1. हिन्दी समाचार
  2. देश
  3. पूर्व पीएम अटल बिहारी की भतीजी का कोरोना से निधन, पार्टी ने व्यक्त किया शोक

पूर्व पीएम अटल बिहारी की भतीजी का कोरोना से निधन, पार्टी ने व्यक्त किया शोक

पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी और कांग्रेस नेता करुणा शुक्ला कोरोना से जंग हार गई। सोमवार देर रात रायपुर के रामकृष्ण अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली है। छत्तीसगढ़ भारतीय जनता पार्टी ने पूर्व सांसद करुणा शुक्ला का आकस्मिक निधन को अपूरणीय क्षति बताते हुए गहरा शोक व्यक्त किया है।

By संतोष सिंह 
Updated Date

Former Mp Atal Biharis Niece Former Mp Karuna Shukla Dies Party Mourns

रायपुर। पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की भतीजी और कांग्रेस नेता करुणा शुक्ला कोरोना से जंग हार गई। सोमवार देर रात रायपुर के रामकृष्ण अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली है। दिवंगत नेता करुणा शुक्ला का अंतिम संस्कार मंगलवार को बलौदा बाजार में होगा। करुणा शुक्ला के निधन पर छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल ने शोक जाहिर किया है।

पढ़ें :- देते हैं जो भगवान को धोखा, वो इंसान को क्या छोड़ेंगे : कांग्रेस

 

छत्तीसगढ़ भारतीय जनता पार्टी ने पूर्व सांसद करुणा शुक्ला का आकस्मिक निधन को अपूरणीय क्षति बताते हुए गहरा शोक व्यक्त किया है। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने पूर्व सांसद एवं वरिष्ठ नेत्री श्रीमती शुक्ला के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए कहा कि अपने नाम के अनुरूप ही वे करुणा की मूर्ति थी। राजनीति से अलग करुणा जी का स्नेह हम सबको प्राप्त था। उन्होंने कहा कि करुणा दीदी के रूप में हमने आज एक एक मुखर आवाज़, स्त्री शक्ति की एक प्रखर प्रतीक को खोया है। इस क्षति की भरपाई कठिन है। दीदी के आकस्मिक निधन से भाजपा शोकाकुल है।

पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने कहा कि एक कुशल नेत्री, अद्भुत संगठनात्मक क्षमता की धनी विधायक, सांसद के रूप में जनता की सच्ची प्रतिनिधि करुणा जी हमेशा जनहित के लिए आवाज बुलंद करती रही। पूर्व प्रधानमंत्री स्व. अटल जी की भतीजी होने के बावजूद भी राजनीतिक सामाजिक और संगठन के क्षेत्र में अपनी नेतृत्व क्षमता अद्भुत राजनीतिक समझ व कुशलता के दम पर अपनी अलग छवि स्थापित करने वाली नेत्री का असमय निधन हम सभी के लिए अपूरणीय क्षति है। उन्होंने कहा कि उनके साथ काम करने का लंबा अनुभव उनकी यादों के रूप में हमेशा हमारे हृदय में जीवित रहेगा। उनके संगठनात्मक कौशल को हमने करीब से देखा है।

डा.सिंह ने कहा कि भाजपा के राष्ट्रीय पदों को सुशोभित करते हुए कार्यकर्ताओं की चिंता, विधायक, सांसद के रूप में जनता की चिंता उत्कृष्ट विधायक चुना जाना उनकी कार्य कुशलता और समर्पण की भावना को दर्शाता रहा। उन्होंने कहा कि करुणा जी मुझे राखी बांधती थी। वे ऐसी नेत्री रही जिन्होंने सहयोगी और विरोधी दोनों ही भूमिका में कुशलता के साथ मेरा मार्गदर्शन किया। ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान प्रदान करें और परिजनों को यह कष्ट सहन करने की शक्ति दें।

पढ़ें :- कांग्रेस को छोड़कर पूरा विश्व कर रहा है भारत की तारीफ : अनिल विज

इन टॉपिक्स पर और पढ़ें:
Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक, यूट्यूब और ट्विटर पर फॉलो करे...
X