1. हिन्दी समाचार
  2. उत्तर प्रदेश
  3. Former BJP MP Hukam Singh के बहू की छत से गिर मौत, जानें क्या था माजरा?

Former BJP MP Hukam Singh के बहू की छत से गिर मौत, जानें क्या था माजरा?

यूपी के शामली जिले (Shamli District) में बंदरों के आतंक इस कदर व्याप्त है कि इसकी वजह से भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता की पत्नी की मौत हो गई है। कैराना कस्बे में बंदरों के उत्पात की खबरें आम होने के बावजूद इस पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसी का नतीजा है कि बंदरों के हमले से भाजपा के वरिष्ठ नेता अनिल चौहान (BJP leader Anil Chauhan) की पत्नी और जिला पंचायत की पूर्व सदस्य (Former member of Zilla Panchayat) सुषमा चौहान (Sushma Chauhan) की मौत हो गई।

By संतोष सिंह 
Updated Date

शामली। यूपी के शामली जिले (Shamli District) में बंदरों के आतंक इस कदर व्याप्त है कि इसकी वजह से भारतीय जनता पार्टी (BJP) नेता की पत्नी की मौत हो गई है। कैराना कस्बे में बंदरों के उत्पात की खबरें आम होने के बावजूद इस पर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसी का नतीजा है कि बंदरों के हमले से भाजपा के वरिष्ठ नेता अनिल चौहान (BJP leader Anil Chauhan) की पत्नी और जिला पंचायत की पूर्व सदस्य (Former member of Zilla Panchayat) सुषमा चौहान (Sushma Chauhan) की मौत हो गई।

पढ़ें :- भाजपा का घर-घर संपर्क अभियान शुरू,पत्रक बांट बताई गईं उपलब्धियां
Jai Ho India App Panchang

बता दें कि सुषमा चौहान (Sushma Chauhan)  की दूसरी मंजिल से गिरकर मौत हो गई है। भाजपा के पूर्व सांसद स्वर्गीय बाबू हुकम सिंह (Former BJP MP Late Babu Hukam Singh) के भतीजे और वरिष्ठ भाजपा नेता अनिल चौहान की पत्नी सुषमा भी सक्रिय राजनीति में रह चुकी हैं। वह वार्ड नंबर 13 से जिला पंचायत सदस्य थीं। मंगलवार सुबह करीब 7 बजे वह मंदिर से पूजा कर लौटी तो देखा कि घर की दूसरी मंजिल पर बंदरों का झुंड मौजूद है। सुषमा बंदरों को भगा रही थीं। इसी दौरान बंदरों ने उन पर झपट्टा मार दिया है। इसी दौरान सुषमा का संतुलन बिगड़ा और वह सीढ़ियों से फिसलकर सीधे फर्श पर आ गिरीं। आनन-फानन में पति अनिल चौहान व परिवार के अन्य सदस्य उन्हें शामली (Shamli ) के एक प्राइवेट अस्पताल में ले गए, जहां डॉक्टरों ने सुषमा चौहान (Sushma Chauhan)  को मृत घोषित कर दिया।

उनकी मौत की सूचना पर क्षेत्र में शोक छा गया है। हजारों लोगों की मौजूदगी में मायापुर फार्म हाउस (Mayapur Farm House) पर अंतिम संस्कार किया गया । इस घटना से क्षेत्र में शोक की लहर है। इसके साथ ही लोगों में गुस्सा है। लोगों का कहना है कि कैराना कस्बे में बंदरों का आतंक बढ़ गया है, लेकिन इस पर कार्रवाई नहीं की जा रही है। इस हादसे के बाद नगर पालिका (Municipality)  ने बंदरों को पकड़वाने की कोशिश शुरू कर दी है। नगर पालिका  के  चेयरमैन हाजी अनवर हसन (Chairman of Municipality Haji Anwar Hasan) ने बताया कि बंदरों को पकड़ने के लिए मथुरा की टीम से संपर्क किया गया था, टीम ने बताया कि वह अभी लखनऊ साइड में बंदर पकड़ रहे हैं। दो-तीन दिन बाद जब वह मथुरा वापस आएंगे तो फिर संपर्क करेंगे।

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...