हरियाणा के पूर्व सीएम ने धारा 370 पर सरकार के फैसले का किया समर्थन, कहा देशभक्ति से नहीं कर सकता समझौता

bs hudda
हरियाणा के पूर्व सीएम ने धारा 370 पर सरकार के फैसले का किया समर्थन, कहा देशभक्ति से नहीं कर सकता समझौता

नई दिल्ली। हरियाणा के पूर्व सीएम और कांग्रेस के बड़े नेताओं में शुमार बीएस हुड्डा ने धारा 370 को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होने कहा कि वो आर्टिकल 370 पर सरकार के फैसले का समर्थन किया है। उन्होने कहा कि वो देशभक्ति को लेकर कोई समझौता नहीं कर सकते हैं। इसलिए मैंने आर्टिकल 370 का समर्थन किया।

Former Haryana Cm Supports Governments Decision On Section 370 Says I Cannot Compromise On Patriotism :

भूपेन्द्र सिंह रोहतक में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होने कहा कि ‘जब सरकार कुछ अच्छा करती है तो मैं समर्थन करता हूं। आर्टिकल 370 को हटाए जाने के फैसले पर मेरे कई साथियों ने विरोध किया, मेरी पार्टी ने भी किया। यह वह कांग्रेस नहीं है, जो पहले हुआ करती थी। जब देशभक्ति और स्वाभिमान की बात आती है, तो मैं किसी के साथ समझौता नहीं करूंगा।’

बता दें कि बीएस हुड्डा ने आगे कहा कि मैं आर्टिकल 370 को हटाए जाने के फैसले का समर्थन करता हूं, मगर मैं हरियाणा सरकार से कहना चाहता हूं कि आपने पांच साल में क्या किया है, इसका हिसाब देना होगा। उन्होने कहा कि केन्द्र सरकार के इस फैसले के पीछे छिपने की कोशिश मत करिएगा। हरियाणा के हमारे भाई कश्मीर में सैनिकों के रूप में तैनात हैं, यही वजह है कि मैंने इसका समर्थन किया।

नई दिल्ली। हरियाणा के पूर्व सीएम और कांग्रेस के बड़े नेताओं में शुमार बीएस हुड्डा ने धारा 370 को लेकर एक बड़ा बयान दिया है। उन्होने कहा कि वो आर्टिकल 370 पर सरकार के फैसले का समर्थन किया है। उन्होने कहा कि वो देशभक्ति को लेकर कोई समझौता नहीं कर सकते हैं। इसलिए मैंने आर्टिकल 370 का समर्थन किया। भूपेन्द्र सिंह रोहतक में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। इस दौरान उन्होने कहा कि 'जब सरकार कुछ अच्छा करती है तो मैं समर्थन करता हूं। आर्टिकल 370 को हटाए जाने के फैसले पर मेरे कई साथियों ने विरोध किया, मेरी पार्टी ने भी किया। यह वह कांग्रेस नहीं है, जो पहले हुआ करती थी। जब देशभक्ति और स्वाभिमान की बात आती है, तो मैं किसी के साथ समझौता नहीं करूंगा।' बता दें कि बीएस हुड्डा ने आगे कहा कि मैं आर्टिकल 370 को हटाए जाने के फैसले का समर्थन करता हूं, मगर मैं हरियाणा सरकार से कहना चाहता हूं कि आपने पांच साल में क्या किया है, इसका हिसाब देना होगा। उन्होने कहा कि केन्द्र सरकार के इस फैसले के पीछे छिपने की कोशिश मत करिएगा। हरियाणा के हमारे भाई कश्मीर में सैनिकों के रूप में तैनात हैं, यही वजह है कि मैंने इसका समर्थन किया।