आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री किरण कुमार रेड्डी की कांग्रेस में वापसी

reddy
आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री किरण कुमार रेड्डी की कांग्रेस में वापसी

नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन किरण कुमार रेड्डी ने आज चार साल बाद ‘घर वापसी’ की। वे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में पार्टी में दोबारा शामिल हो गए। के. रोसैया की जगह सीएम बनने वाले रेड्डी ने वर्ष 2014 में राज्‍य के बंटवारे के विरोध में कांग्रेस छोड़ दिया था। और नई पार्टी ‘जय समैक्यांध्र’ बना ली थी। लोकसभा चुनाव में ‘जय समैक्यांध्र पार्टी शून्य पर सिमट गई थी।

कांग्रेस के आंध्र प्रदेश प्रभारी ओमन चांडी,कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला , वरिष्ठ नेता पल्लम राजू और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष एन. रघुवीर रेड्डी की मौजूदगी में किरण कुमार रेड्डी कांग्रेस में शामिल हुए।

{ यह भी पढ़ें:- मोदी को कहा था ‘नीच’, राहुल गांधी ने रद्द किया मणिशंकर अय्यर का निलंबन }

सुरजेवाला ने कांग्रेस में उनका स्वागत करते हुए कहा कि रेड्डी ने पहले भी कांग्रेस की सेवा की है और आगे भी करते रहेंगे। किरण कुमार रेड्डी ने फरवरी 2014 में कांग्रेस छोड़ दी थी और ‘जय समयक्या आंध्र पार्टी’ का गठन किया था। यही नहीं कई सीटों पर उनकी पार्टी के उम्‍मीदवारों की जमानत जब्‍त हो गई। रेड्डी ने राज्‍य के बंटवारे के विरोध में कांग्रेस नेताओं लगडापति राजगोपाल, सब्‍बम हरी, उनदवल्‍ली अरुण कुमार की कोर टीम का नेतृत्‍व किया है। कांग्रेस के ये नेता बाद में एमपी बने।

अरुण कुमार और राजगोपाल तथा हरी कांग्रेस में बने रहे लेकिन हर्ष कुमार चुनाव के समय किरण कुमार रेड्डी के साथ आ गए थे। आश्‍चर्यजनक बात यह रही कि उनकी वापसी के समय इनमें से कोई भी कांग्रेस नेता मौजूद नहीं था।

{ यह भी पढ़ें:- पाक आर्मी चीफ बाजवा के गले लग बीजेपी के निशाने पर आए सिद्धू }

नई दिल्ली। आंध्र प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एन किरण कुमार रेड्डी ने आज चार साल बाद 'घर वापसी' की। वे कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में पार्टी में दोबारा शामिल हो गए। के. रोसैया की जगह सीएम बनने वाले रेड्डी ने वर्ष 2014 में राज्‍य के बंटवारे के विरोध में कांग्रेस छोड़ दिया था। और नई पार्टी 'जय समैक्यांध्र' बना ली थी। लोकसभा चुनाव में 'जय समैक्यांध्र पार्टी शून्य पर सिमट गई थी। कांग्रेस के आंध्र प्रदेश प्रभारी ओमन…
Loading...