विदेश मंत्री का बड़ा बयान, POK भारत का हिस्सा है, इसे लेकर रहेंगे

S Jaishankar
विदेश मंत्री का बड़ा बयान, POK भारत का हिस्सा है, इसे लेकर रहेंगे

नई दिल्‍ली। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे हो चुके हैं। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने विदेश मंत्रालय के 100 दिन पूरे होने पर बड़ा बयान देते हुए कहा है कि पीओके भारत का हिस्सा है। विदेश मंत्री ने अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर भारत के बढ़ते रसूख से लेकर कश्‍मीर मुद्दे पर पाकिस्‍तान से तनाव को लेकर भी जवाब दिए। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि कि उम्मीद है कि जल्द ही गुलाम कश्मीर भारत का हिस्सा होगा।

Foreign Ministers Statement Pok Is Part Of India Will Take It :

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पाकिस्‍तान का नाम लिए बगैर कि हमारा पड़ोसी आतंक के खिलाफ कार्रवाई नहीं करता, तब तक उसके साथ कोई बातचीत नहीं हो सकती। कश्‍मीर को अंतरराष्‍ट्रीय मुद्दा बनाने के प्रयासों को लेकर विदेश मंत्री ने कहा कि भारत की स्‍थिति मजबूत हुई हैं। उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बहरीन, मालदीव, रूस दौरे का जिक्र करते हुए कहा कि इन सौ दिनों में कई देशों के साथ हमारे संबंध मजबूत हुए हैं।

विदेश मंत्री ने लद्दाख में पांगोंग झील के करीब भारत व चीनी सेना के आमने सामने होने के मुद्दे पर कहा, ‘वहां लड़ाई नहीं हुई। वहां दोनों देशों के सैनिक तैनात थे, अब मामले का समाधान हो गया।

विदेश मंत्री ने कहा कि अफ्रीका के साथ संबंध और प्रगाढ़ हुए हैं। जल्द ही वहां 18 भारतीय दूतावास खोले जाएंगे। बता दें कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन हाल में ही पूरे हुए हैं। उन्‍होंने कहा कि अब जी 20, ब्रिक्‍स जैसे बहुपक्षीय मंचों पर भारत की आवाज सुनी जाने लगी है।

बता दें कि जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से मोदी सरकार के कई मंत्री पीओके को लेकर बयान दे चुके हैं। हाल ही में केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा था कि अगला एजेंडा पीओके को फिर से हासिल करना है।

नई दिल्‍ली। मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे हो चुके हैं। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने विदेश मंत्रालय के 100 दिन पूरे होने पर बड़ा बयान देते हुए कहा है कि पीओके भारत का हिस्सा है। विदेश मंत्री ने अंतरराष्‍ट्रीय स्‍तर पर भारत के बढ़ते रसूख से लेकर कश्‍मीर मुद्दे पर पाकिस्‍तान से तनाव को लेकर भी जवाब दिए। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने कहा कि कि उम्मीद है कि जल्द ही गुलाम कश्मीर भारत का हिस्सा होगा। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने पाकिस्‍तान का नाम लिए बगैर कि हमारा पड़ोसी आतंक के खिलाफ कार्रवाई नहीं करता, तब तक उसके साथ कोई बातचीत नहीं हो सकती। कश्‍मीर को अंतरराष्‍ट्रीय मुद्दा बनाने के प्रयासों को लेकर विदेश मंत्री ने कहा कि भारत की स्‍थिति मजबूत हुई हैं। उन्‍होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बहरीन, मालदीव, रूस दौरे का जिक्र करते हुए कहा कि इन सौ दिनों में कई देशों के साथ हमारे संबंध मजबूत हुए हैं। विदेश मंत्री ने लद्दाख में पांगोंग झील के करीब भारत व चीनी सेना के आमने सामने होने के मुद्दे पर कहा, ‘वहां लड़ाई नहीं हुई। वहां दोनों देशों के सैनिक तैनात थे, अब मामले का समाधान हो गया। विदेश मंत्री ने कहा कि अफ्रीका के साथ संबंध और प्रगाढ़ हुए हैं। जल्द ही वहां 18 भारतीय दूतावास खोले जाएंगे। बता दें कि मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन हाल में ही पूरे हुए हैं। उन्‍होंने कहा कि अब जी 20, ब्रिक्‍स जैसे बहुपक्षीय मंचों पर भारत की आवाज सुनी जाने लगी है। बता दें कि जम्मू और कश्मीर से धारा 370 हटाए जाने के बाद से मोदी सरकार के कई मंत्री पीओके को लेकर बयान दे चुके हैं। हाल ही में केंद्रीय मंत्री जितेंद्र सिंह ने कहा था कि अगला एजेंडा पीओके को फिर से हासिल करना है।