।

89 दिनों धराशाही हुए यूपी के दो ओवरब्रिज

बता दें कि 15 मई को वाराणसी में हुए फ्लाइओवर हादसे में 18 लोगों की मौत हो गई थी। घटना के बाद सरकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए विशेष कमेटी गठित करते हुए मामले की जांच कराई। जिसके बाद हादसे का जिम्मेदार मानते हुए सेतु निगम के कई अफसरों पर भी कार्रवाई की गई थी। वाराणसी हादसे में जिम्मेदार 7 इंजिनियरों और एक ठेकेदार को पुलिस ने गिरफ्तार किया। इसके बाद अब बस्ती में हुई ये घटना कही न कहीं विभाग में फैले भ्रष्टाचार को उजागर कर रही है।

बस्ती। एनएचएआई में फैला भ्रष्टाचार कम होने का नाम नही ले रहा है। इसकी बानगी शनिवार को बस्ती जिले में देखने को मिली। वाराणसी मे गिरे फ्लाइओवर का मामला अभी ठंडा भी नही हुआ था कि शनिवार सुबह बस्ती के फुट​हिया में निर्माणाधीन फ्लाइओवर ओवर गिर गया। जिसके मलबे की चपेट में आकर आधा दर्जन लोग घायल हो गये, जबकि दो लोगों के मलबे में दबे होने की बात सामने आई है। घटना होते ही मौके पर हड़कंप मच गया। आनन—फानन में पुलिस वहां पहुंची और बचावकार्य शुरु ​कराने के साथ घायलों को जिला अस्पताल पहुंचाया।बता दें कि फुटहिया ओवरब्रिज का निर्माण तकरीबन 80 फीसदी से ज्यादा पूरा हो गया था। इसी दौरान शनिवार को अचानक यह ब्रिज ढह गया। घटना की सूचना के बाद मौके पर जिले के डीएम राजशेखर पहुंचे और जांच के निर्देश दे दिए। मलबे में फंसे लोगों को बचाने के लिए बचाव दल के द्वारा रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जा रहा है। उधर यूपी के बस्ती में फ्लाइओवर ढहने के मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने फ्लाइओवर गिरने की सूचना मिलने के बाद ऐक्शन लेते हुए तत्काल राहत कार्य शुरू करने और यातायात सुचारू कराने के निर्देश दिए हैं।घटना के बाद बस्ती जिले से बीजेपी सांसद हरीश द्विवेदी भी मौके पर पहुंचे, उन्होने कहा कि यह प्रॉजेक्ट केंद्रीय सड़क एवं परिवहन मंत्रालय की ओर से चल रहा था। उन्होने कहा कि निर्माण में भ्रष्टाचार करने वाले लोगों की जांच कराकर उनकी खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। बीजेपी सांसद ने कहा कि हमने परिवहन मंत्रालय के अधिकारियों से बातचीत करके और जिलाधिकारी से मामले की जानकारी लेकर कहा है कि जल्द से जल्द जांच कराकर सभी दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए।89 दिनों धराशाही हुए यूपी के दो ओवरब्रिज बता दें कि 15 मई को वाराणसी में हुए फ्लाइओवर हादसे में 18 लोगों की मौत हो गई थी। घटना के बाद सरकार ने मामले को गंभीरता से लेते हुए विशेष कमेटी गठित करते हुए मामले की जांच कराई। जिसके बाद हादसे का जिम्मेदार मानते हुए सेतु निगम के कई अफसरों पर भी कार्रवाई की गई थी। वाराणसी हादसे में जिम्मेदार 7 इंजिनियरों और एक ठेकेदार को पुलिस ने गिरफ्तार किया। इसके बाद अब बस्ती में हुई ये घटना कही न कहीं विभाग में फैले भ्रष्टाचार को उजागर कर रही है।