पूर्व CM मुलायम सिंह यादव की बिगड़ी तबीयत, संजय गांधी पीजीआई में भर्ती

Mulayam Singh
पूर्व CM मुलायम सिंह यादव की बिगड़ी तबीयत, संजय गांधी पीजीआई में भर्ती

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम व सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को तबीयत बिगड़ने की वजह से पीजीआई अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। हालांकि उनके करीबियों का कहना है कि रूटीन चेकअप के लिए लाया गया है लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के मुूताबिक उनके पेट में दर्द था जिसको लेकर उन्हे पीजीआई अस्पताल लाया गया था।

Former Cm Mulayam Mulayam Singhs Health Deteriorated Admitted To Pgi :

 

उनके इलाज के लिए पीजीआई अस्पताल ने डॉक्टरों की पूरी टीम लगायी है जो उनकी सारी जांच कर रही है। वहीं पीजीआई के निदेशक का कहना है कि रूटीन जांच के लिए उन्हें भर्ती किया गया है। मुलायम सिंह यादव लंबे समय से डायबिटीज, शुगर और कार्डियो की बीमारियों से पीड़ित हैं। बीते कुछ महीनो से मुलायम सिंह थोड़ा अस्वस्थ रहने लगे हैंं। इस साल जून में भी उन्हे यूरिनरी रिटेंशन की शिकायत के चलते गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया गया था।

आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में इस बार मुलायम सिंह मैनपुरी सीट से चुनाव लड़े थे और चुनाव जीतने के बाद संसद में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान उन्होने अपनी सीट से ही शपथ ग्रहण ली थी। बताया जा रहा है कि उन्हें हाईपर ग्लाईसिमिया और हाईपर डायबीटिज की समस्या है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम व सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव को तबीयत बिगड़ने की वजह से पीजीआई अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। हालांकि उनके करीबियों का कहना है कि रूटीन चेकअप के लिए लाया गया है लेकिन सूत्रों से मिली जानकारी के मुूताबिक उनके पेट में दर्द था जिसको लेकर उन्हे पीजीआई अस्पताल लाया गया था।   उनके इलाज के लिए पीजीआई अस्पताल ने डॉक्टरों की पूरी टीम लगायी है जो उनकी सारी जांच कर रही है। वहीं पीजीआई के निदेशक का कहना है कि रूटीन जांच के लिए उन्हें भर्ती किया गया है। मुलायम सिंह यादव लंबे समय से डायबिटीज, शुगर और कार्डियो की बीमारियों से पीड़ित हैं। बीते कुछ महीनो से मुलायम सिंह थोड़ा अस्वस्थ रहने लगे हैंं। इस साल जून में भी उन्हे यूरिनरी रिटेंशन की शिकायत के चलते गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। आपको बता दें कि लोकसभा चुनाव में इस बार मुलायम सिंह मैनपुरी सीट से चुनाव लड़े थे और चुनाव जीतने के बाद संसद में शपथ ग्रहण समारोह के दौरान उन्होने अपनी सीट से ही शपथ ग्रहण ली थी। बताया जा रहा है कि उन्हें हाईपर ग्लाईसिमिया और हाईपर डायबीटिज की समस्या है।