1. हिन्दी समाचार
  2. खेल प्रशिक्षक पर फर्जी जन्म प्रमाण पत्र के जरिये नौकरी पाने का आरोप, सीबीआई जांच की मांग

खेल प्रशिक्षक पर फर्जी जन्म प्रमाण पत्र के जरिये नौकरी पाने का आरोप, सीबीआई जांच की मांग

Football Khiladi Ne Sangh Pr Lagaye Aarop

By टीम पर्दाफाश 
Updated Date

आगरा: जिला फुटबाल संघ ने सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को दिए शिकायती पत्र में फुटबॉल खिलाड़ी और खेल प्रशिक्षक रहीं वर्षा रानी के खिलाफ सीबीआई जांच की मांग की है। वर्षा रानी पर उत्तर प्रदेश फुटबाल संघ को बदनाम करने और झूठे आरोप लगाकर संघ की छवि धूमिल करने का भी आरोप लगाया गया है। वर्षा रानी जूनियर और सीनियर नेशनल महिला फुटबाल प्रतियोगिता में उत्तर प्रदेश का प्रतिनिधित्व कर चुकी है और पिछले तीन साल मुरादाबाद में अंशकालीन खेल प्रशिक्षक के रूप में तैनात रहीं है।

पढ़ें :- अंडरवर्ल्ड ले डूबा इन 5 अभिनेत्रियों का करियर, कोई गई जेल, तो कोई बनी संन्यासिनी

जिला फुटबाल संघ आगरा के अध्यक्ष बिल्लू चौहान द्वारा की गई शिकायत में वर्षा रानी पर फर्जी जन्म प्रमाण पत्र के जरिये नेशनल प्रतियोगिता में हिस्सा लेने और खेल प्रशिक्षक का पद हासिल करने का आरोप लगाया गया है। शिकायत के मुताबिक वर्षा रानी ने सबसे पहले 2013-14 में उड़ीसा के कटक में आयोजित जूनियर नेशनल महिला फुटबाल प्रतियोगिता में हिस्सा लिया था जिसमें उन्होंने अपनी जन्म तिथि 11 जनवरी 1996 दर्शाई थी, इसके बाद 2018-19 में सीनियर महिला नेशनल फुटबाल प्रतियोगिता में वर्षा रानी ने जो जन्म प्रमाण पत्र पेश किया उसमें उनकी जन्मतिथि 11 जनवरी 1995 बताई गई।

शिकायतकर्ता के मुताबिक वर्षा रानी के द्वारा जमा प्रमाण पत्र को जब जांच कराई गई तो वह जांच में फर्जी पाया गया था। वर्षा रानी ने सीनियर महिला प्रतियोगिता के लिए जो प्रमाण पत्र पेश किया था वह मुरादाबाद नगर निगम द्वारा शाह उबैद नबाब नाम के बच्चे को जारी किया गया था। शिकायतकर्ता बिल्लू चौहान ने आरोप लगाया है कि वर्षा रानी ने उक्त जन्म प्रमाण पत्र को स्कैन कराकर उसमें हेरफेर किया और अपना नाम दर्ज कराया लेकिन सीरियल नम्बर के चलते वह पकड़ में आ गयी।

मुख्यमंत्री को की गई शिकायत में वर्षा रानी के खिलाफ सीबीआई जांच करने, फर्जी प्रमाण पत्र से अंशकालीन प्रशिक्षक की नौकरी हासिल कर सरकारी धन के दुरुपयोग करने के आरोप लगाए गए है। इसके साथ ही वर्षा रानी को दिए गए जूनियर ओर सीनियर प्रतियोगिता के प्रमाण पत्र जब्त करने की मांग की गई है।

वहीं दूसरी ओर फुटबाल खिलाड़ी और अंशकालीन खेल प्रशिक्षक रही वर्षा रानी ने अपने ऊपर लगाए गए सभी आरोपों को निराधार बताया है और हालिया शिकायत को अपने साथ हुए दुर्व्यहवार के मामले में समझौता करने की रणनीति का हिस्सा बताया है। वर्षा रानी के मुताबिक उत्तर प्रदेश फुटबाल संघ के सयुंक्त महासचिव द्वारा उनके साथ दुर्व्यहवार और मानसिक उत्पीड़न किया गया जिसकी शिकायत वह पहले ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से कर चुकी है।

पढ़ें :- इन अभिनेत्रियों ने अपने दम पर बनाई बॉलीवुड में पहचान, नंबर 1 को मिल चुके है 3 नेशनल अवॉर्ड

वर्षा रानी के मुताबिक कटक में सीनियर नेशनल फुटबाल प्रतियोगिता में वह टीम का हिस्सा थी लेकिन उसे मैदान में नही उतारा गया और उत्तर प्रदेश फुटबाल संघ के सयुंक्त महासचिव द्वारा भारतीय फुटबाल संघ से दिए प्रमाण पत्र पर वेरी पुअर परफॉर्मेंस की टिप्पड़ी लिख दी गयी। वर्षा रानी ने खेल प्रशिक्षक रहते हुए संयुक्त महासचिव पर गलत कार्य करने का दबाव बनाने का भी आरोप लगाया है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि जब मुझे खेलने का मौका ही नही दिया तो वेरी पुअर परफॉर्मेंस कैसे हो सकती है।

उन्होंने यह भी बताया कि फुटबॉल संघ के महासचिव द्वारा उनसे अपने साथ रहने की भी बात की थी फिलहाल इस से पहले 2014 में इस मामले में महासचिव के ऊपर पाक्सो एक्ट की कार्यवाही भी की गई थी। इसके बाद उन्होंने बताया कि फुटवाल संघ के महासचिव ने उन्हें अपने साथ रहने का दवाब भी बनाया था जब उन्होंने इस बात का विरोध किया तो उनके ऊपर ये कार्यवाही की गई है जब उनसे फर्जी प्रमाण पत्र के बारे में पूछा गया तो उन्होंने बताया कि मेरा उन प्रमाण पत्रों से कोई लेना देना नही है, जिस पंजीकरण का प्रमाण पत्र इन लोगो ने फर्जी बताया है वो किए शाह ओवैस के नाम से है और वो नासिर कमाल जो कि फुटवाल संघ के सेक्रेटरी है उनका कोई रिश्तेदार है इस मामले की भी जांच होनी चाहिये।

फिलहाल पूरे मामले में वर्षा रानी और उत्तर प्रदेश फुटबाल संघ आमने-सामने है और एक दूसरे पर हर रोज गम्भीर आरोप लगा रहें है। मामले की सत्यता जांच के बाद ही सामने आएगी लेकिन इस मामले के बाद खिलाड़ियों का मनोबल बुरी तरह प्रभावित हो रहा है।

रिपोर्ट- रूपक त्यागी

पढ़ें :- बॉलीवुड की इन 5 अभिनेत्रियों ने ट्रांसपेरेंट ड्रेस पहन इवेंट मचाई खलबली

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे...