1. हिन्दी समाचार
  2. दुनिया
  3. केंद्र सरकार लेगी बड़ा फैसला, किराना स्टोर खोलने के लिए अब नहीं लगेंगे ज़्यादा डॉक्युमेंट्स

केंद्र सरकार लेगी बड़ा फैसला, किराना स्टोर खोलने के लिए अब नहीं लगेंगे ज़्यादा डॉक्युमेंट्स

By पर्दाफाश समूह 
Updated Date

For Opening Kirana Store Restaurants Not Much Licence Needed In Few Months

नई दिल्ली। कारोबार करने के अभी तक किराना स्टोर और ढाबा या रेस्टोरेंट खोलने के लिए कई तरह के लाइसेंस लेने पड़ते थे मगर अब ऐसा नहीं होगा। केंद्र सरकार किराना स्टोर और रेस्टोरेंट खोल रहे कारोबारियों के लिए एक नई सौगात लेकर आने वाली है। केंद्र सरकार के अनुसार जल्द ही कारोबारियों को अपना व्यापार शुरू करने के लिए ज्यादा लाइसेंस लेने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

पढ़ें :- मोदी से मदद के सवाल पर बोले चिराग- अगर हनुमान को राम से मदद मांगनी पड़े तो फिर काहे के राम?

बता दें कि किराना स्टोर को खोलने से पहले 28 तरह की अलग-अलग मंजूरी और लाइसेंस लेने पड़ते हैं। वहीं ढाबा या फिर रेस्टोरेंट खोलने से पहले 17 तरह के लाइसेंस लेने पड़ते है। इसके बाद ही कोई अपना व्यापार शुरू कर सकता है। एक तरफ जहां छोटे-मोटे कारोबार को 24 -28 तरह के डॉक्यूमेंट्स तैयार करने पड़ते है। वहीं, हथियार खरीदने से पहले लाइसेंस लेने के लिए केवल 13 डॉक्यूमेंट्स जमा करने होते हैं। जिसके चलते सरकार ये फैसला लेने जा रही है कि रेस्टोरेंट या फिर किराना स्टोर खोलने के लिए अब किसी भी कारोबार को अपने लाइसेंस का नवीनीकरण भी नहीं कराना होगा।

सरकार ने Ease of Doing Business को बढ़ावा देने के लिए कारोबारियों का कारोबार शुरू करने के लिए ज़्यादा लाइसेंस ना बनाने का फैसला करने वाली है। इस लिए वो नियमों में ढील देना चाहती है, ताकि लोग आसानी से अपना खुद का कारोबार कर सकें। अभी किराना कारोबारियों को जो 28 लाइसेंस लेने पड़ते हैं उनमें प्रमुख तौर पर जीएसटी रजिस्ट्रेशन के अलावा Shops and Establishments Act, Insecticides और Measurement Department से मंजूरी लेना आवश्यक है।

वहीं, रेस्टोरेंट खोलने से पहले 17 लाइसेंस लेने पड़ते हैं, जिनमें प्रमुख तौर पर Fire department से NOC, बोर्ड लगाने की मंजूरी, नगर निगम या फिर पालिका से मंजूरी, संगीत बजाने के लिए लाइसेंस और फूड रेग्यूलेटर से FSSAI से मंजूरी लेनी पड़ती है। बात करें चीन या सिंगापुर देशों कि तो यहां रेस्टोरेंट खोलने के लिए चार तरह की मंजूरी लेनी पड़ती हैं।

पढ़ें :- जि‍नेवा समिट शुरू : जो बाइडेन और व्लादिमीर पुतिन ने मिलाया हाथ, इन मुद्दों पर चर्चा की उम्मीद

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X