प्याज की बढ़ती कीमतों पर बोले खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान

ram vilas paswan
प्याज की बढ़ती कीमतों पर बोले खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली समेत देशभर में बीते 20 दिनों से लगातार बढ़ रही प्याज की कीमतों ने सब्जी का जायका खराब कर दिया है। उधर, प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर केन्द्रीय खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि बाढ़ के चलते महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश का बुरा हाल है। सड़क परिवहन पूरी तरह बाधित हो चुका है। यह भी प्याज के दाम बढ़ने की एक वजह है। पासवान ने कहा कि हमने पचास हजान टन बफर स्टॉक रखा है ताकि स्थिति का सामना किया जा सके।

Food And Supplies Minister Ram Vilas Paswan Said On Onion Prices Rising :

गौरतलब है कि दिल्ली में प्याज का खुदरा भाव 70 से 80 रुपये प्रति किलोग्राम की ऊंचाई पर पहुंच चुका है। बीते 20 दिनों में प्याज का भाव 35 रुपये से बढ़कर 70 रुपये के पार निकल गया है। ऐसे में केंद्र सरकार प्याज व्यापारियों के भंडारण की सीमा तय करने पर विचार कर रही है। प्रमुख प्याज उत्पादक राज्यों में मानसून की भारी बारिश से आपूर्ति प्रभावित हुई है जिसकी वजह से इसकी कीमतों में उछाल आया है।

उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में पिछले सप्ताह प्याज की खुदरा कीमत 57 रुपये किलो रही। वहीं मुंबई में यह 56 रुपये, कोलकाता में 48 रुपये और चेन्नई में 34 रुपये किलो थी। गुरुग्राम और जम्मू में प्याज 60 रुपये किलो पर पहुंच गया है।

आपको बता दें कि दिल्‍ली में प्‍याज की कीमत जैसे ही बढ़ती है, तो मौजूदा सरकार के मंत्रियों की धड़कने तेज हो जाती हैं। प्‍याज की कीमतों के मुद्दे पर ही दिल्‍ली में एक बार भाजपा की सरकार गिर गई थी। शायद इसीलिए कीमत 80 रुपये पहुंचते ही दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 24 रुपये किलो में लोगों को प्‍याज उपलब्‍ध कराने की तैयारी की। सोमवार को केजरीवाल ने बताया कि इसके लिए योजना तैयार की जा रही है और 10 दिनों के भीतर लोगों तक वह सस्‍ती दरों पर प्‍याज पहुंचा देंगे। हालांकि, केंद्र सरकार ने दिल्‍ली की आप सरकार को पीछे छोड़ते हुए आज से ही राशन की दुकानों से सस्ते भाव पर प्याज बेच रहा है। इस बीच खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने कहा कि देश में प्‍याज का कोई संकट नहीं है, बाढ़ के कारण यातायात प्रभावित होने की वजह से कीमतों में वृद्धि हुई है। इस स्थिति पर जल्‍द काबू पा लिया जाएगा।

केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने कहा कि देश के कई राज्‍य इन दिनों बाढ़ से प्रभावित हैं। इनमें मध्‍य प्रदेश और महाराष्‍ट्र जैसे राज्‍य भी शामिल हैं, जिनमें प्‍याज का काफी उत्‍पादन होता है। बाढ़ की वजह से इन राज्‍यों में यातायात प्रभावित हुआ है, जिस कारण प्‍याज मंडी में कम आ रही है।

पासवान ने जानकारी दी कि देश में प्‍याज का भरपूर स्‍टॉक है। उन्‍होंने बताया कि सरकार के पास ही 50 हजार टन प्याज का स्टॉक रखा हुआ है। ऐसे में लोगों को प्‍याज की बढ़ी कीमत को लेकर घबराने की ज्‍यादा आवश्‍यकता नहीं है।
इधर, कांग्रेस को प्‍याज की बढ़ती कीमतों के रूप में मोदी सरकार पर हमला करने का एक मौका मिल गया है। कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा, ‘पिछले कुछ महीनों से कई राज्‍यों में आई बाढ़ के कारण किसानों की फसल बर्बाद हो गई है। इसकी वजह से कीमतों में तेजी से वृद्धि हुई है।

नई दिल्ली। राजधानी दिल्ली समेत देशभर में बीते 20 दिनों से लगातार बढ़ रही प्याज की कीमतों ने सब्जी का जायका खराब कर दिया है। उधर, प्याज की बढ़ती कीमतों को लेकर केन्द्रीय खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री रामविलास पासवान ने कहा कि बाढ़ के चलते महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश का बुरा हाल है। सड़क परिवहन पूरी तरह बाधित हो चुका है। यह भी प्याज के दाम बढ़ने की एक वजह है। पासवान ने कहा कि हमने पचास हजान टन बफर स्टॉक रखा है ताकि स्थिति का सामना किया जा सके। गौरतलब है कि दिल्ली में प्याज का खुदरा भाव 70 से 80 रुपये प्रति किलोग्राम की ऊंचाई पर पहुंच चुका है। बीते 20 दिनों में प्याज का भाव 35 रुपये से बढ़कर 70 रुपये के पार निकल गया है। ऐसे में केंद्र सरकार प्याज व्यापारियों के भंडारण की सीमा तय करने पर विचार कर रही है। प्रमुख प्याज उत्पादक राज्यों में मानसून की भारी बारिश से आपूर्ति प्रभावित हुई है जिसकी वजह से इसकी कीमतों में उछाल आया है। उपभोक्ता मामलों के मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, दिल्ली में पिछले सप्ताह प्याज की खुदरा कीमत 57 रुपये किलो रही। वहीं मुंबई में यह 56 रुपये, कोलकाता में 48 रुपये और चेन्नई में 34 रुपये किलो थी। गुरुग्राम और जम्मू में प्याज 60 रुपये किलो पर पहुंच गया है। आपको बता दें कि दिल्‍ली में प्‍याज की कीमत जैसे ही बढ़ती है, तो मौजूदा सरकार के मंत्रियों की धड़कने तेज हो जाती हैं। प्‍याज की कीमतों के मुद्दे पर ही दिल्‍ली में एक बार भाजपा की सरकार गिर गई थी। शायद इसीलिए कीमत 80 रुपये पहुंचते ही दिल्‍ली के मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने 24 रुपये किलो में लोगों को प्‍याज उपलब्‍ध कराने की तैयारी की। सोमवार को केजरीवाल ने बताया कि इसके लिए योजना तैयार की जा रही है और 10 दिनों के भीतर लोगों तक वह सस्‍ती दरों पर प्‍याज पहुंचा देंगे। हालांकि, केंद्र सरकार ने दिल्‍ली की आप सरकार को पीछे छोड़ते हुए आज से ही राशन की दुकानों से सस्ते भाव पर प्याज बेच रहा है। इस बीच खाद्य आपूर्ति एवं उपभोक्ता मामलों के मंत्री राम विलास पासवान ने कहा कि देश में प्‍याज का कोई संकट नहीं है, बाढ़ के कारण यातायात प्रभावित होने की वजह से कीमतों में वृद्धि हुई है। इस स्थिति पर जल्‍द काबू पा लिया जाएगा। केंद्रीय मंत्री राम विलास पासवान ने कहा कि देश के कई राज्‍य इन दिनों बाढ़ से प्रभावित हैं। इनमें मध्‍य प्रदेश और महाराष्‍ट्र जैसे राज्‍य भी शामिल हैं, जिनमें प्‍याज का काफी उत्‍पादन होता है। बाढ़ की वजह से इन राज्‍यों में यातायात प्रभावित हुआ है, जिस कारण प्‍याज मंडी में कम आ रही है। पासवान ने जानकारी दी कि देश में प्‍याज का भरपूर स्‍टॉक है। उन्‍होंने बताया कि सरकार के पास ही 50 हजार टन प्याज का स्टॉक रखा हुआ है। ऐसे में लोगों को प्‍याज की बढ़ी कीमत को लेकर घबराने की ज्‍यादा आवश्‍यकता नहीं है। इधर, कांग्रेस को प्‍याज की बढ़ती कीमतों के रूप में मोदी सरकार पर हमला करने का एक मौका मिल गया है। कांग्रेस ने ट्वीट कर कहा, 'पिछले कुछ महीनों से कई राज्‍यों में आई बाढ़ के कारण किसानों की फसल बर्बाद हो गई है। इसकी वजह से कीमतों में तेजी से वृद्धि हुई है।